भारत-पाक प्रतिनिधिमंडलों के प्रस्तावित दौरों से तनाव कम करने में मिलेगी मदद: शाह कुरैशी

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा, ‘पाकिस्तान चाहता है कि तनाव कम हो और वर्तमान स्थिति में सुधार आए. 

भारत-पाक प्रतिनिधिमंडलों के प्रस्तावित दौरों से तनाव कम करने में मिलेगी मदद: शाह कुरैशी
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने गुरुवार को कहा कि करतारपुर गलियारे पर चर्चा के लिए भारत और पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडलों द्वारा एक-दूसरे के देश में दौरों से तनाव कम करने में मदद मिलेगी. कुरैशी ने कहा कि दोनों देशों के बीच बेहतर रिश्तों से क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता आएगी 

विदेश मंत्री ने ये टिप्पणियां भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहैल महमूद से मुलाकात करने के बाद कीं. कुरैशी ने महमूद के साथ इस्लामाबाद और नयी दिल्ली के बीच संबंधों और वर्तमान स्थिति पर चर्चा की.

महमूद जल्द ही नई दिल्ली लौटेंगे. पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने पर विचार विमर्श के लिए इस्लामाबाद ने महमूद को पाकिस्तान बुला लिया था.

'पाकिस्तान चाहता है कि तनाव कम हो'
‘जियो न्यूज’ के हवाले से कुरैशी ने कहा, ‘पाकिस्तान चाहता है कि तनाव कम हो और वर्तमान स्थिति में सुधार आए. प्रतिनिधिमंडल स्तरीय दौरे इसमें अहम भूमिका निभाएंगे.’ उन्होंने कहा, ‘मार्च में, दोनों देश करतारपुर गलियारे पर विचार विमर्श करेंगे.’

कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान क्षेत्र में शांति चाहता है और उसने इस संबंध में कई कदम उठाए हैं.

भारत और पाकिस्तान 14 मार्च को करतारपुर गलियारा शुरू करने के तौर-तरीकों पर चर्चा करेंगे. इससे भारतीय सिखों को पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब जाने में मदद मिलेगी.