SPY GAME: PAK में भारतीय खुफिया एजेंसी 'RAW' और इन 'Hitman' की चर्चा क्‍यों हो रही है?

भारत और पाकिस्तान के बीच बाहरी तौर पर इन दिनों सब कुछ शांत है. इसके बावजूद पाकिस्तान में इन दिनों भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के 3 कथित हिटमैन चर्चा में बने हुए हैं. 

SPY GAME: PAK में भारतीय खुफिया एजेंसी 'RAW' और इन 'Hitman' की चर्चा क्‍यों हो रही है?
फाइल फोटो

कराची: LoC पर सीजफायर समझौता अमल में आ जाने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध इन दिनों शांत हैं. फिर भी पाकिस्तान अपने पड़ोसी भारत पर आरोप लगाने से कोई मौका नहीं चूकता.

तीन हिटमैन की हो रही चर्चा

पाकिस्तान (Pakistan) में इन दिनों भारतीय खुफिया एजेंसी 'रॉ' (RAW) और उसके कथित तीन 'हिटमैन' (Hitman) की खूब चर्चा हो रही है. पाकिस्तान का दावा है कि इन तीनों हिटमैन ने पिछले कुछ सालों में उसके 18 पुलिस वालों समेत कई लोगों को चुन-चुनकर मार डाला. साथ ही कईयों को हमेशा के लिए अपाहिज कर दिया. अब वहां की पुलिस इन कथित हिटमैन से संबंध रखने के आरोप में मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट के नेताओं से पूछताछ कर रही है. 

शहजाद को अरेस्ट किया गया 

द डॉन अखबार के मुताबिक पाकिस्तान (Pakistan) की कराची पुलिस ने 10 मई को मोहम्मद शहजाद उर्फ खज्जी नाम के व्यक्ति को पकड़ा था. पुलिस ने दावा किया कि खज्जी और कोई नहीं बल्कि 'रॉ' (RAW) का हिटमैन था. जिसे पाकिस्तान के टॉप अफसरों को मार डालने के लिए ट्रेंड किया गया था. कराची पुलिस के मुताबिक मोहम्मद शहजाद उर्फ खज्जी सिंध के कराची एरिया में सक्रिय मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (MQM) का सक्रिय कार्यकर्ता था. 

यह पार्टी वर्ष 1947 में भारत से पाकिस्तान पहुंचे 2 करोड़ उर्दू भाषी मुसलमानों का प्रतिनिधित्व करती है. पाकिस्तान में आज भी इन लोगों को मुहाजिर यानी शरणार्थी माना जाता है और उन्हें कई प्रकार के अधिकारों से वंचित रखा जाता है. जिसके खिलाफ यह पार्टी पिछले कई सालों से लगातार आंदोलन चला रही है.

मुहाजिरों पर हो रही कार्रवाई

पाकिस्तान (Pakistan) के सत्ता तंत्र के उत्पीड़न के बाद इस पार्टी के नेता अल्ताफ हुसैन देश छोड़कर लंदन में बस गए हैं और अब वहीं से संगठन को चला रहे हैं. कराची पुलिस का दावा है कि पार्टी नेताओं के निर्देश पर शहजाद ने गैंग बनाकर 1994 में पुलिस और दूसरे अफसरों को मारना शुरू किया. जब पुलिस ने इसके खिलाफ बड़ा ऑपरेशन शुरू किया तो उसे सीक्रेट तरीके से देश से निकालकर अफ्रीका भेज दिया गया.

पाकिस्तानी (Pakistan) पुलिस के मुताबिक इसके बाद खज्जी अफ्रीका से भारत पहुंचा. जहां उसे 'रॉ' (RAW) ने विभिन्न हथियारों को चलाने की ट्रेनिंग दी. इसके बाद खज्जी फिर पाकिस्तान लौट आया. दावा है कि वापस आने के बाद उसने गैंग बनाकर फिर से पाकिस्तान के अफसरों को मारना शुरू कर दिया. इसी बीच खुफिया सूचना मिलने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. इसके साथ ही पुलिस ने 28 मई को इमरान और नईम नाम के MQM के दो और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया. दावा किया कि ये दोनों भी RAW के हिटमैन थे और देश की हस्तियों को मारने की फिराक में थे.

दो नेताओं से की गई पूछताछ

रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस अब इस मामले में 2 मुहाजिर नेताओं से पूछताछ कर रही है. इनमें डॉक्टर फारूक सत्तार MQM-Pakistan की Organisation Restoration Committee (ORC) से जुड़े हुए हैं. वहीं अनीस एडवोकेट पाक सरजमीन पार्टी (PSP) के अध्यक्ष हैं. पाकिस्तान का काउंटर टेररिस्ट डिपार्टमेंट (CTD) दोनों नेताओं को एक बार बुलाकर पूछताछ कर चुका है. 

ये भी पढ़ें- चीन-पाकिस्तान की सांठगांठ पर है 'रॉ' की नजर, अरब सागर में बढ़ाई चौकसी

दोनों नेताओं ने CTD की इस कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि उनके ओरिजिन की वजह से उनके साथ भेदभाव किया जा रहा है. पकड़े गए लोगों के साथ फोटो होने के आधार पर उन्हें बुलाकर कई घंटे पूछताछ की गई. लेकिन इसी मामले में सिंध के सीएम मुराद अली शाह को कोई सम्मन तक नहीं दिया गया क्योंकि वे सिंधी हैं और पाकिस्तान के ही मूल निवासी हैं. दोनों नेताओं का कहना है कि मुहाजिरों के शोषण की यह कोई नई कहानी नहीं है. पहले भी इसी तरह की कहानी प्लॉट कर लोगों का शोषण किया गया है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.