close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'जो पिछड़ा मुल्‍क अपने लोगों को रोटी नहीं दे सकता, वो अफगानिस्‍तान पर क्‍या राज करेगा?'

अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) हमदुल्‍ला मोहिब ने तालिबान और पाकिस्‍तान पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा कि तालिबान और कुछ नहीं बल्कि पाकिस्‍तान और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई की परछाईं मात्र है.

'जो पिछड़ा मुल्‍क अपने लोगों को रोटी नहीं दे सकता, वो अफगानिस्‍तान पर क्‍या राज करेगा?'

नई दिल्‍ली: अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) हमदुल्‍ला मोहिब ने तालिबान (Taliban) और पाकिस्‍तान पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा कि तालिबान और कुछ नहीं बल्कि पाकिस्‍तान और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई की परछाईं मात्र है. अफगानिस्‍तान में पर्दे के पीछे से पाकिस्‍तान की भूमिका पर उन्‍होंने कहा कि अफगानिस्‍तान कभी भी पाकिस्‍तान की सत्‍ता को स्‍वीकार नहीं करेगा. जब हमने सोवियत संघ की सत्‍ता स्‍वीकार नहीं की तो ये कैसे सोचा जा सकता है कि एक पिछड़ा मुल्‍क (पाकिस्‍तान) अपने समर्थकों के जरिये हम पर राज करेगा. हम ऐसा कभी नहीं होने देंगे.

मोहिब का बयान ऐसे वक्‍त आया है जब अमेरिका और तालिबान के बीच पिछले दिनों जारी बातचीत टूट गई है. आठ सितंबर को अमेरिका (US) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने तालिबान (Taliban) के साथ शांति वार्ता को रद करने की घोषणा की है. ट्रंप ने यह फैसला काबुल कार बम बलास्ट की वजह से लिया है. बता दें इस ब्लास्ट की जिम्मेदारी तालिबान ने ली थी. इस ब्लास्ट में एक अमेरिकी सैनिक समेत 12 लोगों की मौत हो गई. 

कश्मीर मामले पर बौखलाए पाकिस्तान की आखिरी आस भी टूटी, उसके खास ने दे दिया धोखा

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि काबुल में हुए हमले में हमारा एक महान सैनिक और 11 अन्य लोग मारे गए. मैंने तुरंत मीटिंग रद्द कर दी और शांति वार्ता को भी बंद कर दिया. अपने एक ट्वीट में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, अगर वह इस अहम शांति वार्ता में भी सीजफायर के लिए राजी नहीं है और 12 बेकसूर लोगों को मार सकते हैं तो शायद उनमें एक सार्थक समझौता करने की ताकत ही नहीं है. कितने और दशक तक वे लोग लड़ने के लिए तैयार हैं.