PAK में गरीबों पर अत्याचार का सबूत है ये वीडियो, सोशल मीडिया पर कर रहा ट्रेंड

सोशल मीडिया पर वायरल ये वीडियो लाहौर मेट्रो स्टेशन का बताया जा रहा है जिसमें क्रू मेंबर्स एंट्री गेट पर बैठे गरीब मजदूरों को लाठी-डंडों से पिटते नजर आ रहे हैं. ये वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है. 

PAK में गरीबों पर अत्याचार का सबूत है ये वीडियो, सोशल मीडिया पर कर रहा ट्रेंड
फोटो साभार- ट्विटर।

कराची: सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो वायरल (Viral Video) हो रहा है जो पाकिस्तान (Pakistan) का बताया जा रहा है. इस वीडियो में कुछ लोग मजदूरों को बेरहमी से पिटते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो को देखने वाला हर शख्स हैरान-परेशान है और सोशल मीडिया पर कमेंट्स के जरिए पाकिस्तान की निंदा कर रहा है. 

पाकिस्तान की गरीबी किसी से छिपी नहीं है. लेकिन वहां गरीबी पर किस कदर अत्याचार होते हैं इस वीडियो को देख आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर इस वीडियो को ‘Javed Badar Pakistan’ नाम के यूजर ने शेयर किया है. वीडियो शेयर करते हुए उन्होंने कैप्शन में लिखा, ‘लाहौर स्टेशन पर ऑरेंज लाइन मेट्रो ट्रेन के क्रू मेंबर गरीब मजदूरों को पीटते हुए’. 

दरअसल, इस वीडियो में एक शख्स गरीब मजदूरों को जमकर पीटा रहा है. इसके बाद कुछ 4 से 5 लोग हाथों में डंडा लेकर वहां आ जाते हैं और मेट्रो के एंट्री गेट पर बैठे मजदूरों की पीठ पर लाठी-डंडों से वार करने लगते हैं. वहीं, कुछ लोग लात-घूसों से मजदूरों की जबरदस्त पिटाई कर देते हैं. हैरानी की बात ये है कि इन्हें बचाने वाला कोई नहीं है. ये पूरी वारदात किसी ने अपने फोन के कैमरे से रिकॉर्ड कर वायरल कर दी. 

ये भी पढ़ें:- Mirzapur को लेकर यूपी पुलिस व मुंबई पुलिस का 'तांडव', जांच को लेकर भिड़े

अब लोग इस वीडियो को जमकर शेयर कर रहे हैं और पाकिस्तान की निंदा वाले कमेंट्स लिख रहे हैं. ये वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. कुछ लोगों का कहना है कि आखिर इन्हें क्यों मारा जा रहा है? जबकि, कुछ लोग कमेंट्स करके पूछ रहे हैं कि आखिर पुलिस कहां? बताते चलें कि ये एक सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो है. ज़ी न्यूज इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.