Zee Rozgar Samachar

US vs China: ह्यूस्टन में एक्शन से बौखलाया चीन, चेंगदू में बंद किया अमेरिका दूतावास

अमेरिका द्वारा ह्यूस्‍टन (Huston) में अपने वाणिज्‍य दूतावास के बंद किए जाने से बौखलाए चीन (China) ने अमेरिका के चेंगदू (Chengdu) में स्थित वाण‍िज्‍य दूतावास को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है.

US vs China: ह्यूस्टन में एक्शन से बौखलाया चीन, चेंगदू में बंद किया अमेरिका दूतावास

नई दिल्ली: अमेरिका द्वारा ह्यूस्‍टन (Huston) में अपने वाणिज्‍य दूतावास के बंद किए जाने से बौखलाए चीन (China) ने अमेरिका के चेंगदू (Chengdu) में स्थित वाण‍िज्‍य दूतावास को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है. चीन के विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को आदेश जारी करते हुए इसकी पुष्टि की है.

बताते चलें कि चेंगदू में स्थित अमेरिकी वाण‍िज्‍य दूतावास चीन में कई प्रांतों का कामकाज देखता है. खबरों के अनुसार बीजिंग पहले से ही ह्यूस्टन में चीनी राजनयिक सुविधा को जबरन बंद करने के बदले में अमेरिकी वाणिज्य दूतावास को बंद करने की तैयारी कर रहा था. चीन ने कहा है कि यह फैसला ह्यूस्टन दूतावास को बंद करने के अमेरिका के 'एकपक्षीय' निर्णय के जवाब में है. साथ ही कहा कि चीन का फैसला अमेरिका की अनुचित कार्रवाइयों के लिए वैध एवं आवश्यक प्रतिक्रिया है.

वहीं बीजिंग ने अमेरिका-चीन रिश्‍तों में आए तनाव के लिए वॉशिंगटन को जिम्‍मेदार ठहराते हुए ह्यूस्‍टन में चीनी वाणिज्‍य दूतावास को तत्काल बंद करने के आदेश को वापस लेने की मांग की थी. बताते चलें कि बुधवार को अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा था कि चीन का ह्यूस्टन स्थित वाणिज्य दूतावास जासूसी का गढ़ बन गया था. 

ये भी पढ़ें:- वायरस को लेकर आलोचना नहीं सुन पाए 'शी', पूर्व प्रॉपर्टी एक्जिक्यूटिव को पार्टी से किया बाहर

पॉम्पियो ने कहा, 'इस सप्ताह हमने चीन के ह्यूस्टन स्थित वाणिज्य दूतावास को बंद करने का फैसला किया है क्योंकि यह जासूसी और बौद्धिक संपदा को चुराने का अड्डा बन गया था.' उन्होंने कहा कि चीन ने हमारी बौद्धिक संपदा चुराई और ट्रेड सीक्रेट चुराए जिसकी वजह से लाखों अमेरिकी नागरिकों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी.' 

इस मामले पर चीनी राज्य मीडिया ने अपने संपादकीय में, अमेरिका में नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा चीन के खिलाफ कड़े कदम उठाने के सिलसिले में यह नया कदम करार दिया है. जिसकी निंदा करते हुए चीन ने इसे अपमानजनक बताया था और कहा कि अगर इस फैसले को वापस नहीं लिया गया तो इसका कड़ा जवाब दिया जाएगा.

वहीं वांग ने कहा कि दूतावास को बंद करने का फैसला, 'अंतरराष्ट्रीय कानून एवं अंतरराष्ट्रीय संबंधों को संचालित करने वाले मूल नियमों का उल्लंघन' है तथा चीन-अमेरिका के रिश्तों को गंभीर रूप से कमजोर करता है. वांग ने कहा कि यह चीनी और अमेरिकी लोगों के बीच दोस्ती के पुल को तोड़ना है.

इस बीच, एफबीआई ने तीन चीनी नागरिकों को वीजा धोखाधड़ी के लिए गिरफ्तार किया है, जबकि एक चौथाई सैन फ्रांसिस्को में चीन के वाणिज्य दूतावास में रहने वाला भगोड़ा बना हुआ है. चेंगदू को वैकल्पिक रूप से चेंग्टू के रूप में जाना जाता है, एक उप-प्रांतीय शहर है जो चीनी प्रांत सिचुआन की राजधानी के रूप में कार्य करता है.

VIDEO-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.