Pakistan: क्या चल रहा है इमरान खान के खुराफाती दिमाग में? स्वीकार की अपनी ये बड़ी गलती
topStories1hindi1470103

Pakistan: क्या चल रहा है इमरान खान के खुराफाती दिमाग में? स्वीकार की अपनी ये बड़ी गलती

Pak political crisis: पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान ने आम चुनाव की तारीख पर बातचीत करने के लिए सत्तारूढ़ गठबंधन को आमंत्रित किया है.

Pakistan: क्या चल रहा है इमरान खान के खुराफाती दिमाग में? स्वीकार की अपनी ये बड़ी गलती

Pak political crisis update: पाकिस्तान में सत्ता की लड़ाई रोज नए रंग ले रही है. पूर्व पाक पीएम इमरान खान लगातार शरीफ सरकार पर हमलावर हैं. देश में आम चुनाव की मांग पर अड़े इमरान ने अब अपनी बड़ी गलती स्वीकार की है. एआरवाई न्यूज ने शनिवार को बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान ने आम चुनाव की तारीख पर बातचीत करने के लिए सत्तारूढ़ गठबंधन को आमंत्रित किया है. इमरान ने कहा कि उनकी पार्टी केवल मार्च तक इंतजार करेगी. इसके साथ ही उन्होंने पाकिस्तान की पूर्व सरकार में बाजवा का कार्यकाल बढ़ाने के अपने फैसले को बड़ी गलती भी बताया.

क्या चाहते हैं इमरान खान? 

एक निजी समाचार चैनल से बात करते हुए पूर्व प्रधान मंत्री ने कहा कि यदि मौजूदा सरकार मार्च के अंत तक चुनाव कराने के लिए तैयार है, तो वह पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा विधानसभाओं को भंग नहीं करेंगे. हालांकि, उन्होंने कहा, उनकी पार्टी मार्च के बाद की तारीख पर सहमत नहीं होगी और अगर सरकार असहमत होती है तो विधानसभाओं को इस महीने (दिसंबर) भंग कर दिया जाएगा.

क्या है शरीफ सरकार रुख?

पीटीआई और पार्टी के मुखिया इमरान खान की लगातार मांग और सख्त रवैये को देखते हुए पाकिस्तान की शरीफ सरकार इस मुद्दे पर बातचीत करने के लिए तैयार हो गई है. इससे पहले इमरान खान ने देश की विनाशकारी आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए कहा कि हम आम चुनाव की तारीख पर बातचीत करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा था कि देश का कर्ज लगातार बढ़ रहा है जबकि अर्थव्यवस्था बिगड़ रही है. उन्होंने दावा किया था कि मौजूदा नियम अंत में काम नहीं आएंगे और नागरिकों को इसका खामियाजा भुगतना होगा.

'बाजवा को एक्सटेंशन देना गलती'

एक सवाल के जवाब में पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्व सेना प्रमुख (सीओएएस) जनरल कमर जावेद बाजवा को एक्सटेंशन देने का उनकी सरकार का फैसला 'एक गलती' थी. इमरान खान ने इस फैसले को गलती करार देते हुए कहा कि किसी को भी सेना में कभी एक्सटेंशन नहीं मिलना चाहिए. उन्होंने कहा, "जब हम सत्ता में आए थे, हमारी सरकार कई समस्याओं का सामना कर रही थी," उन्होंने कहा कि तब पूर्व सीओएएस बाजवा के लिए विस्तार अनिवार्य था.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news