close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: कुलभूषण जाधव मामले में दुनिया से झूठ बोल रहा है पाकिस्तान

इमरान ख़ान ने Tweet करके ICJ के फैसले की सराहना की है. और इस बात की खुशी जताई है, कि अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने अपने फैसले में कुलभूषण जाधव को रिहा करने और भारत को सौंपने की बात नहीं की है.

ZEE जानकारी: कुलभूषण जाधव मामले में दुनिया से झूठ बोल रहा है पाकिस्तान

एक मशहूर कहावत है. रस्सी जल गई, लेकिन बल नहीं गया. ये बात पाकिस्तान पर बिल्कुल Fit बैठती है. कुलभूषण जाधव केस में International Court of Justice ने पाकिस्तान के खिलाफ फैसला सुनाया. लेकिन, पाकिस्तान इस हार को भी जीत समझ बैठा है. और पूरी दुनिया में ढिंढोरा पीट रहा है, कि दुनिया की सबसे बड़ी अदालत ने भारत को शर्मिन्दा कर दिया. 

इमरान ख़ान ने Tweet करके ICJ के फैसले की सराहना की है. और इस बात की खुशी जताई है, कि अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने अपने फैसले में कुलभूषण जाधव को रिहा करने और भारत को सौंपने की बात नहीं की है.

दूसरी तरफ आज सुबह पाकिस्तान के हर अखबार में जीत वाली सुर्खियां थीं. 

The Nation ने लिखा, कि पाकिस्तान ने United Nations की अदालत में जाधव के केस को जीत लिया.

The News International की Headline थी, No Retrial, No Release

Daily Times ने लिखा, India Bites The Dust

Pakistan Today ने लिखा, India Served Raw Justice

The Express Tribune की Headline थी, Its Another Rude Awakening For India

एक और अखबार की Headline थी, Pakistan Vindicated..यानी पाकिस्तान दोषमुक्त करार

यानी पाकिस्तान की सरकार हो, वहां के लोग हों या वहां का मीडिया हो. सब के सब मिलकर, एक साथ जश्न मना रहे हैं. भारत में मौजूद पाकिस्तान के भक्त भी अंदर ही अंदर मुस्कुरा रहे हैं. और ऐसा माहौल पैदा कर रहे हैं, जैसे पाकिस्तान ने Cricket World Cup में भारत को हरा दिया है. लेकिन, सच्चाई ये है, कि पाकिस्तान ना तो कभी Cricket World Cup का मैच भारत से जीत पाया . ना ही किसी युद्ध में उसे जीत मिली है. और रही बात International Court of Justice की. तो वहां भी उसे जीत नसीब नहीं हुई है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता Mohammad Faisal की ये तस्वीर, पाकिस्तान की हार की गवाही दे रही है. जिस वक्त ICJ के अध्यक्ष, कुलभूषण जाधव केस पर अपना फैसला सुना रहे थे, ये तस्वीर उसी वक्त की है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने अपना चेहरा हाथों से ढक रखा है. आम तौर पर लोग ऐसी मुद्रा उस वक्त बनाते हैं, जब वो परेशान होते हैं. या किसी चीज़ से दुखी होते हैं. वैसे भी Body Language की दुनिया में कहा जाता है, What The Hands Say Is Often Louder Than Words...और Mohammad Faisal की ये तस्वीर इस बात का प्रमाण है, कि कल ICJ में पाकिस्तान की कैसी दुर्गति हुई है.

पाकिस्तान भले ही अंग्रेज़ी के भारी-भरकम शब्दों का इस्तेमाल करके अपनी हार को छिपाने की कोशिश करे. लेकिन उसे ये नहीं भूलना चाहिए, कि ICJ ने भारत के पक्ष को पूरी तरह सही माना. और फैसला भारत के पक्ष में सुनाया. बावजूद इसके अगर किसी ज़िद्दी बच्चे की तरह, पाकिस्तान हार के बाद भी जीत का जश्न मनाना चाहता है. तो इसमें कोई कुछ नहीं कर सकता.

पाकिस्तानी अख़बारों ने आज सुबह बड़े शान से लिखा, India Bites The Dust...यानी भारत ने धूल चाटी. लेकिन, असली Boot Licking या चाटुकारिता क्या होती है, ये पाकिस्तान के मीडिया से सीखिए.

इमरान ख़ान की पार्टी, Pakistan Tehreek-e-Insaf के आधिकारिक Twitter Handle से 16 जुलाई को Hashtag Journalism Not Agenda को Trend कराया गया था. और Tweet के संदेश में लिखा गया था, कि पाकिस्तान के Media Houses और पत्रकारों को सरकार की आलोचना करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए. कि कहीं वो जाने-अंजाने में दुश्मनों 
के उद्देश्य को तो पूरा नहीं कर रहे. Tweet में ये भी लिखा था, कि अभिव्यक्ति की आज़ादी के पास बहुत शक्ति होती है. और इस शक्ति का इस्तेमाल पूरी ज़िम्मेदारी के साथ करना चाहिए.

इस Tweet में एक संदेश के साथ तस्वीर भी शेयर की गई थी. जिसमें लिखा था, कि अभिव्यक्ति की आज़ादी किसी भी लोकतंत्र की खूबसूरती होती है. दुश्मनों के उद्देश्य को व्यक्त करना...अभिव्यक्ति की आज़ादी नहीं है. बल्कि देश के लोगों के साथ किया गया विश्वासघात है. 

कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान की हार को, वहां के मीडिया ने जिस तरह बहुत बड़ी जीत बताया है. उसे आप इस Tweet के संदर्भ में जोड़कर देख सकते हैं. पाकिस्तान के लोग और पाकिस्तान का मीडिया जानता है, कि ICJ में उनकी हार हुई है. लेकिन वो इतने मजबूर हैं, कि अपनी हार को भी स्वीकार नहीं कर सकते. क्योंकि, ऐसा करने से वहां की सरकार और सेना उन्हीं के खिलाफ एजेंडा चलाना शुरु कर देगी.