close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय मंच पर शर्मिंदा हुआ पाकिस्तान

जिस तरह पाकिस्तान ने अपनी हरकतों से पूरी दुनिया में नाम गंवाया है उससे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर पाकिस्तान का अपमान होना ...एक आम बात हो चुकी है. 

ZEE जानकारी: एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय मंच पर शर्मिंदा हुआ पाकिस्तान

अब हम अंतरराष्ट्रीय मंच पर हुई पाकिस्तान की बेइज़्ज़ती का विश्लेषण करेंगे . वैसे एक पुरानी कहावत भी है कि अपमान और सम्मान आप ख़ुद तय करते हैं.. दूसरे नहीं . जिस तरह पाकिस्तान ने अपनी हरकतों से पूरी दुनिया में नाम गंवाया है उससे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर पाकिस्तान का अपमान होना ...एक आम बात हो चुकी है.

पिछले कुछ दिनों ने पाकिस्तानी मीडिया ये ख़बरें फैला रहा था कि Russia में होने वाले Eastern Economic Forum के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान को Guest of Honour के तौर पर आमंत्रित किया गया है. ख़ुद Russia के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इमरान ख़ान को इस कार्यक्रम में आमंत्रित किया है लेकिन आज Russia के विदेश मंत्रालय ने इन सारी अफ़वाहों पर विराम लगा दिया है . उनका कहना है कि इस कार्यक्रम में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान को कोई निमंत्रण नहीं भेजा गया है . 
 
इस कार्यक्रम में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे को Guest of Honour के रूप में आमंत्रित किया गया है . यानी इमरान ख़ान ने मान ना मान.. मेरा तेरा मेहमान बनने की कोशिश में अपने देश पाकिस्तान की बेइज़्ज़ती करवा ली है . 

सबसे पहले आप पाकिस्तान के चैनलों पर उन ख़बरों को सुनिये जिसमें इमरान ख़ान को Eastern Economic Forum में Guest of Honour रूप में निमंत्रण देने की बात कही जा रही थी . 

अंतरराष्ट्रीय मंच पर इमरान ख़ान और पाकिस्तान की बेइज़्ज़ती के बाद बहुत से लोगों के मन ये सवाल आ रहा होगा कि Russia ने आख़िर इस कार्यक्रम में पाकिस्तान को कोई जगह क्यों नहीं दी . इसकी सबसे बड़ी वजह ख़ुद पाकिस्तान है . 

पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तान आतंकवादियों को शरण देने वाला देश हैं . पाकिस्तान की सरकार और सेना पूरी दुनिया में आतंकवाद को फैलाने के लिए हाफिज़ सईद और मसूद अज़हर जैसे आतंकवादियों को पालती है .

दुनिया भर से मिलने वाली आर्थिक मदद को पाकिस्तान आतंकवाद को फैलाने में Invest करता है . पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है . वहां रोज़मर्रा की चीज़ें जैसे दूध, सब्ज़ी और राशन के दाम आसमान छू रहे हैं लेकिन आतंकवादियों के लिए उसके पास भरपूर पैसे हैं . अब ऐसी स्थिति में पाकिस्तान की ख़्वाहिश है कि अंतरराष्ट्रीय मंच पर उसका सम्मान होना चाहिए . आज आपको ये जानने की जरूरत है कि Eastern Economic Forum पर इमरान ख़ान को निमंत्रण ना देना पाकिस्तान को कितना कड़ा संदेश है . 

Eastern Economic Forum की शुरूआत वर्ष 2015 में Russia के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने की थी. ये कार्यक्रम हर साल Russia के व्लादिवोस्तोक ((Vladivostok))नाम के शहर में आयोजित किया जाता है . 

इस कार्यक्रम में दुनिया भर की अर्थव्यवस्था और व्यापार को बढ़ाने की दिशा में चर्चाएं की जाती है . 

ज़्यादातर देश अपने यहां निवेश बढ़ाने के लिए दूसरे देशों को व्यापार करने के लिए आमंत्रित करते हैं . 

इस दौरान बहुत से देश व्यापारिक रिश्तों को बढ़ाने के लिए बड़े समझौते भी करते हैं . 

कुल मिलाकर ये अंतरराष्ट्रीय मंच... दुनिया भर की अर्थव्यवस्था को बढ़ाने और उसके लिए ईमानदारी से काम करने वाले देशों के लिए है . यहां आतंकवाद को पनाह देने वाले पाकिस्तान के लिए कोई जगह नहीं हैं . पाकिस्तान चाहे तो इस बेइज़्जती से बहुत बड़ा सबक ले सकता है . इमरान ख़ान के पास इस बारे में सोचने का ये सही मौका है .