close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE Jankari: भारत और यूएई की दोस्‍ती से पाकिस्‍तान को क्‍यों हो रही है जलन

एक वक्त था...जब भारत और UAE के रिश्तों की बात होती थी, तो कहा जाता था कि UAE, भारत को पाकिस्तान के चश्मे से देखता है. लेकिन आज की स्थिति ये है कि भारत और UAE के रिश्तों में अब पाकिस्तान की कोई अहमियत नहीं है. यही वजह है, कि इस दोस्ती से पाकिस्तान को काफी तकलीफ हो रही है.

ZEE Jankari: भारत और यूएई की दोस्‍ती से पाकिस्‍तान को क्‍यों हो रही है जलन

DNA में अब हम जिस ख़बर का विश्लेषण करेंगे, उसमें 'जलन' की मात्रा काफी ज़्यादा है. अक्सर ऐसा होता है कि अगर आपके घर में कोई नया सामान आ जाए...तो कुछ पड़ोसियों को जलन महसूस होने लगती है और अगर आप एक क़ामयाब इंसान हैं.... तो आपके पड़ोसी की जलन और बढ़ जाती है. इन दिनों कुछ ऐसा ही हाल हमारे पड़ोसी देश, पाकिस्तान का भी है.... इसकी वजह है, भारत और United Arab Emirates के बीच गहरी होती दोस्ती.

एक वक्त था...जब भारत और UAE के रिश्तों की बात होती थी, तो कहा जाता था कि UAE, भारत को पाकिस्तान के चश्मे से देखता है. लेकिन आज की स्थिति ये है कि भारत और UAE के रिश्तों में अब पाकिस्तान की कोई अहमियत नहीं है. यही वजह है, कि इस दोस्ती से पाकिस्तान को काफी तकलीफ हो रही है.

पाकिस्तान के इस दर्द की वजह हैं वो तस्वीरें, जो पूरी दुनिया ने इस शनिवार को देखी. शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी को UAE का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान Order of Zayed दिया गया. मोदी को ये सम्मान दोनों देशों की बीच दोस्ती और सहयोग बढ़ाने की वजह से मिला है.

प्रधानमंत्री को अबू धाबी के Crown Prince शेख मोहम्मद बिन ज़ाय़द ने सम्मानित किया. प्रिंस ज़ायद ने प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत अबू धाबी के Presidential Palce में किया. इस दौरान दोनों नेता गले मिले. प्रधानमंत्री मोदी का शाही स्वागत किया गया और फिर सम्मान देने से पहले प्रिंस ज़ाय़द ने प्रधानमंत्री मोदी को पूरा महल घुमाया.

UAE ही नहीं बहरीन में भी प्रधानमंत्री मोदी का शानदार स्वागत हुआ. बहरीन में प्रधानमंत्री मोदी ने 200 वर्ष पुराने भगवान श्रीकृष्ण के मंदिर के दर्शन भी किए. बहरीन की सरकार 30 करोड़ रुपये की लागत से इस मंदिर का Renovation करा रही है. यानी मुस्लिम देशों में भारत का मान बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है और इसे देखकर पाकिस्तान बुरी तरह से तिलमिला गया है. अमेरिका ने कश्नमीर के मुद्दे पर दखल देने से इनकार कर दिया है तो मुस्लिम देश भी पाकिस्तान को अनसुना कर रहे हैं. हालात ये हो गए हैं कि इमरान ख़ान ने आज अपने देश को संबोधित किया और इस संबोधन में भारत के साथ साथ पूरी दुनिया को परमाणु युद्ध की धमकी दे दी.

इमरान ख़ान को कश्मीर के मुद्दे पर मुस्लिम देशों से काफी उम्मीद थी, लेकिन भारत की कूटनीति ने उनके सारे सपने तोड़ दिए हैं. यही वजह है कि वो अब ये कबूल कर रहे हैं कि उनके साथ कोई मुस्लिम देश नहीं खड़ा है.

इमरान ख़ान Social Media पर भी सक्रिय रहते हैं और हमें लगता है कि उन्होंने UAE में प्रधानमंत्री मोदी के सम्मान और स्वागत का वीडियो ज़रूर देखा होगा. और शायद यही वजह है कि इमरान ख़ान मुस्लिम देशों से भी नाराज़ हो गए हैं. आज आपको भी ये वीडियो देखना चाहिए इसे देखकर पूरी दुनिया को प्रधानमंत्री मोदी और इमरान ख़ान की कूटनीतिक हैसियत का अंतर समझ आ जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूरी दुनिया में सम्मान मिल रहा है तो इमरान ख़ान की अपने घर में ही फजीहत हो रही है. प्रधानमंत्री मोदी को UAE का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान दिया गया. लेकिन इमरान ख़ान जब किसी सऊदी प्रिंस से मुलाकात करते हैं तो क्या होता है आज आपको ये भी देखना चाहिए.

पहली तस्वीर UAE में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भव्य स्वागत की है..तो दूसरी तस्वीर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की है. इसी साल फरवरी में सऊदी अरब के Crown Prince मोहम्मद बिन सलमान पाकिस्तान के दौरे पर गए थे. तब इमरान ख़ान उनके ड्राइवर बन गए. इमरान ख़ान खुद Car चलाकर उन्हें एयरपोर्ट तक छोड़कर आए थे. इससे पहले जनवरी 2019 में जब अबु धाबी के Crown Prince ज़ायद पाकिस्तान दौरे पर गए थे ..तब इमरान ख़ान ने उन्हें Airport से Pick किया और प्रधानमंत्री कार्यालय तक लेकर आए.

अब इमरान ख़ान का उनके ही घर में मज़ाक उड़ रहा है। पाकिस्तान की विपक्षी पार्टी के नेता कह रहे हैं कि देश ने इमरान ख़ान को प्रधानमंत्री के तौर पर चुना था. लेकिन वो तो Uber Driver बन गए हैं। वो भी ऐसा Driver जिसे हमेशा Five Star Rating की चिंता रहती है. इमरान ख़ान की भारत विरोधी गाड़ी पूरी तरह पंचर हो चुकी है. पाकिस्तान के कूटनीतिक टायरों में अब ज़रा भी हवा नहीं बची है. पाकिस्तान जिन मुस्लिम देशों के सहारे भारत को आंख दिखाता था. उन्होंने पाकिस्तान से मुंह फेर लिया है.

पाकिस्तान का मुस्लिम BrotherHood वाला सपना टूट चुका है. कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को सऊदी अरब, UAE, बहरीन और कतर जैसे देशों का साथ नहीं मिला है. पाकिस्तान सऊदी अरब से 43 हज़ार करोड़ रुपये का कर्ज़ ले चुका है, जबकि पाकिस्तान को UAE के भी 2 हज़ार करोड़ रुपये चुकाने है.

इसके उलट भारत और UAE के बीच करीब 4 लाख करोड़ रुपये का व्यापार होता है. UAE भारत का तीसरा सबसे बड़ा Trade Partner है जबकि भारत UAE का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है. दुनिया का हर देश आर्थिक रूप से मजबूत देशों के साथ अच्छे संबंध रखना चाहता है जबकि कर्ज़ लेने वाले देशों से सभी दूरी बना लेते हैं. इसका नतीजा ये है, कि पिछले कई दिनों से हर रोज़, पाकिस्तानी मीडिया के Prime Time में... भारत की कूटनीति पर खूब बहस हो रही है.. वहां मसालेदार Scripts लिखी जा रही हैं....और इस बहस के केंद्र में भारत को और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रखा गया है. वहां के कुछ न्यूज़ चैनल्स ऐसे भी हैं, जो अपने ही देश के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान को 'नीचा' दिखाते हुए, पाकिस्तान के बारे में ये तक कह रहे हैं, कि Beggars Can't Be Choosers....यानी जो भीख मांग कर अपना गुज़ारा करते हैं, उन्हें अपनी पसंद की चीज़ चुनने का अधिकार नहीं मिलता....

नरेंद्र मोदी को UAE में ही नहीं..बल्कि बहरीन में भी The King Hamad Order of the Renaissance से सम्मानित किया गया है. इसके अलावा अफगानिस्तान ने भी वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री मोदी को...Amir Amanullah Khan Award दिया गया था. सऊदी अरब ने वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री मोदी को KInd Abdul Aziz sash Award भी दिया गया था. साथ ही मलेशिया भी उन्हें अपने सर्वोच्च सम्मान Rule of Nishan Izzuddeen से भी सम्मानित किया गया था.

भारत को मिले सम्मान से पाकिस्तान इतना परेशान है कि अब वहां के नेता UAE और दूसरे अरब देशों के दौरे भी रद्द कर रहे हैं. पाकिस्तान की संसद के अध्यक्ष सादिक संजरानी को...एक प्रतिनिधीमंडल के साथ 25 से 28 अगस्त के बीच UAE जाना था. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी को UAE से सम्मान मिलने के बाद...उन्होंने अपना ये दौरा रद्द कर दिया. प्रधानमंत्री को इससे पहले फिलिस्तीन का सर्वोच्च नागरिक सम्मान The Grand Collar of the State of Palestine भी मिल चुका है.

इसके अलावा Russia ने भी इस वर्ष प्रधानमंत्री मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान Order of St Andrew the Apostle से नवाज़ा था. वर्ष 2018 में प्रधानमंत्री मोदी को साउथ कोरिया का प्रतिष्ठित Seoul Peace Prize भी दिया गया था. ज़ाहिर है पाकिस्तान के लिए ये सम्मान हासिल करना एक सपना है और इसीलिए वो इसकी खीझ पूरी दुनिया में घूम घूम कर उतार रहा है.

हर मंच पर पाकिस्तान हार रहा है, UN से लेकर अमेरिका तक कहीं भी उसकी सुनवाई नहीं हो रही है और उसे कश्मीर पर कहीं से समर्थन नहीं मिल रहा है. इसलिए अब पूरा पाकिस्तान ही सोशल मीडिया पर झूठी खबरों को फैलाने के लिए एक ट्रोल बन कर रह गया है. पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी को ट्विटर ने नोटिस भेजा है. पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने चौबीस अगस्त को कश्मीर पर एक वीडियो पोस्ट किया था. ट्विटर ने अब भारतीय Twitter Users की तरफ से शिकायत के बाद पाकिस्तानी राष्ट्रपति आरिफ अल्वी को नोटिस भेजा है.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने कश्मीर पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसे ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा था कि ये श्रीनगर में कल की तस्वीर है. कर्फ्यू ,ब्लैकआउट और फायरिंग के बावजूद लोग हर हाल में आज़ादी चाहते हैं. अल्वी ने कहा कि इसे रि‍ट्वीट कीजिए ताकि दुनिया को पता चल सके.

जाहिर है ये FAKE वीडियो है क्योंकि हम और आप जानते हैं कि कश्मीर में कहीं कोई फायरिंग नहीं हुई है, कश्मीर में ऐसा कोई विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ है. अब जबकि Twitter ने पाकिस्तानी राष्ट्रपति को नोटिस भेज दिया है तो इस पर पाकिस्तान ने कैसे React किया है. इस पर क्या प्रतिक्रिया दी है, ये भी आपको बताते हैं. पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मज़ारी ने ट्विटर को ही मोदी सरकार का मुखपत्र बता दिया है. मज़ारी ने नोटिस का स्क्रीनशॉट शेयर किया और लिखा कि Twitter ने हमारे राष्ट्रपति को नोटिस भेजा. ये हास्यास्पद है. जाहिर ये पाकिस्तान की बौखलाहट है जो अब बहुत साफ साफ दिखाई दे रही है.