close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले NDA नेताओं से कुछ इस अंदाज में मिले PM नरेंद्र मोदी

लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल में राजग को बहुमत मिलने के पूर्वानुमान के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रिपरिषद के सदस्यों से मंगलवार को दिल्ली में मुलाकात की और उनका आभार प्रकट किया. यह बैठक भाजपा मुख्यालय में हुई. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | May 22, 2019, 09:20 AM IST

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान की तुलना ‘तीर्थयात्रा’ से करते हुए मंगलवार को कहा कि ऐसा महसूस हुआ जैसे जनता देश के पुनर्जागरण और राष्ट्रीय उत्थान के अभियान में योगदान देने के लिए कृत संकल्पित थी. 

1/8

पार्टी ने नहीं जनता ने भी लड़ा चुनाव

Party not contested by public

घटकों दलों के साथ बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह चुनाव सिर्फ राजनीतिक पार्टियों ने नहीं बल्कि देश की आम जनता ने भी लड़ा है. मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद अशोका होटल में राजग के घटक दलों के नेताओं की भी बैठक हुई जिसमें एक प्रस्ताव पारित किया गया. इस प्रस्ताव में कहा गया कि राजग सच्चे अर्थों में भारत की विविधता और गतिशीलता का प्रतिनिधित्व करता है.

 

2/8

पश्चिम बंगाल हिंसा की निंदा की गई

Violence of West Bengal was condemned

यह भारत के 130 करोड़ लोगों के सपनों और आकांक्षाओं का गठबंधन है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में राजग सरकार की कार्यशैली में यह स्पष्ट रूप से दिखता है. प्रस्ताव में कहा गया कि आज राजग भारतीय राजनीति का प्रमुख स्तम्भ बन चुका है. राजग के घटक दलों के प्रस्ताव में उज्ज्वला योजना, जनधन योजना, आयुष्मान योजना, 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने समेत अन्य कल्याण योजनाओं का जिक्र करते हुए इसकी सरहना की गई. इसमें वोट बैंक की राजनीति के खिलाफ संकल्प व्यक्त किया गया. इसमें कहा गया कि सरकार की जन कल्याण योजनाओं ने लोगों को सशक्त बनाया है. इसमें संस्थाओं पर विपक्ष के हमलों तथा पश्चिम बंगाल में हिंसा की निंदा की गई है.

3/8

उद्धव ठाकरे से की मुलाकात

Meeting with Uddhav Thackeray

इससे पहले, प्रधानमंत्री ने भाजपा मुख्यालय में आयोजित अपने मंत्रिपरिषद के सदस्यों के लिए आयोजित ‘स्वागत व आभार मिलन समारोह’ में अपने सहयोगी मंत्रियों को संबोधित किया. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मुलाकात की. 

 

4/8

नीतीश से की गर्मजोशी से मुलाकात

A warm meeting with Nitish

मुलाकात का सिलसिला नहीं रूका उद्धठ ठाकरे के अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की. पीएम मोदी ने उनका स्वागत हाथ जोड़कर किया. 

5/8

नरेंद्र सिंह तोमर से की मुलाकात

Meeting with Narendra Singh Tomar

बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री ने मंत्रियों को पिछले पांच वर्षों में उनके कामकाज और सरकार की कल्याण योजनाओं को जमीन पर उतारने के लिये एक टीम की तरह से काम करने के लिए आभार प्रकट किया.

6/8

राजनीति से परे हैं यह चुनाव

This election is beyond politics

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने कई चुनाव देखे हैं लेकिन यह चुनाव राजनीति से परे है. इस चुनाव को जनता तमाम तरह की दीवारों को लांघ कर लड़ रही थी. मैंने कई विधानसभा चुनाव और पिछले लोक सभा चुनाव में प्रचार अभियान में हिस्सा लिया है. इस दौरान देशभर का दौरा भी किया, इस बार का चुनाव प्रचार मुझे ऐसा लगा कि जैसे तीर्थयात्रा हो. उन्होंने राष्ट्र निर्माण के लिए राजग के एकजुट होकर काम करने पर जोर दिया.

 

7/8

कई नेताओं ने लिया हिस्सा

Participation taken by many leaders

इस बैठक में प्रधानमंत्री के अलावा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित राजग सरकार में घटक दलों के मंत्री भी शामिल हुए. इसमें केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, रामविलास पासवान, स्मृति ईरानी, पीयूष गोयल, मुख्तार अब्बास नकवी, रविशंकर प्रसाद, राधामोहन सिंह, हरसिमरत कौर बादल और अनुप्रिया पटेल भी शामिल थे. मंगलवार को ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की पहल पर राजग के शीर्ष नेताओं के साथ रात्रिभोज पर बैठक हुई. राजग की बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीसामी तथा लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान, शिवसेना के उद्धव ठाकरे शामिल हुए. बैठक में शिरोमणि अकाली दल का प्रतिनिधित्व पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पार्टी नेता सुखबीर सिंह बादल ने किया.

 

8/8

सभी नेताओं ने किया बैठक को संबोधित

All leaders addressed the meeting

इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के अलावा अमित शाह, नीतीश कुमार, उद्धव ठाकरे आदि ने भी लोगों को संबोधित किया. बैठक में इस बात पर चिंता व्यक्त की गई कि ईवीएम को लेकर अनावश्यक मुद्दा उठाया जा रहा है. मोदी ने इस बैठक में कई विमर्श (नैरेटिव) बदलने की बात कही. उन्होंने कहा कि गरीबी ही सबसे बड़ी समस्या है. राजग के सभी नेताओं ने इस बैठक में प्रधानमंत्री के विजन और उनके नेतृत्व की तारीफ की. बैठक में एनडीए घटक दलों के नेता उपस्थित थे. बैठक में तीन दल के नेताओं ने पत्र लिखकर अपना समर्थन दिया है.