अल्जाइमर से बचता है चुकंदर, जानिए इसके और भी फायदे

चुकंदर में पाया जाने वाला एक तत्व अल्जाइमर रोकने में मदद कर सकता है. इसी तत्व की वजह से चुकंदर का रंग लाल होता है. 

Mar 22, 2018, 15:50 PM IST

चुकंदर में पाया जाने वाला एक तत्व अल्जाइमर रोकने में मदद कर सकता है. इसी तत्व की वजह से चुकंदर का रंग लाल होता है. 

1/5

Beetroot is beneficial in many diseases

Beetroot is beneficial in many diseases

खाने की टेबल पर जैसे ही करेले और चुंकदर का नाम आता है हर कोई अपनी नाक सिकोड़ कर बैठ जाता है. क्योंकि लाल रंग के साथ स्वाद ना लगने वाली सब्जी खाना किसी को पसंद नहीं होता. पर यही सब्जी आपको सबसे ज्यादा फायदा पहुंचाती है. 

2/5

Beetroot is beneficial in many diseases

Beetroot is beneficial in many diseases

जी हां चुकंदर में पाया जाने वाला एक तत्व अल्जाइमर रोकने में मदद कर सकता है. इसी तत्व की वजह से चुकंदर का रंग लाल होता है. इससे अल्जाइमर बीमारी की दवा विकसित की जा सकती है.

 

3/5

Beetroot is beneficial in many diseases

Beetroot is beneficial in many diseases

पिछले दिनों हुए एक शोध में पता चला है कि चुकंदर के रस में बीटानिन तत्व पाया जाता है, जो दिमाग में मिसफोल्डेड प्रोटीन के संचय को धीमा कर सकता है. मिसफोल्डेड प्रोटीन का संचय अल्जाइमर बीमारी में से जुड़ा होता है.

4/5

Beetroot is beneficial in many diseases

Beetroot is beneficial in many diseases

साउथ फ्लोरिडा विश्वविद्यालय के ली-जून मिंग ने कहा, "हमारे आंकड़ों से पता चलता है कि बीटानिन दिमाग में कुछ रासायनिक क्रियाओं के लिए एक अवरोधक का काम करता है, जो अल्जाइमर बीमारी के होने में शामिल होते हैं." (फोटो साभार : साउथ फ्लोरिडा विश्वविद्यालय)

5/5

Beetroot is beneficial in many diseases

Beetroot is beneficial in many diseases

बीटा-एमालॉएड एक चिपचिपा प्रोटीन का टुकड़ा या पेप्टाइड होता है, जो कि दिमाग में जमा होता है. यह दिमाग की कोशिकाओं के संचार में बाधा डालता है. इन दिमाग की कोशिकाओं को न्यूरान्स कहते हैं. सबसे ज्यादा नुकसान तब होता है, जब बीटा-एमालॉएड खुद को धातुओं जैसे लोहा या तांबे से जोड़ लेता है. इन धातुओं से बीटा-एमालॉएड पेप्टाइड एक समूह में बंध जाते हैं, जिससे सूजन व ऑक्सीकरण बढ़ सकता है.