ऐसे हो रही थी IPL में सट्टेबाजी, सिग्नल चोरी कर 8 सेकंड पहले ही देख लेते थे हर बॉल

जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

May 26, 2018, 11:02 AM IST

नई दिल्ली: अपने NRI पाठकों के लिए ZEE News Hindi ने एक नई शुरुआत की है. जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

1/5

Interesting News for NRI readers

इंदौर: दैनिक भास्कर के इंदौर संस्करण के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रमुखता के साथ छापी गई एक खबर में दावा किया गया है कि आईपीएल मैच के दौरान सैटेलाइट सिग्नल चुराकर वेबसाइट पर सट्टेबाजी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह के सदस्य अंकित जैन को राज्य साइबर सेल ने विदिशा से गिरफ्तार किया है. खबर के मुताबिक आरोपियों ने इंदौर में 12 व 14 मई को किंग्स इलेवन पंजाब के साथ कोलकाता और बेंगलुरू के मैच के सिग्नल भी चोरी किए थे. खबर में दावा किया गया है कि इंदौर में आईपीएल की प्रसारण कंपनी की अधिकृत एजेंसी के प्रतिनिधि मैनेजर अशोक यादव ने 12 मई को इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी. खबर में मध्यप्रदेश के राज्य साइबर सेल इंदौर एसपी जितेंद्र सिंह के हवाले से बताया गया है कि मामले में हितेश खुशलानी, पूनम चौधरी और हरेश चौधरी नामक आरोपियों की तलाश जारी है.

2/5

Interesting News for NRI readers

काठमांडो: नवभारत टाइम्स के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर छपी एक खबर में दावा किया गया है कि भारत के अर्जुन वाजपेयी हिमालय की पर्वत चोटी कंचनजंगा का सफल पर्वतारोहण कर 8,000 मीटर से अधिक ऊंचाई वाली 6 पर्वत चोटियों को फतह करने वाले दुनिया के सबसे युवा व्यक्ति बन गए हैं. खबर में बताया गया है कि कंचनजंगा हिमालय की तीसरी सबसे ऊंची पर्वत चोटी है. खबर में यह भी बताया गया है कि 24 वर्षीय अर्जुन दुनिया भर की सभी 14 पर्वत चोटियों को फतह करना चाहते हैं. खबर के मुताबिक नोएडा के रहने वाले अर्जुन ने 20 मई को 8,586 मीटर ऊंची पर्वत चोटी कंचनजंगा को फतह किया था. खबर में बताया गया है कि अर्जुन 2010 में 16 वर्ष की आयु में माउंट एवरेस्ट को फतह करने वाले तीसरे सबसे युवा व्यक्ति बने थे. इस साल कंचनजंगा के लिए यह उनकी दूसरी कोशिश थी.

3/5

Interesting News for NRI readers

कैलीफोर्निया: दैनिक भास्कर में शनिवार के अंक में छपी एक खबर में बताया गया है कि साइबर दुनिया को सुरक्षित बनाने के लिए अप्रैल में यूरोपीय यूनियन के देशों ने मिलकर जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेग्युलेशन (जीडीपीआर) बनाया था. खबर के मुताबिक ये एक्ट 25 मई को लागू हो गया है. खबर में दावा किया गया है कि एक्ट के लागू होते ही पहला मामला भी दर्ज हो गया है वो भी फेसबुक और गूगल पर. खबर में बताया गया है कि यूजर्स का इन दोनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आरोप है कि ये ऑनलाइन आने पर जबरदस्ती अपनी शर्तें मनवाते हैं. खबर में बताया गया है कि यूरोपियन कन्ज्यूमर राइट्स ऑर्गनाइजेशन नोएब के सामने कुल 4 शिकायत आईं- फेसबुक, गूगल, व्हाट्सएप और एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम की. इनमें से पहले दिन फेसबुक और गूगल के खिलाफ आई शिकायतों को दर्ज कर लिया गया है.

4/5

Interesting News for NRI readers

श्रीनगर: दैनिक जागरण में शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि उत्तरी कश्मीर के हाजिन, बांडीपोर में शुक्रवार तड़के लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने सहरी की तैयारी कर रहे एक ग्रामीण का उसके बीवी-बच्चों के सामने गला काट दिया. खबर में दावा किया गया है कि पिछले तीन माह में हाजिन में आतंकियों द्वारा किसी ग्रामीण की हत्या की यह पांचवीं वारदात है. खबर के मुताबिक मृतक की पहचान मोहम्मद याकूब वागे के रूप में हुई है. खबर में हाजिन थाने से मिली जानकारी के हवाले से बताया गया है कि स्वचालित हथियारों से लैस तीन से चार आतंकी शुक्रवार तड़के हाजिन के गुंड परांग इलाके में आए. उन्होंने मोहम्मद याकूब वागे के मकान का दरवाजा खटखटाया. घर वालों ने जैसे ही दरवाजा खोला, आतंकी भीतर दाखिल हो गए. उस समय पूरा परिवार रोजा रखने के लिए सहरी की तैयारी कर रहा था. उस समय करीब तीन बजे थे. आतंकियों ने मोहम्मद याकूब को उसकी बीवी व दो बच्चों के सामने उसी बिस्तर पर लिटाया, जहां वह कुछ देर पहले सो रहा था. इसके बाद आतंकियों ने छुरी से उसे मौत के घाट उतार दिया.

5/5

Interesting News for NRI readers

चंडीगढ़: दैनिक जागरण के चंडीगढ़ संस्करण के शनिवार के अंक में पले पन्ने पर छपी खबर में कहा गया है कि स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर चर्चा में हैं. खबर के मुताबिक इस बार चर्चा का विषय सिद्धू के बेटे करण सिद्धू को असिस्टेंट एडवोकेट जनरल (एएजी) लगाया जाना है. खबर में सिद्धू की कही पुरानी बातों को याद करते हुए लिखा गया है कि बादल सरकार को जीजा-साले की सरकार कहकर अकाली दल को घेरने वाले सिद्धू खुद परिवारवाद में घिरते नजर आ रहे हैं. खबर के मुताबिक अब अकाली दल व भाजपा ने जहां सिद्धू पर निशाना साधा है, वहीं कांग्रेस में भी विरोध की चिंगारी सुलग रही है. खबर में पूर्व स्थानीय निकाय मंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता अनिल जोशी के हवाले से बताया गया है कि सिद्धू का चेहरा अब बेनकाब हो गया है, जबकि शिअद महासचिव व पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया का कहना है कि कैप्टन सरकार में एक ही परिवार में सारी नौकरियां दी जा रही हैं.