close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छात्रों का आविष्कार, सकरी गलियों से भी मरीज को अस्पताल पहुंचाएगी यह एंबुलेंस

फिल्म थ्रीइडियट्स का एक सीन याद है आपको, जब आमिर खान अपने दोस्त रणछोड़ दास के पिता को करीना कपूर की स्कूटी से अस्पताल पहुंचाता है और अस्पताल पहुंचने के कुछ ही देर बाद डॉक्टर्स कहते हैं अच्छा हुआ आपने एम्बुलेंस का इंतजार नहीं किया, वरना मरीज की मौत हो सकती थी.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Apr 16, 2019, 10:13 AM IST

फिल्म के इसी सीन से प्रेरित होकर मध्यप्रदेश के झाबुआ के डॉ ऐपीजे अब्दुल कलाम इंजीनियरिंग कॉलेज के 4 छात्रों ने ऐसी बाइक एम्बुलेंस बनाई है. इस एम्बुलेंस की खास बात यह है कि महज 4 अटेचमेंट के साथ किसी भी बाइक में इसे फिट किया जा सकता है और फिर मरीज को इसे अस्पताल पहुंचाया जा सकता है.

1/4

ग्रामीण इलाकों के लिए वरदान साबित होगी एम्बुलेंस

Ambulance will prove boon for rural areas

शहर में सकरी गलियों और ग्रामीण इलाकों में एम्बुलेंस के न पहुंचने की समस्या को देखते हुए. इंजीनियरिंग के चारों छात्रों ने ऐसी बाइक एम्बुलेंस तैयार कर दी जो किसी भी मरीज की जान बचा सकती है. यह चारों छात्र झाबुआ स्थित डॉ ऐपीजे अब्दुल कलाम इंजीनियरिंग महाविद्यालय के छात्र है. 

 

 

2/4

एम्बुलेंस अटैच करने में खर्च होगा सिर्फ 14 रुपये

Attaching Ambulance will cost only Rs 14

महज 14 हजार रूपयों की लागत में तैयार इस बाइक एम्बुलेंस की खासियत यह है कि केवल चार अटेचमेंट कर इसे किसी भी बाइक में फिट किया जा सकता है.

3/4

ऑक्सीजन सिलेंडर और फर्स्ट एड कीट भी है मौजूद

Oxygen cylinder and first aid insect also exist

इतना ही एक आम एम्बुलेंस की तरह इसमें भी ऑक्सीजन सिलेंडर और फर्स्ट एड कीट करने की सुविधा दी गई है. आपको जानकर हैरानी होगी इस बाइक एम्बुलेंस में मरीज को आराम से लेटाकर अस्पताल पहुंचाया जा सकता है. 

4/4

स्वास्थ्य अधिकारियों ने भी की बाइक एम्बुलेंस की तारीफ

Health officials also praised the bike ambulance

स्वास्थ्य महकमे के आला अधिकारी भी मानते है कि छात्रों का यह प्रयास काबिले तारिफ है और यह बाइक एम्बुलेंस संकरी गलियों और दुरूस्त ग्रामीण इलाकों में कारगर साबित हो सकती है.