Article 370: कांग्रेस समेत कई दलों ने जताया विरोध, जानिए इन नेताओं का क्या था रिएक्शन

आजाद ने मोदी सरकार को चेतावनी देते हुए कहा, "सत्ता के नशे में मत आइए." उधर, सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अनुच्छेद 370 को हटाने को लेकर उत्साहित है और विपक्ष से पूरा समर्थन मिलने की उम्मीद कर रही है. हालांकि आगे की डगर आसान नहीं होगी, क्योंकि जम्मू एवं कश्मीर को जिस प्रकार दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटा गया है.

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने अनुच्छेद 370 को समाप्त करने और जम्मू एवं कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) में बांटने के सरकार के कदम का कड़ा विरोध किया है. गृहमंत्री अमित शाह द्वारा प्रस्तावित विधेयक पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सरकार देश को टुकड़े-टुकड़े करना चाहती है. उन्होंने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के लोग केंद्र सरकार के साथ नहीं हैं.

1/6

गृह मंत्री अमित शाह ने इस विधेयक को राज्यसभा में पेश किया.

Jammu and Kashmir, article 370, Article 370 scrapped, Jammu Kashmir

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर को लेकर ऐतिहासिक कदम उठाते हुए राज्य से अनुच्छेद 370 हटाने की सिफारिश करते हुए जम्मू कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019 पेश किया. गृह मंत्री अमित शाह ने इस विधेयक को राज्यसभा में पेश करते हुए कहा कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने में एक सेकेंड की भी देरी नहीं करनी चाहिए. इसके साथ ही सरकार ने कश्मीर से आर्टिकल 35ए को हटा दिया.

2/6

सांसद मीर फैयाज ने अपना कुर्ता फाड़ दिया.

Kashmir, article 370, Article 370 scrapped

राज्यसभा में कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने विधेयक का विरोध करते हुए हंगामा किया और आसन के समक्ष धरने पर बैठ गए. इसके साथ ही पीडीपी सांसद मीर फैयाज ने अपना कुर्ता फाड़ दिया.

3/6

पीडीपी के सांसदों ने जताया विरोध

Article 370 scrapped, Jammu Kashmir

पीडीपी के सांसद नजीर अहमद और मीर मोहम्मद फैयाज ने राज्यसभा में धारा 370 का विरोध किया और इसके बाद  संसद में गांधी प्रतिमा के सामने बैठकर इस विधेयक का विरोध किया.

4/6

राज्यसभा से वॉकआउट

Jammu and Kashmir, article 370, Article 370 scrapped

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के साथ सभी विपक्षी पार्टी के नेता सोमवार को नई दिल्ली में संसद में भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को भंग करने के प्रस्ताव के दौरान राज्यसभा से वॉकआउट के बाद मीडिया को संबोधित करने पहुंचे. 

5/6

डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि यह काला सोमवार है

Jammu Kashmir

विपक्षी नेताओं पी चिदंबरम, गुलाम नबी आजाद और डेरेक ओ'ब्रायन ने 5 अगस्त, 2019 को नई दिल्ली में संसद में मीडियाकर्मियों से बात की. तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि यह काला सोमवार है और संविधान का मजाक उड़ाया गया है. उन्होंने अन्य विपक्षी दलों से जम्मू एवं कश्मीर के संबंध में सरकार के संकल्प और विधेयकों का विरोध करने की अपील की. 

 

 

6/6

राम गोपाल यादव ने सरकार के कदम का किया विरोध.

Jammu and Kashmir

समाजवादी पार्टी (सपा) के सदस्य राम गोपाल यादव ने भी जम्मू एवं कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के कदम का विरोध किया. हालांकि बहुजन समाज पार्टी (बसपा), आम आदमी पार्टी (आप), अन्नाद्रमुक, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी और बीजू जनता दल (बीजद) जैसे कई अन्य दलों ने सरकार का समर्थन किया.