close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कैंसर से बचाव है जरूरी, बस आपको रखना होगा इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान

लाइफस्टाइल के बदलाव के बाद लोगों में कई तरह की बीमारियां देखने को मिल रही हैं. तनाव और भागदौड़ के कारण लोग बीमारियों का शिकार हो रहे हैं. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Jun 25, 2019, 10:18 AM IST

भारत में डायबिटीज, टीबी, एड्स के बाद सबसे ज्यादा कैंसर के मरीज देखने को मिल रहे हैं. चिकित्सकों का कहना है कि कैंसर के कारण देश में होने वाली 22 फीसदी मौतों का कारण पैसिव स्मोकिंग हैं. जबकि मिनिम सैलेरी वाले लोगों में हेपेटाइटिस और पेपिलोमा वायरस का संक्रमण कैंसर के 25 फीसदी मामलों का कारक हैं. कैंसर से बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं, जो आपको कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से लड़ने में मददगार साबित हो सकते है. 

1/4

एयर पॉल्यूशन से बचना है जरूरी

Avoiding air pollution is necessary

दिल्ली, कोलकाता एवं अन्य कई शहरों में प्रदूषण अपने घातक स्तर पर पहुंच गया है. अच्छा होगा कि इन शहरों में रहने वाले लोग धूल, कार एवं फैक्टरी से निकलने वाले धुएं, निर्माण स्थलों से निकलने वाली धूल, तंबाकू के धुएं (एक्टिव और पैसिव) से बचने के लिए मास्क का इस्तेमाल करें. साथ ही वायु प्रदूषण के कारणों को पहचान कर इन्हें कम करने की जरूरत है. जागरूकता के द्वारा फेफड़ों के कैंसर को कम करने के लिए जरूरी कदम उठाए जा सकते हैं. 

2/4

वॉटर पॉल्यूशन से करें बचाव

Avoid water pollution

अच्छी सेहत के लिए साफ पानी होना बहुत जरूरी है. हमें सुनिश्चित करना होगा कि हमारे आस-पास मौजूद वाटर बॉडीज (जल निकायों) को जैविक एवं ओद्यौगिक प्रदूषकों से संदूषित न होने दिया जाए. पानी में डाले जाने वाले रसायन और व्यर्थ पदार्थ पेट एवं लिवर की बीमारियों जैसे हेपेटाइटिस का कारण बन सकते हैं और यह कैंसर का रूप भी ले सकता है.

 

3/4

काम पर ध्यान देना है जरूरी

Need to pay attention to work

अगर आपका काम ऐसा है कि आप काम के दौरान हानिकर रसायनों जैसे एस्बेस्टॉस, बेंजीन एवं अन्य सॉल्वेंट्स, आर्सेनिक उत्पादों, डाई-ऑक्सिन, क्रोमियम, लेड, फाइबर आदि के संपर्क में आते हैं तो कैंसर की संभावना बढ़ती है. इसलिए उद्योगों में काम करने वालों को रोकथाम के उपाय अपनाने चाहिए. 

4/4

ध्यान से करें खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल

Carefully Use Foodstuffs

सब्जियों और फलों में इस्तेमाल किए जाने वाले कीटनाशक या खाद्य पदार्थों में इस्तेमाल होने वाले आर्टीफिशियल कलर, प्रिजरवेटिव आदि स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हैं. इनका बहुत ज्यादा मात्रा में सेवन कैंसर का कारण बन सकता है. इसलिए इन चीजों से बचने की कोशिश करें, खाद्य पदार्थो के ऑर्गेनिक विकल्प अपनाएं.