धनतेरस पर क्या खरीदने से आएगी खुशहाली? कब है पूजा मुहूर्त?

दिवाली से पहले कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मनाए जाने वाले ''धनतेरस'' को ''धनवंतरि त्रयोदशी'' भी कहा जाता है. इस दिन सोने-चांदी की कोई चीज या नए बर्तन खरीदने को अत्यंत शुभ माना जाता है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Oct 24, 2019, 20:48 PM IST

कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन भगवान धन्वन्तरि का जन्म हुआ था, इसलिए इस तिथि को धनतेरस या धनत्रयोदशी के नाम से जाना जाता है. इस दिन गणेश-लक्ष्मी को घर लाया जाता है. इस दिन कुछ नया खरीदने की परंपरा है. इस दिन लक्ष्मी और कुबेर की पूजा के साथ-साथ यमराज की भी पूजा की जाती है.

1/4

धनतेरस

Dhanteras

कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन भगवान धन्वन्तरि का जन्म हुआ था, इसलिए इस तिथि को धनतेरस या धनत्रयोदशी के नाम से जाना जाता है. इस दिन गणेश-लक्ष्मी को घर लाया जाता है. इस दिन कुछ नया खरीदने की परंपरा है. इस दिन लक्ष्मी और कुबेर की पूजा के साथ-साथ यमराज की भी पूजा की जाती है.

2/4

धनतेरस मुहूर्त

Dhanteras Muhurat

3/4

धनतेरस पर कैसे करें पूजा?

Dhanteras Puja

धनतेरस के दिन भगवान धन्‍वंतरि, मां लक्ष्‍मी, भगवान कुबेर और यमराज की पूजा का विधान है. धनतेरस के दिन आरोग्‍य के देवता और आयुर्वेद के जनक भगवान धन्‍वंतरि की पूजा की जाती है. मान्‍यता है कि इस दिन धन्वन्तरि की पूजा करने से आरोग्‍य और दीर्घायु प्राप्‍त होती है. इस दिन भगवान धन्वन्तरि की प्रतिमा को धूप और दीपक दिखाएं. साथ ही फूल अर्पित कर सच्‍चे मन से पूजा करें.

4/4

यमराज की पूजा

Yamraj Puja

धनतेरस के दिन मृत्‍यु के देवता यमराज की पूजा भी की जाती है. इस दिन संध्‍या के समय घर के मुख्‍य दरवाजे के दोनों ओर अनाज के ढेर पर मिट्टी का बड़ा दीपक रखकर उसे जलाएं. दीपक का मुंह दक्षिण दिशा की ओर होना चाहिए.