पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी की उपलब्धियां

देश के 13वें राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी का 11 दिसंबर को जन्म हुआ था. भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने जीवन में कई सराहनीय कार्य किये हैं.

1/10

प्रणव मुखर्जी का जन्म पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले में किरनाहर शहर के निकट स्थित मिराती गांव में 11 दिसंबर, 1935 में हुआ.

2/10

प्रणब मुखर्जी 25 जुलाई 2012 को भारत के 13वें राष्ट्रपति बनें.

3/10

प्रणब मुखर्जी को 26 जनवरी 2019 को भारत रत्न से सम्मानित किया जा चुका है.

4/10

1969 में प्रणब मुखर्जी ने कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सदस्य के रूप में राजनीति जीवन की शुरुआत की.

5/10

2007 में प्रणब मुखर्जी को देश के दुसरे बड़े सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया.

6/10

2010 में प्रणब मुखर्जी को एक रिसर्च के बाद ‘फाइनेंस मिनिस्टर ऑफ दी इयर फॉर एशिया’ के लिए अवॉर्ड से नवाजा गया.

7/10

2011 में वोल्वरहैम्टन विश्वविद्यालय द्वारा प्रणब मुखर्जी को डोक्टरेट की उपाधि दी गई.

8/10

प्रणब मुखर्जी रक्षा, वित्त, विदेश विषयक मन्त्रालय, राजस्व, नौवहन, परिवहन, संचार, आर्थिक मामले, वाणिज्य और उद्योग, समेत विभिन्न महत्वपूर्ण मन्त्रालयों के मन्त्री होने का गौरव हासिल है.

9/10

1975, 1981, 1993 और 1999 में प्रणब फिर से राज्यसभा के सदस्य के रूप में चुने गए और 1973 में औद्योगिक विकास विभाग के केंद्रीय उप मन्त्री के रूप में मन्त्रिमण्डल में शामिल हुए. 1984 में प्रणब मुखर्जी भारत के वित्त मंत्री बनें. 

10/10

अक्टूबर 2008 को प्रणब मुखर्जी और अमेरिकी विदेश सचिव कोंडोलीजा राइस ने धारा 123 समझौते पर हस्ताक्षर किया और प्रणब मुखर्जी अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के विश्व बैंक, एशियाई विकास बैंक और अफ्रीकी विकास बैंक के प्रशासक बोर्ड के सदस्य बने थे.