तबाही के निशान छोड़ गया तितली, देखिए आंध्र और ओडिशा में कैसे बरपाया कहर

बेहद प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘तितली’ गुरुवार की सुबह देश के पूर्वी तट से टकराया और इसने आंध्र प्रदेश में आठ लोगों की जान ले ली.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Oct 12, 2018, 08:21 AM IST

आंध्र प्रदेश के अलावा तितली तूफान का असर ओडिशा में भी देखने को मिला. ओडिशा में तितली तूफान से एक शख्स की मौत हो गई. 

1/6

कई जगह उखड़े पेड़

Many trees ravaged

150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं ने दोनों राज्यों में भारी तबाही मचाई जहां मकान गिर पड़े तथा पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए. तूफान के चलते आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम और विजियानगरम जिलों तथा ओडिशा के गजपति और गंजाम जिलों में भारी नुकसान पहुंचा है. भारतीय मौसम विभाग ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चक्रवात ‘तितली’ आंध्र प्रदेश में श्रीकाकुलम जिले में पलासा के पास ओडिशा में गोपालपुर के दक्षिण-पश्चिम तट पर सुबह साढ़े चार और साढ़े पांच बजे के बीच पहुंचा. चक्रवात के साथ 140-150 किलोमीटर से 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली.

2/6

पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ रहा तूफान

Hurricane rising towards west bengal

इसने कहा कि ओडिशा को पार करते हुए चक्रवाती तूफान अब पश्चिम बंगाल के गंगा के किनारे वाले क्षेत्रों की ओर बढ़ रहा है और धीरे-धीरे यह कमजोर होगा. आंध्र प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) ने बताया कि चक्रवात से सामान्य जनजीवन ठप हो गया. इसने श्रीकाकुलम और विजयनगरम में भारी तबाही मचाई जहां बुधवार देर रात से भारी से बहुत भारी बारिश हो रही है.

3/6

आंध्र प्रदेश में 8 लोगों की मौत

8 people die in Andhra Pradesh by titli

आंध्र प्रदेश में तूफान से संबंधित अलग-अलग घटनाओं में आठ लोगों की मौत हो गई. एसडीएमए ने बताया कि गुडिवाडा अग्रहारम गांव में 62 वर्षीय एक महिला के ऊपर पेड़ गिरने से उसकी मौत हो गई तथा श्रीकाकुलम जिले के रोतनासा गांव में एक मकान गिरने से 55 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि समुद्र में गए छह मछुआरों की भी मौत हो गई.

 

4/6

बिजली और मोबइल नेटवर्क हुआ प्रभावित

मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि पूर्वी गोदावरी जिले में काकीनाडा से पिछले कुछ दिनों में समुद्र में गईं मछली पकड़ने वाली 67 नौकाओं में से 65 सुरक्षित तट पर लौट आई. श्रीकाकुलम जिले में सड़क नेटवर्क को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा है. बिजली वितरण नेटवर्क भी काफी प्रभावित हुआ है.तेज हवाएं चलने से 2,000 से ज्यादा बिजली के खंभे उखड़ गए.

5/6

ट्रेनों के रूट किया डायनर्जन

Route done by trains

पूर्वी बिजली वितरण कंपनी ने कहा कि श्रीकाकुलम जिले में 4,319 गांवों और छह शहरों में बिजली वितरण तंत्र प्रभावित हुआ. पेड़ों के उखड़ने से चेन्नई-कोलकाता राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात भी बाधित हुआ. पूर्वी तटीय रेलवे के साथ-साथ दक्षिण मध्य रेलवे ने कई ट्रेनों को रद्द कर दिया जबकि कुछ के मार्ग में परिवर्तन कर दिया. कुछ एक्सप्रेस ट्रेनों का दूसरे क्षेत्रों से मार्ग परिवर्तन कर दिया गया. श्रीकाकुलम जिले में बागवानी वाली फसलों को बड़ा नुकसान पहुंचा तथा विजयनगरम में धान के खेतों को काफी नुकसान पहुंचा.

 

6/6

इन जिलो में हुई तेज बारिश

Heavy rain in these districts

कोताबोम्माली (24.82 सेमी.), संथाबोम्माली (24.42 सेमी.), इच्छापुरम (23.76 सेमी.) और तेक्काली (23.46 सेमी.) के बाद पलासा, वज्रापुकोत्तुरू, नंदीगाम इलाकों में 28.02 सेमी. बारिश दर्ज की गई. मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि श्रीकाकुलम जिले के अन्य मंडलों में दो सेमी. से 13.26 सेमी. तक बारिश दर्ज की गई. वहीं, ओडिशा में भी चक्रवाती तूफान ‘‘तितली’’ ने भारी तबाही मचाई जिसके चलते काफी संख्या में पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए . कुछ झोपड़ीनुमा घर क्षतिग्रस्त हो गए.