भारतीयों को कमजोर समझते थे आइंस्टीन, अपनी डायरी में लिख रखी थी एक खास बात

जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

Jun 16, 2018, 11:58 AM IST

नई दिल्ली: अपने NRI पाठकों के लिए ZEE News Hindi ने एक नई शुरुआत की है. जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

1/5

Interesting News for NRI readers

लंदन: दैनिक भास्कर के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर छपी एक खबर बताती है कि दुनिया के सर्वकालिक महान वैज्ञानिकों में शुमार अल्बर्ट आइंस्टीन भारतीयों को शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर समझते थे. खबर में बताया गया है कि ऐसा उन्होंने अपनी डायरी में लिखा था. खबर के मुताबिक आइंस्टीन ने लिखा है, भारत की जलवायु ही कुछ ऐसी है कि यहां के लोग शारीरिक और मानसिक रूप से कमतर लगते हैं. भारतीय 15 मिनट से ज्यादा आगे-पीछे का सोच ही नहीं पाते. अनुवांशिक कारण भी इसके पीछे जिम्मेदार होते हैं.' खबर में दावा किया गया है कि खास बात तो यह है कि जब आइंस्टीन ने यह लिखा था, उस वक्त तक वो भारत आए भी नहीं थे. खबर के मुताबिक श्रीलंका में आइंस्टीन कुछ भारतीयों से मिले थे और उसी आधार पर अपनी राय बना ली थी.

2/5

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: दैनिक जागरण के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर छपी एक खबर में बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि उनका 'डिजिटल इंडिया' कार्यक्रम दलालों और बिचौलियों के खिलाफ लड़ाई है. इससे कालेधन और कालाबाजारी की रोकथाम में मदद मिलेगी. साथ ही छोटे कस्बों और ग्रामीण इलाकों में रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे. खबर में आगे यह भी बताया गया है कि उन्होंने साफ कहा कि किसी को दिखे या न दिखे, पर देश बदल रहा है. खबर के मुताबिक नमो एप के जरिए डिजिटल इंडिया के लाभार्थियों से चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि जब डिजिटल इंडिया कार्यक्रम की शुरुआत की गई थी तब कुछ लोगों ने इसकी कितनी आलोचना की थी. उन्होंने कहा था कि जिस देश में गांवों में ऐसी सुविधा नहीं है, लोग तकिये के नीचे पैसा रखते हैं, बिचौलिये बीच में पैसा खाते हैं, वहां यह कैसे चलेगा. खबर में बताया गया है कि मोदी ने कहा, "लेकिन आज जब गांव, गरीब, किसान इस माध्यम का उपयोग कर रहे हैं तब कुछ लोग नई-नई अफवाहें फैला रहे हैं. कह रहे हैं कि इसमें सुरक्षा नहीं है. इस साजिश के पीछे वे लोग हैं जिनकी दुकानें बंद हो गई हैं. बिचौलियों के कमीशन बंद हो गए हैं. ऐसे में वे लोग नई-नई अफवाहें फैला रहे हैं."

3/5

Interesting News for NRI readers

गुरुग्राम: हिन्दुस्तान अखबार के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर एक खबर छपी है जिसमें बताया गया है कि पूर्व मिस एशिया पैसेफिक टीना चटवाल को पुलिस ने शुक्रवार को घरेलू सहायिका से मारपीट के आरोप में गिरफ्तार किया है. खबर के मुताबिक घरेलू सहायिका ने आरोप लगाया था कि सब्जी खराब बनाने की बात कहते हुए टीना चटवाल ने उसके साथ मारपीट की थी. खबर में यह भी बताया गया है कि वहीं दूसरी ओर टीना चटवाल ने भी घरेलू सहायिका के खिलाफ पुलिस में मारपीट की शिकायत की है. जिसके बाद उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि थोड़ी देर बाद ही दोनों को जमानत पर रिहा कर दिया गया. खबर में पुलिस के हवाले से बताया गया है कि वर्ष 2002 की मिस एशिया पैसेफिक टीना चटवाल पेशे से दंत चिकित्सक हैं. गोल्फकोर्स रोड स्थित वेस्टर्न हाइट्स सोसायटी में रह रही टीना ने घर में खाना बनाने के लिए ढाई साल पहले पश्चिम बंगाल निवासी माया दास को काम पर रखा था. गुरुवार को टीना को माया की बनाई सब्जी पसंद नहीं आई जिस पर दोनों में झड़प हुई. इसके बाद दोनों पक्षों की ओर से शिकायत की गई. डीसीपी (पूर्वी) कुलदीप यादव ने बताया कि पुलिस ने ऐहतियात बरतते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया था.

4/5

Interesting News for NRI readers

जयपुर: दैनिक भास्कर के जयपुर संस्करण में पहले पन्ने पर छपी एक खबर में बताया गया है कि करौली में बाबा रामदेव को पतंजलि योग पीठ के लिए लीज पर मिली मंदिर माफी की 400 बीघा जमीन के कन्वर्जन को लेकर राज्य सरकार उलझ गई है. खबर के मुताबिक इस मामले में समस्या यह है कि मंदिर माफी की जमीन न तो किसी को आवंटित की जा सकती और न ही इसे बेचा जा सकता है. ऐसी जमीन को लीज पर देने का भी प्रावधान नहीं है. ऐसे में सरकार के सामने संकट खड़ा हो गया है कि वह किस नियम के तहत इसका कन्वर्जन कराए. खबर में बताया गया है कि यह संकट इसलिए भी बढ़ गया है, क्योंकि बाबा रामदेव यहां अपना 500 करोड़ रु. का प्रोजेक्ट लगाने के लिए पिछले माह शिलान्यास कर चुके हैं. खबर के मुताबिक यह जमीन गोविंददेवजी ट्रस्ट की है और उसी ने पतंजलि को दो साल पहले इसे लीज पर दिया था.

5/5

Interesting News for NRI readers

चंडीगढ़: अमर उजाला अखबार के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर छपी एक खबर में बताया गया है कि हरियाणा सरकार ने दिल्ली में सराय काले खां से हरियाणा-राजस्थान सीमा के निकट शाहजहांपुर-नीमराना-बेहरोड़ (एसएनबी) तक हाई स्पीड रेल नेटवर्क बिछाने का मंजूरी दे दी है. खबर के मुताबिक यह परियोजना रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) के तहत सिर चढ़ेगी. खबर में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के हवाले से बताया गया है कि मास ट्रांसपोर्टेशन परियोजनाएं गुरुग्राम, विशेष रूप से दक्षिण हरियाणा में विकास और निवेश को नई गति प्रदान करेंगी. खबर में इस बात का भी जिक्र है कि उच्च गति रेल की औसत गति लगभग 100 किमी. प्रति घंटे होगी और दक्षिणी हरियाणा से दिल्ली तक के दैनिक यात्रियों को सुविधाजनक यात्रा प्रदान करेगी.