close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनाव प्रचार को लेकर और सख्त हुआ EC, रात 10 बजे के बाद सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर भी लगी रोक

यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Sep 17, 2018, 10:02 AM IST

नई दिल्ली: यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे. सोमवार के अखबारों की बात करें तो सभी अखबारों ने महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर मायावती की प्रेस कॉन्फ्रेंस की खबर को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया है.

1/5

अब रात 10 बजे के बाद सोशल मीडिया पर भी चुनाव प्रचार बंद

Top news of hindi and english newspaper

राजस्थान पत्रिका: राजस्थान पत्रिका के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रमुखता के साथ प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि निर्वाचन आयोग ने चुनाव प्रचार का समय रात 10 बजे समाप्त होने के बाद अब सोशल मीडिया से प्रचार पर भी रोक लगा ही है. खबर में बताया गया है कि प्रत्याशी एसएमएस, वाट्सएप या फोन से भी प्रचार नहीं कर पाएगा. खबर में जानकारी दी गई है कि लोगों की निजता के अधिकार का हवाला देते हुए आयोग ने यह फरमान जारी किया है. खबर में यह भी कहा गया है चुनाव आयोग के समयसीमा वाले नियम के बाद उम्मीदवारों ने नया रास्ता अपना लिया था और फोन एवं इंटरनेट के जरिए रात में लोगों से वोटों की अपील शुरू कर दी थी. जिस वजह से आयोग ने इस पर भी रोक लगा दी है.

2/5

बीजेपी नेता मनोज तिवारी ने फिल्मी अंदाज में तोड़ी सुप्रीम सील

Top news of hindi and english newspaper

नवभारत टाइम्स: नवभारत टाइम्स के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि राजधानी के अवैध निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश से हो रही सीलिंग का बीजेपी नेता ही माखौल उड़ाते दिखे. खबर के मुताबिक रविवार को ईस्ट दिल्ली के गोकलपुर गांव की एक डेयरी में लगी सील को दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी तोड़ दिया, जिसका वीडियो सामने आया है. खबर में जानकारी दी गई है कि इस डेयरी को शुक्रवार को ही ईस्ट एमसीडी ने सील किया था. खबर में बताया गया है कि नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली से सांसद तिवारी रविवार सुबह गोकलपुर गांव के कम्युनिटी हॉल में सीलिंग के विरोध में हुई महापंचायत में पहुंचे थे. जिसके बाद तिवारी ने एक डेयरी की सील हथौड़े से तोड़ दी.

3/5

मोर्चे पर सबसे आगे सैनिक, सुविधाओं में पीछे

Top news of hindi and english newspaper

दैनिक जागरण: दैनिक जागरण के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि दुश्मन की आंखों में आंखें डाल कर 24 घंटे मोर्चे पर सबसे आगे तैनात सैनिक सुविधाओं के मामले में सबसे पीछे खड़े होते हैं. खबर के मुताबिक सैन्य जीवन की कठिनाइयों से जुड़े भत्ते यानी मिलिट्री सर्विस पे मिलने का मामला हो या फिर कैंटीन में सामान खरीदने का सैनिकों और नॉन कमीशन ऑफिसर का नंबर सबसे पीछे आता है. खबर में जानकारी दी गई है कि भेदभाव का यह मुद्दा कोर्ट पहुंच चुका है और सैनिकों का मुद्दा उठाने वाली संस्था वाइस ऑफ एक्स सर्विसमैन सोसाइटी की याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा है. खबर में यह भी बताया गया है कि इस मामले कि अगली सुनवाई 23 अक्टूबर को है.

4/5

इग्नू की पढ़ाई अब एप से भी कर सकेंगे छात्र

Top news of hindi and english newspaper

हिन्दुस्तान: हिन्दुस्तान अखबार के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने छात्रों को आसानी से पाठ्यसामग्री उपलब्ध कराने के लिए एप शुरू करने की योजना बनाई है. इससे न केवल शहरी बल्कि ग्रामीण इलाकों के छात्रों को भी पाठ्यसामग्री मिलने में देरी नहीं होगी. खबर में इग्नू के नवनियुक्त कुलपति प्रो. नागेश्वर राव के हवाले से बताया गया है कि कई छात्रों को यह शिकायत है कि समय से उनके पास पाठ्यसामग्री नहीं पहुंचती है इसलिए एप की व्यवस्था शुरू करने पर विचार किया जा रहा है. जल्द ही इसे लागू किया जाएगा. इससे न केवल कागज की बचत होगी बल्कि यह सस्ता भी होगा. खबर में दावा किया गया है कि इग्नू में पढ़ाए जाने वाले सभी कोर्स के पाठ्यक्रम एप पर उपलब्ध होंगे.

5/5

गैर जरूरी कार्यों में खराब होता है 86 फीसदी कर्मचारियों का समय

Top news of hindi and english newspaper

अमर उजाला: अमर उजाला के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि दुनिया में 86 फीसदी यानी हर 10 में से 9 कर्मचारियों का समय उन कार्यों में बर्बाद होता है, जो उनके कार्य का हिस्सा का नहीं है. खबर के मुताबिक इस बात का खुलासा श्रम प्रबंधन सेवाएं देने वाली कंपनी क्रोनोज के सर्वे में हुआ है. खबर में सर्वे के हवाले से बताया गया है कि 41 फीसदी फुल टाइम कर्मचारी गैर जरूरी कार्यों में काम के निर्धारित घंटे में से एक घंटे से ज्यादा समय गंवाते हैं. वहीं, 40 फीसदी कर्मचारियों का समय उन प्रशासनिक कार्यों में खराब होता है, जिससे उनके संस्थान को कोई लाभ नहीं होता. खबर में जानकारी दी गई है कि सर्वे ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, भारत, मैक्सिको और ब्रिटेन के 2800 कर्मचारियों पर 31 जुलाई से 9 अगस्त के बीच कराया गया था.