close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

असम में बाढ़ से हाहाकार, मरनेवालों की तादाद बढ़कर 168 हुई

गुवाहाटी : राज्य सरकार के स्वास्थ मंत्री डॉ हिमंत विस्व शर्मा ने असम में बाढ़ और जापानीज एनकेफीलिटिस बुखार के बढ़ते मरीजों के हालतों को देखते हुए 30 सितंबर तक असम सरकार के स्वास्थ विभाग से जुड़े सभी डॉक्टरों और पारा मेडिकल स्टाफ़ के छुट्टी पर रोक लगा दी हैं. 

अंजनील कश्‍यप | Jul 20, 2019, 15:11 PM IST

असम के 33 जिलों में से 27 जिलों में बाढ़ की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई हैं. आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार असम के 27 जिलों के 3705 गांवों के 48,87,443 लोग बाढ़ से प्रभावित हैं.

1/5

जापानीज एक्फलीटिस से अब तक 168 लोगों की मौत

168 people have died since Japanese aquilitis

विभाग के आंकड़ों के अनुसार, 57 लोगों के बाढ़ से और जापानीज एक्फलीटिस बुख़ार से अब तक 168 लोगों की मौत हुई हैं. पिछले 3 दिनों से बारिश थमने का बाद ब्रह्मपुत्र के सहायक नदियों में जलस्तर घटा हैं पर प्रमुख नदियां जिया भराली, कपिली और ब्रह्मपुत्र का जलस्तर अभी भी ख़तरे से ऊपर बह रहा हैं.

 

2/5

755 राहत शिविर

755 relief camps

राज्य के 755 राहत शिविरों में 1,47,833 लोग शरण लिए हुए हैं. केंद्र सरकार और असम सरकार स्तिथि को मॉनिटर कर रही हैं. सेना, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ बचाव अभियान में जुटी हुई हैं. सबसे ज्यादा बाढ़ से जानवरों की मौत और लापता होने की सूचना हैं.

3/5

बाढ़ से जानवरों को नुकसान

Loss of animals from floods

वन मंत्रालय के अनुसार काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान सदी के सबसे भयंकर बाढ़ झेल रहा हैं, काज़ीरंगा नेशनल पार्क का 90% हिस्सा बाढ़ग्रस्त हैं. हिरण, एक सिंग के विश्व प्रसिद्ध गैंडे, बाघ, हाथियों व अन्य जीव जंतुओं को जान बचाने नेशनल हाईवे 37 में घूमते देखा जा रहा हैं.

 

4/5

वन मंत्री ने बताए बाढ़ के हालात

Forest Minister told the situation of floods

जानवरों के कई रिहाइशी इलाकों में घुसने की ख़बर हैं. वन मंत्री परिमल शुक्ल वैद्य ने जानकारी ज़ी मीडिया से फ़ोन पर साझा करते हुए बताया कि काज़ीरंगा नेशनल पार्क में बाढ़ की त्रासदी और भी भयंकर हो सकती थी. पर वक्त पर 33 नई हाईलैंड्स के निर्माण कार्य पूरा होने के वजह से ज्यादातर जानवर इन हाईलैंड्स में पनाह लेकर सुरक्षित हैं.

 

5/5

केंद्र से राहत पैकेज की मांग

Center demand relief package

इस बीच असम के लोकसभा चुनाव में जीते बीजेपी के 10 सांसदों ने प्रधानमंत्री मोदी से कल मुलाकात कर असम के बाढ़ के स्तिथि को देखते हुए विशेष पैकेज देने की मांग की हैं और प्रधानमंत्री ने बाढ़ की कहर झेल रहे असम के लोगों को हर संभव मदद की मांग की है. इस बीच सरकारी एजेंसियों के अलावा भी असम के लोग और विभिन्न संगठनों ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आ रहें हैं, लोगों की सहयोग से बाढ़ पीड़ितों को खाने पीने और कपड़े समेत सभी जरूरत का सामान उनके पास पहुंचाया जा रहा है.