हरियाणा में कोचिंग से वापस घर आ रही थी CBSE टॉपर, लिफ्ट देने के बहाने गांव के लड़कों ने किया गैंगरेप

यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे.

हरियाणा में सीबीएसई टॉपर के साथ गैंगरेप

1/5
हरियाणा में सीबीएसई टॉपर के साथ गैंगरेप

हिन्दुस्तान: हिन्दुस्तान अखबार ने अपने शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर रेवाड़ी में एक किशोर लड़की के साथ हुए गैंगरेप के साथ कुछ अन्य जगहों पर हुई रेप की खबरों को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया है. खबर में बताया गया है कि हरियाणा में रेवाड़ी जिले की 19 साल की एक लड़की से सामूहिक दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है. खबर के मुताबिक गैंगरेप के आरोपी उसके गांव के रहने वाले हैं और फरार हैं. खबर में पुलिस के हवाले से जानकारी दी गई है कि सीबीएसई टॉपर रही लड़की बुधवार सुबह कोचिंग से लौटकर महेंद्रगढ़ जिला स्थित कनीना बस अड्डे पर बस का इंतजार कर रही थी. तभी तीन युवक कार से वहां पहुंचे और उसे लिफ्ट देने की बात कहकर कार में बिठा लिया. कार में ही उसे नशीला पदार्थ देकर बेहोश कर दिया. इसके बाद तीनों ने उससे गैंगरेप किया और लड़की को बस अड्डे के पास फेंककर फरार हो गए.

बच्ची से रेप, दांतों से काटकर किया जख्मी

2/5
बच्ची से रेप, दांतों से काटकर किया जख्मी

नवभारत टाइम्स: नवभारत टाइम्स के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रमुखता के साथ प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि छह दिन पहले परिवार के साथ यूपी से दिल्ली आई 10 साल की मासूम बच्ची के साथ रेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है. खबर के मुताबिक आरोपी ने रेप का विरोध करने पर बच्ची को न केवल बेरहमी से पीटा, बल्कि उसके चेहरे सहित शरीर के अन्य हिस्सों को दांतों और नाखूनों से जख्मी भी कर दिया. वारदात को अंजाम देने के बाद वह बच्ची को सीढ़ियों से धक्का देकर फरार हो गया था जिसे शुक्रवार शाम अरेस्ट कर लिया गया. खबर में जानकारी दी गई है कि बच्ची का फिलहाल एम्स हॉस्पिटल में ट्रीटमेंट चल रहा है. बच्ची की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. पुलिस ने रेप और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है.

पहली बार हाईकोर्ट की निगरानी में होगी कबड्डी

3/5
पहली बार हाईकोर्ट की निगरानी में होगी कबड्डी

राजस्थान पत्रिका: राजस्थान पत्रिका के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि भारतीय खेल इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब अदालत की निगरानी में कोई मुकाबला खेला जाएगा. खबर में जानकारी दी गई है कि दर्शक दीर्घा में बैठ न्यायधीश और अन्य विशेषज्ञ दोनों टीमों के प्रदर्शन का आंकलन करेंगे. खबर के मुताबिक मुकाबले में खिलाड़ियों के दिखाए दम-खम के हिसाब से कोर्ट मामले में अपना रूख तय करेगी. खबर में आगे बताया गया है कि यह मामला भारतीय कबड्डी टीम से जुड़ा है जो हाल ही में एशियाई खेलों में रजत और कांस्य पदक जीत कर देश लौटी है. खबर से मिली जानकारी के मुताबिक कोर्ट की निगरानी में यह मैच शनिवार को इंदिरा गांधी स्टेडियम में खेला जाएगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि एशियाड की भारतीय टीम के चयन में कोई गड़बड़ी हुई थी या नहीं.

24 साल बाद इसरो के पूर्व वैज्ञानिक जासूसी कांड में बरी

4/5
24 साल बाद इसरो के पूर्व वैज्ञानिक जासूसी कांड में बरी

दैनिक जागरण: दैनिक जागरण के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रमुखता के साथ प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि 24 साल तक लंबी लड़ाई लड़ने के बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व वैज्ञानिक नांबी नारायणन 1994 के जासूसी कांड में बरी हो गए हैं. खबर के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में उनकी गिरफ्तारी और प्रताड़ना को अनावश्यक व मानसिक क्रूरता करार दिया है. खबर में बताया गया है कि मामले में केरल पुलिस के अधिकारियों की संलिप्तता की जांच के लिए शीर्ष अदालत ने पूर्व न्यायाधीश जस्टिस डीके जैन की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच समिति गठित की है. इसके अलावा राज्य सरकार से आठ सप्ताह के भीतर पूर्व वैज्ञानिक को 50 लाख रुपये बतौर मुआवजा भुगतान करने को कहा है.

आईसीयू में मरीज के जख्मों में पड़े कीड़े

5/5
आईसीयू में मरीज के जख्मों में पड़े कीड़े

अमर उजाला: अमर उजाला के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि दिल्ली सरकार के सुश्रुत ट्रॉमा अस्पताल ने एक बार फिर चिकित्सीय जगत को शर्मसार कर दिया है. खबर के मुताबिक अस्पताल के आईसीयू में भर्ती एक मरीज की पर्याप्त देखरेख नहीं होने की वजह से उसके जख्मों पर कीड़े पड़ गए. खबर में जानकारी दी गई है कि ड्यूटी पर मौजूद जूनियर डॉक्टर के बताने पर भी जख्मों से मक्खियों के अंडे साफ नहीं किए गए. जिस वजह से अंडों से कीड़े बाहर आने लगे और मरीज के शरीर से आईसीयू में तेज गंध फैलने लगी. खबर में इस बात का भी दावा किया गया है कि यह पहली लापरवाही नहीं है अप्रैल में इसी अस्पताल के एक डॉक्टर ने सिर पर चोट लगे मरीज के पैर का ऑपरेशन कर दिया था.

photo-gallery