close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोरखपुर: भगवान कृष्ण की पूजा करते नजर आए BJP उम्मीदवार रवि किशन

योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने से पहले पांच बार गोरखपुर सीट से सांसद चुने जा चुके हैं. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | May 23, 2019, 07:29 AM IST

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव रिजल्ट आने पहले ही उत्तर प्रदेश की गोरखपुर सीट से बीजेपी उम्मीदवार और अभिनेता रवि किशन भगवान कृष्ण की पूजा करते हुए देखे गए. एक महिने से भी अधिक समय तक 7 चरणों में हुए मतदान के बाद आज (23 मई) मतगणना के साथ लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) की प्रक्रिया भी संपन्न हो जाएगी. साथ ही यह भी साफ हो जाएगा कि इस बार किस पार्टी की सरकार बनने वाली है. गौरतलब है कि इस बार लोकसभा की 543 सीटों में से 542 सीटों पर चुनाव के लिए मतदान हुए हैं, जहां 8,000 से अधिक प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला आज होने वाला है. बता दें, तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर गड़बड़ी की शिकायतों के बाद आयोग ने मतदान स्थगित कर दिया था.

1/5

चुनाव जीतने के बाद ये काम करेंगे रवि किशन

Ravi kishan

रवि किशन का कहना है कि वह न तो नेता हैं और न ही बनना चाहते हैं. चुनाव जीतने के बाद वह गोरखपुर में भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को नए मुकाम तक ले जाएंगे.

2/5

पहले कांग्रेस के टिकट पर जौनपुर से लड़ा था चुनाव

Ravi kishan

गौरतलब है कि रवि किशन ने पिछला लोकसभा चुनाव कांग्रेस के टिकट पर जौनपुर लोकसभा सीट से लड़ा था और बेहद कम वोट मिले थे.

3/5

पांच बार गोरखपुर सीट से सांसद चुने जा चुके हैं योगी आदित्यनाथ

Ravi kishan

बता दें, योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने से पहले पांच बार गोरखपुर सीट से सांसद चुने जा चुके हैं.

4/5

11 अप्रैल से 19 मई तक हुए मतदान

Ravi kishan

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के लिए 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में हुए मतदान में 90.99 करोड़ मतदाताओं में से करीब 67.11 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है. 

5/5

अब तक का सबसे अधिक मतदान

Ravi kishan

भारतीय संसदीय चुनाव में यह अब तक का सबसे अधिक मतदान है. चुनाव मैदान में किस्मत आजमा रहे प्रमुख नेताओं में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा विभिन्न केंद्रीय मंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी और सपा प्रमुख अखिलेश यादव सहित विभिन्न दलों के प्रमुख नेता भी शामिल हैं.