सूरत के कपड़ा व्यापार पर GST की मार, एक साल में 50% तक घटा कारोबार

जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

Jun 24, 2018, 12:40 PM IST

नई दिल्ली: अपने NRI पाठकों के लिए ZEE News Hindi ने एक नई शुरुआत की है. जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

1/5

Interesting News for NRI readers

सूरत: दैनिक भास्कर के सूरत संस्करण में प्रमुखता के साथ प्रकाशित की गई एक खबर में बताया गया है कि जीएसटी के खिलाफ सूरत के कपड़ा व्यापारियों के विरोध के एक साल पूरे हो चुके हैं. खबर के मुताबिक जीएसटी कपड़ा कारोबार को खत्म कर देगी इस सोच के साथ व्यापारियों ने आंदोलन शुरू किया था. खबर में दावा किया गया है कि अब एक साल बीतने को है और कपड़ा कारोबार बढ़ने के बजाय आधा ही रह गया है. खबर में दावा किया गया है कि जीएसटी लागू होने के बाद से आज तक कपड़ा कारोबार सीजन में भी 70 फीसदी से ऊपर नहीं रहा. खबर में इस बात का भी दावा किया गया है कि जीएसटी लागू होने के बाद किसी ने कपड़े का नया कारोबार शुरू नहीं किया है, जबकि जीएसटी लागू होने से पूर्व सूरत में प्रतिमाह 200 नए व्यापारी दुकान शुरू करते थे. खबर के मुताबिक स्थिति यह है कि शहर के एसटीएम, मिलेनियम, आरकेटीएम, अभिषेक, गुडलक, कोहिनूर जैसे कई मार्केटों में 15 से 20 फीसदी किराया कम करने के बाद भी दुकान लेने वाला कोई नहीं है जबकि पहले इन मार्केटों में किराए पर दुकान लेने के लिए वेटिंग लिस्ट रहती थी.

2/5

Interesting News for NRI readers

भरतपुर: दैनिक भास्कर के जयपुर संस्करण में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि भरतपुर के अपना घर आश्रम में 10 राज्यों के करीब 76 मूक-बधिर महिला-पुरुष लंबे समय से रह रहे हैं. खबर के मुताबिक वो लोग अपने घर जाना तो चाहते हैं, लेकिन दिक्कत यह है कि वे परिजन का नाम और घर का पता ठीक से नहीं बता पा रहे हैं. खबर में बताया गया है कि चूंकि यह लोग पढ़े-लिखे भी नहीं हैं, इसलिए लिखकर भी कुछ बता पाने में असमर्थ हैं. खबर के मुताबिक इस पीड़ा के बीच अपना घर के संचालन में रोचक बात भी है. वो है आश्रम के लिए भोजन जैसी रोजमर्रा की बेहद जरूरी चीजों का इंतजाम करने का तरीका. खबर में संचालक डॉ. बीएम. भारद्वाज के हवाले से बताया गया है कि खर्चों के लिए न तो सरकार से कोई अनुदान लेते हैं और न ही किसी से चंदा मांगने जाते हैं. जरूरी सामान और अन्य आवश्यकताओं की एक चिट्ठी लिखकर नियमित रूप से ठाकुर जी (श्रीकृष्ण भगवान) के मंदिर में रख दी जाती है. साथ ही जरूरत वाली चीजों की सूची नोटिस बोर्ड पर चस्पा कर दी जाती है. श्रद्धालु आते हैं और सूची की कोई भी वस्तु जैसे आटा, दाल, चावल, चीनी, तेल, घी आदि दे जाते हैं. जैसे ही सामान मिलता है नोटिस बोर्ड से उस सामान की पर्ची हटा दी जाती है.

3/5

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: दैनिक भास्कर के रविवार के अंक में छपी एक खबर में दावा किया गया है कि निजी एयरलाइंस से घरेलू हवाई सफर करना महंगा हो गया है. खबर में बताया गया है कि इंडिगो, गोएयर और स्पाइसजेट ने 15 किलो से अधिक सामान ले जाने पर चार्ज बढ़ा दिया है. खबर के मुताबिक कुछ दिन पहले जेट एयरवेज ने इकोनॉमी क्लास के यात्रियों के लिए अधिकतम 15 किलो वजन का बैग लेकर सफर करने का प्रावधान किया था. खबर में आगे बताया गया है कि इसके बाद सभी विमान कंपनियों ने 15 किलो से ज्यादा सामान होने पर अतिरिक्त चार्ज लगाना शुरू कर दिया है. खबर में यह भी बताया गया है कि सिर्फ एअर इंडिया एकमात्र ऐसी एयरलाइन है जिसमें घरेलू यात्री 25 किलो तक सामान बिना अतिरिक्त शुल्क चुकाए ले जा सकेंगे.

4/5

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: हिन्दुस्तान अखबार के पहले पन्ने पर छपी एक खबर में बताया गया है कि भारतीय सेना में मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा की अज्ञात लोगों ने गला रेतकर हत्या कर दी. खबर के मुताबिक वारदात नारायणा स्थित आरपीएफ बरार स्क्वेयर के पास शनिवार दोपहर की है. खबर में बताया गया है कि आरोपी हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंक कर फरार हो गए. खबर में इस बात का जिक्र है कि सड़क किनारे महिला का शव पड़ा देख राहगीरों ने पुलिस को इस बात की सूचना दी. खबर में आगे बताया गया है कि पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और मृतका के परिजनों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. खबर के मुताबिक शुरूआती जांच में मिले सबूतों के आधार पर पुलिस का मानना है कि हत्या में मृतका का बेहद करीबी शामिल है, जिसकी पहचान कर ली गई है और जल्द ही उसकी गिरफ्तारी हो जाएगी.

5/5

Interesting News for NRI readers

मुंबई: नवभारत टाइम्स के मुंबई संस्करण के रविवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रमुखता के साथ प्रकाशित की गई खबर में बताया गया है कि शनिवार से महाराष्ट्र में प्लास्टिक पर बंदी लागू कर दी गई है. खबर के मुताबिक पहले दिन मुंबई में जुर्माना वसूलने के बजाय जागरूकता पर जोर दिया गया. खबर में आगे यह भी लिखा गया है कि हालांकि, भिवंडी, अंबरनाथ, उल्हासनगर, ठाणे और मीरा-भाईंदर समेत अन्य जगहों पर जरूर कुछ लोगों से जुर्माना वसूला गया. खबर में इस बात का भी जिक्र है कि बीएमसी ने शनिवार को लोअर परेल के फीनिक्स मॉल की 11 दुकानों पर कार्रवाई की जिनमें से 10 से जुर्माना वसूला गया जबकि मैक्डॉनल्ड्स ने जुर्माना नहीं दिया. खबर के मुताबिक बीएमसी अब मैक्डॉनल्ड्स के खिलाफ केस दर्ज कराएगी.