ग्वालियरः खाद्य विभाग ने शताब्दी एक्सप्रेस के बेस किचन पर मारा छापा, जब्त की 25 किलो सड़ी प्याज

टीम को सड़ी-गली प्याज के साथ-साथ ही पनीर और तुअर दाल और मसालों के भी सैंपल लिए हैं. जिसे जांच के लिए भेजा गया है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Aug 25, 2019, 14:09 PM IST

कर्ण मिश्रा/ग्वालियरः मध्य प्रदेश के ग्वालियर में शताब्दी एक्सप्रेस की बेस किचन पर खाद्य विभाग की टीम ने छापामार कार्रवाई की है. जहां टीम को सड़ी-गली प्याज के साथ-साथ ही पनीर और तुअर दाल और मसालों के भी सैंपल लिए हैं. जिसे जांच के लिए भेजा गया है और सैंपल की जांच रिपोर्ट आने के बाद आरोपियों पर कार्रवाई करने की बात कही है.

1/5

शताब्दी एक्सप्रेस के लिए किचन बनी हुई है

Kitchen remains for Shatabdi Express

दरअसल, शहर के गांधीनगर स्थित वृंदावन फूड प्रोडक्ट के नाम से शताब्दी एक्सप्रेस के लिए किचन बनी हुई है. जहां सुबह से श्याम शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के लिए खाना बनाया जाता है, लेकिन खाद विभाग की टीम को लगातार शिकायत मिल रही थी कि शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के अंदर खराब खाना परोसा जा रहा है.

2/5

खाद्य विभाग ने किचन बेस पर मारा छापा

 Food department raids the kitchen base

जिसके बाद आज शाम खाद्य विभाग की टीम इस किचन बेस पर छापामार कार्रवाई करते हुए जांच पड़ताल की जहां टीम को इस किचन के अंदर 25 किलो प्याज सड़ी-गली हालत में मिली, जिसे देख अधिकारियों ने तुरंत उस प्याज को नष्ट करा दिया.

3/5

आरोपियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

 Strict action will be taken against the accused

इसके बाद जांट टीम ने किचन में उपयोग होने वाले मसाले और तुअर की दाल और पनीर के सैंपल लिए जिसे जांच के लिए भेजा गया है. अधिकारियों का कहना है अगर यहां सैंपल फेल होते हैं तो इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

4/5

सैंपल की जांच रिपोर्ट के आधार पर होगी कार्रवाई

 Team has taken 4 samples

ग्वालियर खाद्य विभाग के अधिकारी रवि कुमार शिवहरे ने कहा कि, कलेक्टर के निर्देश पर आज हम वृंदावन फूड प्रोडक्ट पर आए थे, यहां से खाना रेलवे में सप्लाई होता है. शताब्दी सहित कई अन्य और ट्रेनों में जिसके चलते हमने आज यहां चेक किया है.

5/5

टीम ने 4 सैंपल लिए हैं

टीम ने 4 सैंपल लिए हैं, जिनमें पनीर, तुअर दाल, मिर्च पाउडर और चावल का सैंपल शामिल है. साथ ही 25 किलो खराब प्याज मिली जिसे मौके पर ही नष्ट कराया गया है. सैंपल जांच की जो रिपोर्ट आएगी उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.