close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सावन 2018: शिवरात्रि का व्रत करके ऐसे करें भोले को प्रसन्न, जानें क्या है महत्व...

सावन शिव पूजन का सबसे उत्तम मास होता है और इस महीने की शिवरात्रि का भी अपना महत्व होता है.

Aug 02, 2018, 11:30 AM IST

सावन शिव पूजन का सबसे उत्तम मास होता है और इस महीने की शिवरात्रि का भी अपना महत्व होता है.

1/7

shivratri vrat of Sawan

shivratri vrat of Sawan

सावन के महीने में जितना महत्व इसके सोमवार का व्रत रखने का होता है उससे कहीं ज्यादा फल इस महीने पड़ने वाली शिवरात्रि का भी होता है. इस साल 9 अगस्त को सावन की शिवरात्रि पड़ रही है. साल में 12 शिवरात्रि पड़ती हैं. 

2/7

how to do shiv puja in shivratri vrat

how to do shiv puja in shivratri vrat

सावन की शिवरात्रि का व्रत कोई भी व्यक्ति रख सकता है. माना जाता है कि इस व्रत को रखने से पापों का नाश होता है. कुंवारी लड़कियां या फिर कंवारे लड़के इस व्रत को सच्‍चे मन से रखते हैं तो उन्‍हें मनचाहा वर या वधू मिलता है. 

3/7

shiv puja in shivratri vrat

shiv puja in shivratri vrat

इस दिन शिवजी को प्रसन्न करने के लिए सुबह उठ कर स्‍नान करके घर या मंदिर में शिव जी की पूजा करें. शिव जी के साथ माता पार्वती और नंदी को भी पंचामृत जल अर्पित करें. ऐसा करने के बाद शिवलिंग पर शिव मंत्र :ॐ नमः शिवाय करते हुए फल-फूल, मिठाई और दूध-हदी जाप के साथ चढ़ाते जाएं.

4/7

shivratri vrat of Sawan 2018 Dharam

shivratri vrat of Sawan 2018 Dharam

भगवान की पूजा दिल से करें, इससे आप उन्‍हें जो कुछ भी अर्पित करेंगे वो उसे स्वीकार कर आपको वरदान देंगे. सावन शिवरात्रि के दिन केवल फलाकार का सेवन करें तथा मन को शुद्ध रखें.

5/7

shivratri vrat of Sawan 2018

shivratri vrat of Sawan 2018

देवों में देव महादेव ऐसे भगवान हैं जो सिर्फ जलाभिषेक से ही खुश हो जाते हैं. सोमवार का दिन चंद्र का दिन होता है और चंद्रमा के नियंत्रक भगवान शिव हैं. इस दिन पूजा करने से न केवल चंद्रमा बल्कि भगवान शिव की कृपा भी मिलती है. 

6/7

shiv puja in shivratri of Sawan

shiv puja in shivratri of Sawan

पूजन पूरा होने के बाद प्रभु के सामने क्षमा याचना जरूरी है. क्षमा याचना के लिए क्षमा मंत्र ‘आह्वानं ना जानामि, ना जानामि तवार्चनम, पूजाश्वैव न जानामि क्षम्यतां परमेश्वर:’ जप करें और अक्षत व फूल अर्पित करें.

7/7

Sawan 2018 Dharam

Sawan 2018 Dharam

क्षमा याचना में भक्त भोलेनाथ से प्रार्थना करते हुए कहता है कि हे प्रभु मैं ज्यादा तो कुछ नहीं जानता लेकिन मैंने अपनी क्षमता और सामथ्र्य से ज्यादा किया है, इसलिए हे प्रभु आप इसे स्वीकार कीजिए और मुझ पर अपनी कृना बनाए रखें. इस प्रकार सावन के सोमवार पर पूजन करने से भोलेनाथ आपकी मनोकामना पूरी करेंगे.