जीत के बाद कार्तिक का चौंकाने वाला बयान, 'मेरी वजह से काफी मुश्किल में पड़ गए थे धोनी'

एडिलेड वनडे जीतकर भारत ने तीन मैचों की सीरीज बराबर कर ली है. महेंद्र सिंह धोनी ने 54 गेंदों पर 55 रन की पारी खेली. धोनी ने अंतिम ओवर की पहली गेंद की छक्का लगाकर 2011 के विश्वकप की याद दिला दी. यह भी दिखा दिया कि उनके अंदर अभी भी वही जज्बा कायम है.

चतुरेश तिवारी | Jan 15, 2019, 23:13 PM IST

एडिलेड वनडे जीतकर भारत ने तीन मैचों की सीरीज बराबर कर ली है. महेंद्र सिंह धोनी ने 54 गेंदों पर 55 रन की पारी खेली. धोनी ने अंतिम ओवर की पहली गेंद की छक्का लगाकर 2011 के विश्वकप की याद दिला दी. यह भी दिखा दिया कि उनके अंदर अभी भी वही जज्बा कायम है.

1/5

एडिलेड में दिखा धोनी ने पुराना अंदाज

MS dhoni shows it old color in Adelaide

'बेस्ट फिनिशर' महेंद्र सिंह धोनी जब बल्लेबाजी के लिए मैदान पर आए थे तब भारत को 118 गेंदों पर 139 रनों की जरूरत थी. वह मैच को अंतिम ओवर तक ले गए. उन्होंने अंतिम ओवर की पहली गेंद पर छक्का लगाया और फिर टीम इंडिया की जीत सुनिश्चित की. एडिलेड में धोनी ने अपना पुराना रंग दिखाया और विराट कोहली ने उनके चिर-परिचित अंदाज की तारीफ की. धोनी के साथ 14 गेंदों में 25 रन की तेजतर्रार पारी खेलने वाले दिनेश कार्तिक ने जीत के बाद धोनी के बारे में चौंकाने वाला बयान दिया. कार्तिक ने कहा कि मेरी वजह से धोनी की मुश्किल बढ़ गई थी. 

2/5

मैंने धोनी को मुश्किलें और बढ़ाईं: कार्तिक

I run twos and threes and pushing him: Dinesh Karthik

कार्तिक ने मैच की कठिन परिस्थतियों का हाल बयां करते हुए कहा, "हर किसी ने अधिक से अधिक तरल पेय और पानी लेने की कोशिश की लेकिन धोनी की मांसपेशियों में लगातार खिंचाव आ रहा था. सच्चाई यह है कि वह काफी लंबे समय से बल्लेबाजी कर रहे थे. जब मैं क्रीज पर पहुंचा तो तेजी से रन बनाने का प्रयास किया. मैंने दो रन और तीन रन लेने की कोशिश की और उन्हें भी दौड़ाया. इसलिए, उन्हें उनकी परेशानी और बढ़ गई. मुझे लगता है कि अगली बार हम साथ खेलेंगे, लेकिन धोनी किसी और को अपने साथ खिलाना चाहेंगे जो चौके-छक्के लगा सके. उनके साथ लंबे समय बाद खेलना अच्छा लगा." 

3/5

धोनी के साथ बल्लेबाजी करना अच्छा लगा: कार्तिक

feel good to batting with Dhoni: Karthik

कार्तिक ने कहा कि धोनी के साथ लंबे समय बाद खेलना अच्छा लगा. कार्तिक ने यह भी बताया कि भारतीय टीम प्रबंधन ने उन्हें छठे क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए मैच फिनिशर की भूमिका सौंपी है. कार्तिक ने अपनी सधी हुई बल्लेबाजी पर चर्चा करते हुए कहा, "जाहिर है, मैंने काफी अभ्यास किया है. यह कौशल है और मुझे लगता है कि यह बहुत महत्वपूर्ण है. यह ऐसी कला है जिसमें आपको जरूरत के अनुरूप शांति के साथ काम करना होता है. अनुभव इसमें काफी मदद करता है. मैच फिनिश करना और जीतना इसका अहम हिस्सा है. पावरप्ले, मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी अलग ढंग से होती है. इस दौरान अलग ही तरह चुनौती होती है."

4/5

कोहली ने कहा- चिर-परिचित अंदाज में दिखे धोनी

Tonight was an MS classic : Virat Kohli

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में जीत दर्ज करने के बाद मंगलवार महेन्द्र सिंह धोनी की तारीफ करते हुए कहा कि आज वह अपने चिर-परिचित अंदाज में दिखे. कोहली ने मैच के बाद कहा, "इसमें कोई शक नहीं कि उन्हें इस टीम का हिस्सा होना चाहिए. आज एमएस (धोनी) उस अंदाज में दिखे जिसके लिए जाने जाते हैं. वह खेल की स्थिति का आकलन शानदार तरीके से करते हैं. वह मैच को आखिर तक ले जाते हैं, जहां सिर्फ वही जानते है कि उनके दिमाग में क्या चल रहा है. वह अंतिम ओवरों में बड़े शॉट खेलने का माद्दा रखते हैं."  

5/5

अंतिम ओवर में कोई तनाव नहीं था: कार्तिक

there was not any tension at the last over: Karthik

जब कार्तिक से यह पूछा गया कि अंतिम ओवर में जब भारत को 6 गेंदों पर 7 रन की जरूरत थी, तो क्या इस बात को लेकर कोई तनाव था? इस प्रश्न के जवाब में कार्तिक ने कहा, "नहीं. धोनी और मैं जानते थे कि हमें एक बड़ा शॉट खेलने की जरूरत है. यहां तक कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज भी जानते थे कि उन पर दबाव है. उन्हें छह गेंद ऐसी फेंकनी थीं जो हमें स्कोर करने से रोक सकें, एक गलती उन पर भारी पड़ी. धोनी ने अंतिम ओवर की पहली ही गेंद पर खूबसूरत छक्का लगाकर मैच अपनी मुट्ठी में कर लिया."