close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अगर धोनी अभी संन्यास ले लेते हैं तो जानें क्या-क्या खो देंगे हम

इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में धोनी की प्रदर्शन को लेकर काफी आलोचनाएं हुईं. इसी बीच उनके संन्यास की भी खबरें खूब उड़ीं. लेकिन अगर वे संन्यास लेते हैं तो टीम के लिए उनकी भरपाई करना नामुमकिन होगा. 

विकास शर्मा | Dec 24, 2018, 13:43 PM IST

इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में धोनी की प्रदर्शन को लेकर काफी आलोचनाएं हुईं. इसी बीच उनके संन्यास की भी खबरें खूब उड़ीं. लेकिन अगर वे संन्यास लेते हैं तो टीम के लिए उनकी भरपाई करना नामुमकिन होगा. 

1/5

if MS Dhoni retires now

if MS Dhoni retires now

भारतीय टीम के दिग्गज एमएस धोनी की बल्लेबाजी हमेशा ही आलोचकों के नजर में रहते हैं. हाल ही में आईपीएल में एक बार खुद को साबित करने के बाद इंग्लैंड में वे आशा अनुरूप प्रदर्शन नहीं सके.  वनडे सीरीज में भी उनका बल्ला उस तरह से नहीं चला जिसकी उनके फैंस को उम्मीद रहती है. उनके प्रदर्शन पर आलोचक शुरू ही हुए थे कि तीसरे वनडे के आखिरी वनडे के खत्म होने के बाद अंपायर से बॉल क्या मांग ली. सोशल मीडिया पर उनके संन्यास की अटकलें यूं चली की कोच शास्त्री को कहना पड़ा कि धोनी संन्यास नहीं ले रहे हैं. आइए जाने कि अगर धोनी संन्यास ले लेते हैं तो टीम इंडिया और उसके फैंस क्या क्या खो देंगे.

 

2/5

Dhoni is still a great finisher

Dhoni is still a great finisher

सबसे पहले तो टीम एक बेहतरीन बल्लेबाज जो जरूरत पड़ने पर फिनिशर की भूमिका निभा सके, खो देगी. कोई माने न माने, लेकिन धोनी का रिकॉर्ड और मैदान पर लिए गए फैसलों में उनकी सलाह उनकी अहमियत वक्त बेवक्त साबित होती ही रहती है. पिच के मिजाज के साथ साथ गेंदबाजों के इरादे भांपने में भी धोनी का आज भी पूरी दुनिया में कोई सानी नहीं है. जरूरत के हिसाब से गियर बदल देना धोनी की खासियतों में शुमार हैं जब उनका बल्ला चल निकलता है तब भी धोनी को ताबड़ तोड़ शॉट्स उनकी सोची समझी रणनीति का हिस्सा ही नजर आते हैं. बड़े से बड़ा गेंदबाज धोनी को कहां गेंद की जाए इस उधेड़नबुन से बच नहीं पाता. 

3/5

A great Wicketkeeper

A great Wicketkeeper

एक बेहतरीन विकेट कीपर हैं धोनी. धोनी की खासियत यह रही के वे बतौर विकेटकीपर कभी चर्चा में नहीं आए. क्रिकेट में विकेटकीपर का चर्चा में न आना विकेटकीपर के लिए उपलब्धि ही माना जाता है. कहा जाता है कि इसका मतलब ये है कि विकेट कीपर गलती नहीं कर रहा है यानि बढ़िया काम कर रहा है. धोनी की रिकॉर्ड भी यही कहता है. हाल ही में बतौर विकेट कीपर वे चर्चा में आए क्योंकि उन्होंने वनडे में 300 कैच पूरे किए और वे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एकमात्र विकेटकीपर बने जिन्होंने एक ही मैच में पांच कैच लिए हों. (फोटो : PTI)

4/5

dhoni is role as mentor

dhoni is role as mentor

मैदान में ही उपलब्ध एक मेंटॉर कौन सा खिलाड़ी खोना चाहेगा. टीम इंडिया में धोनी अपने गेंदबाजों के साथ जो अपने अनुभव शेयर करते हैं वे अनमोल होते हैं और मैदान में बीच चल रहे मैच में खासे कारगर भी. इस बात की स्वीकारोक्ति खुद भारत के रिस्ट स्पिनर्स ने की है. इसी साल की शुरुआत में ही दक्षिण अफ्रीका में हुई वनडे सीरीज में सफलता के लिए भारत के रिस्ट स्पिनर्स कुलदीप यादव और यजुवेंद्र चहल दोनों ने धोनी की सलाहों को श्रेय दिया था. 

5/5

dhoni still is captain for many

dhoni still is captain for many

धोनी की कुशल रणनीति के दुनियाभर में लोग कायल हैं जिनमें क्रिकेट के बड़े बड़े पंडित भी शामिल हैं. वहीं धोनी आज भले ही कप्तान नहीं  हों, लेकिन वर्तमान कप्तान विराट कोहली उनकी सलाहों को खासा महत्व देते हैं. मैदान पर कई बार विराट की मौजूदगी में ही धोनी ही कप्तानी करते नजर आते हैं. ऐसा कई बार देखा गया है. पिछले साल के अंत में जब न्यूजीलैंड के साथ टी20 सीरीज के अंतिम मैच में भी ऐसा ही देखने को मिला था जब मैच अंतिम ओवर्स में किसी भी पक्ष में जा सकता था तब विराट कप्तान होने के बाद भी बाउंड्री पर फील्डिंग कर रहे थे और सारे फैसले धोनी ने लिए थे. भारत यह मैच जीतकर सीरीज 2-1 से जीत गया था.