close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'पद्मावत' के बाद अब बढ़ सकती हैं 'झांसी की रानी' की मुश्किलें, रिलीज पर गहराया संकट, ये है कारण

द क्वीन ऑफ झांसी' की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. पहले फिल्म के नाम पर विवाद हुआ, फिर शूटिंग के वक्त कंगना घायल हो गईं. अब फिल्म के रिलीज पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. यहां पढ़ें देश के प्रमुख अखबारों की अहम खबरें. 

Feb 06, 2018, 08:29 AM IST

'पद्मावत' के बाद बॉलीवुड क्वीन कंगना रणौत की फिल्म 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. पहले फिल्म के नाम पर विवाद हुआ, फिर शूटिंग के वक्त कंगना घायल हो गईं. अब फिल्म के रिलीज पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. यहां पढ़ें देश के प्रमुख अखबारों की अहम खबरें. 

 

1/4

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक कंगना रणौत के ड्रीम प्रोजेक्ट फिल्म 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' अब अपने निर्धारित समय जून में रिलीज नहीं हो पाएगी. रानी लक्ष्मीबाई के जीवन पर बन रही इस फिल्म में खूब सारे स्पेशल इफेक्ट्स हैं, जिन्हें पूरा करने में वक्त लगेगा और इस कारण फिल्म अब अगस्त में रिलीज होगी हालांकि फिल्म के निर्माताओं की तरफ से अभी इसकी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है. रिलीज डेट टलने के बाद फिल्म 3 अगस्त को रिलीज होती है तो उसका सामना अर्जुन कपूर और परिणीति चोपड़ा स्टारर 'संदीप और पिंकी फरार' से होगा. अगर स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आई तो अक्षय कुमार की 'गोल्ड' के साथ 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' बॉक्स ऑफिस पर टकराएगी. 

 

2/4

सीबीआई ने गुड़गांव के एक नामी स्कूल में बच्चे की हत्या के मामले में चार्जशीट सोमवार को अडिशनल सेशन जज की कोर्ट में पेश कर दी. इसमें हत्या के केस को ठीक से डील न कर पाने पर गुड़गांव पुलिस पर तमाम सवाल उठाए गए हैं. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक सीबीआई ने चार साल के बच्चे की हत्या के आरोप में पकड़े गए 11वीं के छात्र को ही मुख्य आरोपी बताया है. करीब ढाई हजार पेज की चार्जशीट में कहा गया है कि आरोपी छात्र ने इंटरनेट पर हत्या के तरीकों और फिंगरप्रिंट मिटाने के बारे में सर्च करके वारदात को अंजाम दिया था. बच्चे की हत्या के बाद उसने अपने दोस्त को खुशी-खुशी बताया था कि अब स्कूल में 15 दिन की छुट्टी हो गई है. सीबीआई ने पुलिस द्वारा आरोपी बनाए गए स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को क्लीन चिट दी है. गुड़गांव पुलिस पर आरोप लगाया है कि उसने स्कूल के माली, बस ड्राइवर, टीचरों पर दबाव बनाकर अशोक के खिलाफ बयान दिलवाए.

 

3/4

खाप पंचायत से जुड़े ऑनर किलिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर सख्ती दिखाई है. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्र की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि प्रेमी जोड़े के शादी करने के फैसले में किसी को दखल देने का अधिकार नहीं है, अगर एक प्रेमी जोड़ा सपिंडा या सगोत्रीय शादी कर भी लेता है, तो उस शादी को वैध या अवैध साबित करना कोर्ट का काम है. खाप पंचायत ही क्या परिवार को भी इसमे दखल देने का अधिकार नहीं है. सुप्रीम कोर्ट प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आदेश देगा. सुप्रीम कोर्ट ने इसपर याचिककर्ता और सरकार से सुझाव मांगा है. कोर्ट ने कहा कि कपल की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिस की भी जवाबदेही तय की जाए. कोर्ट अब मामले की अगली सुनवाई 16 फरवरी को करेगा. 

 

4/4

बिहार पुलिस ने नक्सलियों की संपत्ति को यूएपी एक्ट के तहत जब्त करने की मुहिम कई वर्ष पूर्व शुरू की थी. लेकिन इस कानून में कई दिक्कतें हैं. नक्सलियों द्वारा दूसरों के नाम पर खरीदी गई संपत्ति इस कानून के तहत जब्त नहीं हो सकती इसलिए पीएमएल एक्ट का सहारा लिया है. प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट का इस्तेमाल ईडी कर सकती है. नक्सलियों के परिजन या मददगार भी इस कानून के जद में आ सकते हैं. पटना हिन्दुस्तान ब्यूरोसाम्यवादी समाज और दूसरे के बच्चों को क्रांति का सपना दिखानेवाले नक्सली कमांडर खुद के बच्चों को इस तरह की शिक्षा नहीं देते. वे न तो अपने बच्चों को हथियार थमाते हैं न ही व्यवस्था के खिलाफ क्रांति का अलख जगाने को कहते हैं. उन्हें वे अपने से दूर बड़े शहरों के मंहगे स्कूलों में पढ़ाते हैं.