विडंबना: कहीं बेटी के जन्म पर 21 हजार देने का ऐलान, तो कहीं स्कूल में बच्चियों से लगवा रहे झाड़ू

एक ओर केंद्र सरकार ‘बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’ मुहिम चला रही है, वहीं कुछ लापरवाह विद्यालय छात्राओं से झाड़ू लगवाकर इस पर पानी फेर रहे हैं. 

Jul 17, 2018, 11:27 AM IST

एक ओर केंद्र सरकार ‘बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’ मुहिम चला रही है, वहीं कुछ लापरवाह विद्यालय छात्राओं से झाड़ू लगवाकर इस पर पानी फेर रहे हैं. 

1/4

panchayat in ambala village announces 21k for girl child

panchayat in ambala village announces 21k for girl child

अम्बाला: अम्बाला सिटी विधानसभा क्षेत्र के गांव मेतलां की पंचायत ने बेटियों को बचाने की दिशा में सराहनीय काम किया है. पंचायत ने गिरते लिंगानुपात को बराबर लाने के लिए बड़ा कदम उठाया है. दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक, गांव में बेटी के जन्म पर 21 हजार की एफडी कराने का ऐलान किया है. वहीं, कन्या भ्रूण हत्या करवाने वालों की सूचना देने वाले को 11 हजार की नकद राशि दी जाएगी. गांव की सरपंच निशा ने कहा कि हर वर्ष बेटी का जन्मदिन भी पंचायत केक काटकर मनाएगी. 

 

2/4

teachers asked students to clean in palghar school

teachers asked students to clean in palghar school

पालघर: एक ओर केंद्र सरकार ‘बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ’ मुहिम चला रही है, वहीं कुछ लापरवाह विद्यालय छात्राओं से झाड़ू लगवाकर इस पर पानी फेर रहे हैं. नवभारत टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, मुंबई-अहमदाबाद हाइवे के करीब कनेर गांव स्थित जिला परिषद स्कूल में सोमवार सुबह यहां पढ़ने आई छात्राओं से परिसर की साफ-सफाई करवाई गई. शिक्षकों का कहना है कि स्कूल में चपरासी न होने की वजह से छात्राएं काम करती हैं. जानकारी के मुताबिक, पहली से सातवीं कक्षा के इस स्कूल में करीब ढाई सौ छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं. जबकि, स्कूल में मात्र 8 शिक्षक हैं. सोमवार को स्कूल शुरू करने से पहले ही शिक्षिकाओं ने छात्राओं को झाड़ू पकड़ा दी. छात्राएं झाड़ू-पोछा लगाती दिखीं, तो छात्र फावड़े से स्कूल परिसर में कचरा इकट्ठा करते नजर आए.

 

3/4

Fatwa against nida khan who spoke against triple talaq and halala

Fatwa against nida khan who spoke against triple talaq and halala

बरेली: तीन तलाक और हलाला के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाली निदा खान के खिलाफ दरगाह आला हजरत से फतवा जारी हुआ है. दैनिक जागरण में छपी खबर के मुताबिक, उन्हें इस्लाम से खारिज कर काफिर करार दे दिया गया है. शहर काजी मौलाना असजद रजा खां कादरी द्वारा जारी फतवा में कहा गया है कि जो कुरान और हदीस के खिलाफ बोलता है वह इस्लाम से खारिज हो जाता है. मुसलमानों से कहा कि वे निदा से ताल्लुकात खत्म कर लें. मरने के बाद उनके जनाजे में नहीं जाएं. कब्रिस्तान में दफनाने भी न दिया जाए. वहीं, निदा ने शहर काजी पर जवाबी हमला बोला. तौबा से इन्कार करते हुए कहा कि पहले तो फतवा देने वालों को तौबा करनी चाहिए.

 

4/4

Man gives triple talaq to wife when she gave birth to girl child

Man gives triple talaq to wife when she gave birth to girl child

शामली: सुप्रीम कोर्ट ने भले ही कानून बनाए जाने तक तीन तलाक को असंवैधानिक करार दे दिया हो, लेकिन तलाक के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं. राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक, यूपी के शामली में एक महिला ने बेटी को जन्म दिया तो उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया. इतना ही नहीं पति ने बेटी सहित पत्नी को घर से निकाल दिया. अब पीड़िता ने आरोपी पति के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज कराया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. खबर के मुताबिक महिला की शादी डेढ़ साल पहले शाहिद से हुई थी. महिला ने पति और ससुराल वालों पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है.