हादसे के 110 साल बाद फिर समुद्र में उतरेगा 'टाइटैनिक', जानें इसकी खास बातें

यहां हम आपको देश के अखबारों में छपी अन्य खबरों से रू-ब-रू करवा रहे हैं. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Oct 25, 2018, 12:58 PM IST

टाइटैनिक में 2400 यात्री और 900 चालक दल के सदस्य थे. टाइटैनिक-2 में भी इतने ही लोग होंगे.

1/4

जिस रास्ते हादसे का शिकार हुआ टाइटैनिक, उसी रास्ते पर चलेगा टाइटैनिक-2

An Australian business tycoon to build titanic 2

नई दिल्ली: कभी दुनिया का सबसे विशाल जहाज रहा टाइटैनिक हादसे के ठीक 110 साल बाद 2022 में फिर से समुद्र की लहरों से टकराएगा. इस बार इसका नाम टाइटैनिक-2 रखा होगा. द टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया के एक बिजनेस टाइकून फिर से टाइटैनिक का निर्माण करवाना चाहते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक यह जहाज 2022 में समुद्र में उतरेगा और उसी रास्ते पर चलेगा जिस रास्ते पर चलते हुए टाइटैनिक-1 हादसे का शिकार हुआ था. टाइटैनिक में 2400 यात्री और 900 चालक दल के सदस्य थे. टाइटैनिक-2 में भी इतने ही लोग होंगे. नए टाइटैनिक में आधुनिक नेविगेशन और रडार उपकरण लगे होंगे जिससे संभावित हिमखंडों को पहले से ही देखा जा सके. पहले के जहाज की तुलना में अधिक लाइफबोट होंगीं. आपको बता दें कि 1912 में टाइटैनिक हिमखंड से टकराने के बाद ही दो हिस्सों में बंट गया था.

2/4

बिना गलती 23 साल तक दहेज का मुकदमा झेला

man gets clean chit after 22 years of dowry case

नई दिल्ली: दहेज उत्पीड़न के 22 साल पुराने मामले में कोर्ट ने 45 साल के व्यक्ति को आरोपों से बरी कर दिया है. विडंबना यह है कि बिना किसी गलती के एक व्यक्ति को 23 साल तक मुकदमा झेलना पड़ा. हिंदुस्तान अखबार की खबर के मुताबिक, रोहिणी स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश विनोद कुमार की कोर्ट ने फैसले में कहा कि 23 साल पहले वर्ष 1995 में केदार नामक युवक पर उसकी भाभी द्वारा किए गए दहेज के केस में कहीं भी घटना के दिन-समय का जिक्र नहीं है. यह आरोप भी साबित नहीं हुआ कि उसने भाभी का कैसे उत्पीड़न किया. प्राथमिकी में सिर्फ 12 लोगों के नाम जोड़ दिए गए. मामले में पुलिस ने आठ लोगों को गवाह भी बनाया था. महिला ने आरोप लगाया था कि शादी के बाद ससुराल वाले उससे रंगीन टीवी व वीसीआर लाने की मांग कर रहे थे. उससे एक लाख नकद भी मांगे गए.

 

3/4

छात्रों को गांजा बेचने के जुर्म में दो सुरक्षा गार्ड गिरफ्तार

2 security guards held for allegedly selling weed in university premises

ग्रेटर नोएडा: ग्रेटर नोएडा स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी से पुलिस ने दो सुरक्षा गार्डों को गांजा बेचने के जुर्म में गिरफ्तार किया है. आरोप है कि सुरक्षा गार्ड काफी समय से छात्र-छात्राओं को गांजा बेच रहे थे. द इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक नॉलेज पार्क पुलिस ने बताया कि दोनों गार्ड नॉलेज पार्क स्थित एमिटी कॉलेज में तैनात थे. उनकी पहचान संतोष सिंह निवासी गुर्जरपुर और नवीन मिश्र निवासी सुत्याना के रूप में हुई है. कोतवाली प्रभारी अरविंद पाठक ने बताया कि आरोपी संतोष सिंह के पास से 1.2 किलो गांजा बरामद किया गया है. जानकारी के मुताबिक, आरोपी तस्करों से 20 हजार रुपये प्रति किलो की दर से गांजा खरीदते थे और उसे 200 रुपये प्रति चार ग्राम के हिसाब से छात्र-छात्राओं को बेचते थे.

 

4/4

खत्म होगा 14 साल का इंतजार, 4 नवंबर को शुरू होगा सिग्नेचर ब्रिज

signature bridge to be inaugurated on November 4

नई दिल्ली: वजीराबाद में यमुना पर बन रहे जिस सिग्नेचर ब्रिज का जनता 14 साल से इंतजार कर रही है, उसका उद्घाटन 4 नवंबर को होगा. दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक, ब्रिज का उद्घाटन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल करेंगे. सिग्नेचर ब्रिज के मुख्य पिलर की ऊंचाई 154 मीटर है. ब्रिज पर 19 केबल हैं, जिन पर ब्रिज का 350 मीटर भाग बिना किसी पिलर के रोका गया है. पिलर के ऊपरी भाग में चारों तरफ शीशे लगाए गए हैं. लिफ्ट के जरिए जब लोग यहां पहुंचेंगे तो उन्हें यहां से दिल्ली का टॉप व्यू देखने को मिलेगा. आपको बता दें कि परियोजना पर 14 साल में काम पूरा हुआ है. वर्ष 2004 में यह योजना बनाई गई थी, जिसे 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों से पहले पूरा किया जाना था.