close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsAUS: विराट ने सिडनी में की थी पहली बार टेस्ट कप्तानी, ऐसे बदली टीम की तस्वीर

विराट कोहली ने साल 2014 में अपने टेस्ट करियर के जिस पहले मैच में कप्तानी की थी, वह सिडनी में ही हुआ था. 

विकास शर्मा | Jan 02, 2019, 18:31 PM IST

सिडनी: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीतना काफी बड़ी उपलब्धि होगी क्योंकि इसी मैदान से उनकी कप्तानी में टीम में बदलाव के दौर की शुरुआत हुई थी. विराट कोहली ने चार साल पहले ही सिडनी में पहली बार टीम इंडिया के लिए टेस्ट टीम की कप्तानी संभाली थी.  विराट ने इन चार सालों में कितना बदलाव हुआ इस पर चर्चा भी की. गुरुवार को शुरू होने वाले सिडनी टेस्ट में विराट कोहली के पास ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने का सुनहरा मौका है. टीम ने अब तक ऑस्ट्रेलिया में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है. 

1/7

चार साल में यह बदलाव ला दिया विराट ने

Virat changed the team

कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास लेने के बाद चार साल पहले इसी मैदान भारतीय टेस्ट कप्तान के रूप में जिम्मेदारी संभाली थी. भारत तब दुनिया की सातवें नंबर की टीम था और अब इस प्रारूप में दुनिया की नंबर एक टीम हैं. भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘इसी जगह पर जब महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी छोड़ी (2014 में) थी और हमारी टीम काफी युवा थी, दुनिया की छठे या सातवें (टेस्ट रैंकिंग) नंबर की टीम. हम यहां दुनिया की नंबर एक टीम के रूप में वापस आए हैं और हम इस विरासत को आगे बढ़ाना चाहते हैं.’’  (फोटो: Reuters)

2/7

यहां जीतना मुश्किल है

Difficult to Win in Australia

कोहली ने गुरुवार से शुरू होने चौथे और अंतिम टेस्ट की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘सिर्फ चार साल हुए हैं (मुझे कप्तानी संभाले). अगर सिडनी टेस्ट में जीत मिलती है तो यह शानदार होगा क्योंकि मैं तीसरी बार यहां टेस्ट दौरे पर आया हूं और मुझे पता है कि यहां जीतना कितना मुश्किल है.’’ भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘आप ऑस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं लेकिन टीम के रूप में जीत दर्ज करना हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती रही है. ईमानदारी से कहूं तो पिछले दो दौरों के व्यक्तिगत प्रदर्शन किसी को याद भी नहीं हैं.’’ (फोटो: Reuters)

3/7

यह अहमित होगी जीत की

The win has huge importance

कोहली ने कहा कि अंतिम टेस्ट जीतना प्रदर्शन में निरंतरता हासिल करने की तरफ एक और कदम बढ़ाना होगा. उन्होंने कहा, ‘‘आपका नाम भले ही सम्मान के साथ बोर्ड पर लिखा हो लेकिन अगर आपकी टीम जीत दर्ज नहीं करती तो यह मायने नहीं रखता. अब तक यह बड़ी चीज है, बड़ी सीरीज जीत, सिर्फ मेरे लिए ही नहीं लेकिन पूरी टीम के लिए भी क्योंकि इसी स्थान पर हमने बदलाव के दौर की शुरुआत की थी.’’ (फोटो: Reuters)

4/7

जीतना ‘जुनून’ बन गया है

It has become Passion

कोहली ने कहा कि उनकी टीम के लिए जीतना ‘जुनून’ बन गया है. उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप देखो तो पिछले मैच में अंतिम विकेट गिरने के बाद सभी की भावनाएं सामने आ गई, यहां तक कि सबसे कम बोलने वाले खिलाड़ियों की भी क्योंकि हमें पता है कि एक टीम के रूप में अगर आप एक दिशा में जोर लगाते हो तो चीजें सही होती हैं. और यह जुनून होना चाहिए.’’ कोहली ने कहा, ‘‘अगर यह जुनून है तो एक-दो मैचों में नहीं रुकेगा. अगर यह लक्ष्य है तो यह एक या दो मैचों में रुक जाएगा.’’ (फोटो: PTI)

5/7

बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी पर टीम इंडिया का कब्जा बकरार

Team India retains Border Gavaskar Trophy

टीम इंडिया चार मैचों की सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त के साथ बोर्डर-गावस्कर ट्राफी को अपने पास बरकरार रखना तय कर चुकी है. हालाकि अभी टीम इंडिया ने सीरीज नहीं जीती है, अगर सिडनी में टीम इंडिया हार भी जाती है तो सीरीज 2-2 से बराबर हो जाएगी और ऐसे में ट्रॉफी उसी टीम के पास रहती है जिसने पिछली सीरीज जीती हो. साल 2017 में भारत में हुई दोनों देशों के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज टीम इंडिया ने 2-1 से जीती थी. इस सीरीज का एक मैच ड्रॉ रहा था.

6/7

यह रिकॉर्ड रहा है अब तक भारत का ऑस्ट्रेलिया में

The Indian Record in Australia

ऑस्ट्रेलिया 1947-48 से भारत की मेजबानी कर रहा है. टीम इंडिया ने इस दौरान 1980-81, 1985-86 और 2003-04 में सीरीज ड्रा कराई जबकि 1967-68, 1977-78, 1991-92, 1999-2000, 2007-08, 2011-12 और 2014-15 में उसे हार का सामना करना पड़ा.

7/7

इस तरह से खास रही ये सीरीज

This series is different than others till now

इस सीरीज में पहली बार ऐसा हुआ कि टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में किसी टेस्ट सीरीज का पहला मैच जीता. विराट की कप्तानी में टीम इंडिया ने इस सीरीज का एडिलेड में हुआ पहला टेस्ट मैच जीत कर  इतिहास रचा. इसके बाद मेलबर्न में तीसरा टेस्ट मैच जीतने के बाद पहली बार हुआ था कि ऑस्ट्रेलिया में किसी टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया को बढ़त मिली हो. (फोटो: Reuters)