close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IPL 2019: पहला ओवर मेडन खेलने के बाद अकेले शेन वॉटसन ने ही छीन लिया हैदराबाद से मैच

हैदराबाद ने चेन्नई को जीत के लिए 176 रनों का लक्ष्य दिया था, लेकिन शेन वॉटसन ने पहले ओवर ही मेडन खेल दिया जिससे चेन्नई के फैंस की टेंशन बढ़ गई थी.

विकास शर्मा | Apr 24, 2019, 09:31 AM IST

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में चेन्नई की टीम ने पिछले दो मैचों में हार के बाद शानदार वापसी की. पिछले दो मैचों में से एक में तो कप्तान एमएस धोनी खेल ही नहीं सके थे और दूसरे मैच में वे अकेले पड़ने के बाद भी टीम को जीत के काफी करीब ले गए थे, लेकिन टीम को केवल एक रन से हार का सामना करना पड़ा. अब मुकालबा हैदराबाद जैसी तगड़ी टीम से था, लेकिन इस मैच में शेन वॉटसन ने बेहतरीन पारी खेली और अपना फॉर्म वापस हासिल करते हुए टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया.

1/9

टॉप पर आने के बाद बिखरने लगी थी चेन्नई

Chennai was loosing its Streak

इस सीजन में चेन्नई की टीम ने बढ़िया मैच खेले और सबसे पहले छह और सात मैच जीतने वाली टीम तो बन गई, लेकिन यहां तक टीम की धोनी पर निर्भरता बढ़ गई. धोनी ने हैदराबाद के ही खिलाफ एक मैच मिस किया तो टीम पूरी तरह से बिखर गई और उसे करारी हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद बेंगलुरू के खिलाफ एक रन से हार पर धोनी ने टीम के (खासकर टॉप ऑर्डर के) बल्लेबाजों को फिनिशर बनने की नसीहत दी थी. (फोटो: PTI)

2/9

हैदराबाद के खिलाफ आसान नहीं था मुकाबला

Fight with Hyderabad

इस सीजन में हैदाराबाद की टीम पहले ही चेन्नई को हरा चुकी थी. टॉस जीत कर धोनी ने पहले गेंदबाजी को चुना लेकिन डेविड वार्नर ने एक बार फिर हैदराबाद को शानदार शुरूआत दी और मनीष पांडे ने 82 रनों की नाबाद तूफानी पारी खेलकर चेन्नई के लिए 176 रनों का लक्ष्य रखा. यह लक्ष्य हैदराबाद की गेंदबाजी को देखते हुए बहुत ही मुश्किल था. (फोटो: IANS)

3/9

पहला ओवर शेन वॉटसन ने खेला मेडन

First over maiden

जैसा कि उम्मीद थी की हैदराबाद के बॉलर्स चे्न्नई को यह लक्ष्य आसानी से हासिल करने नहीं देंगे. हुआ भी यही. पहला ओवर भुवनेश्वर ने बहुत ही शानदार डाला और अपनी इनस्विंग और आउट स्विंग से वॉटसन को परेशान कर दिया और वे तीन बार भुवी की गेंद पर पूरी तरह से बीट हो गए. वॉटसन के चहरे पर हैरानी के भाव साफ पढ़े जा सकते थे, लेकिन वे तय करके आए थे वे जल्दबाजी में विकेट नहीं गवाएंगे. (फोटो: IANS)

4/9

पहले ओवर के दबाव से रन आउट

The run out

पहला ओवर मेडन होने के बाद दूसरे छोर पर फाफ डु प्लेसिस को भी गेंदें खेलने में परेशानी हुई. स्कोर 2 ओवर के बाद 2 रन ही थी तीसरे ओवर की पहली गेंद पर वॉटसन ने एक रन लिया. इसके बाद फाफ को एक डॉट बॉल खेलनी पड़ी. दबाव बढ़ ही रहा था स्ट्राइक रोटेट करना मुश्किल था. तीसरी गेंद पर फाफ ने रन लेने की ठान ली. उन्होंने मिड ऑन पर एक तेज शॉट खेला और रन के लिए दौड़ गए. वहां खड़े दीपक हुड्डा ने सटीक थ्रो से फाफ को रन आउट कर दिया. (फोटो: IANS)

5/9

वॉटसन को मिला रैना का साथ

Watson get raina help

फाफ की जगह आए सुरेश रैना ने आते ही अपनी पहली गेंद पर चौका जड़कर वॉटसन को राहत दी. इसके बाद वॉटसन ने भी हाथ खोले और चौके लगाने शुरू कर दिए. वॉटसन ने पहले शाकिब उल हसन के ओवर में चौके से शुरूआत की. इसके अगले ही ओवर में उन्होंने खलील अहमद को एक चौका और एक छ्क्का लगा दिया. छठे ओवर रैना ने ताबड़तोड़ 22 रन ठोंक डाले और टीम का स्कोर पावरप्ले खत्म होने तक 49 रन कर दिया. (फोटो: PTI)

6/9

रैना की शानदार पारी

Raina superb innings

पावरप्ले के बाद रैना और वाटसन ने हर ओवर में कम से कम एक बाउंड्री बटोरी, लेकिन 10वें ओवर में सुरेश रैना बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में राशिद खान की गेंद पर स्टंप आउट हो गए. उन्होंने एक छक्का और छह चौकों की मदद से केवल 24 गेंदों पर शानदार 38 रन बनाए. इसके बाद बल्लेबाजी करने आए अंबाती रायडू रैना की तरह खुल कर नहीं खेल पा रहे थे. 10 ओवर के बाद चेन्नई का स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 80 रन हो गया था अब भी टीम को 60 गेंदों में 91 रन चाहिए थे. (फोटो: IANS) 

7/9

वॉटसन की हाफ सेंचुरी

Watson half Century

यहां से वॉटसन ने जिम्मेदारी उठाने में देर नहीं लगाई और 12वां ओवर फेंक रहे संदीप शर्मा के ओवर में दो चौके और एक छक्के लगाकर 19 रन बटोर कर अपनी हाफ सेंचुरी भी पूरी कर ली. इसके बाद 13वें ओवर में उन्होंने रायडू के साथ मिलकर टीम का स्कोर 100 के पार किया. पर चेन्नई को अब भी बड़े ओवर की जरूरत थी.  यहां 14वें ओवर में राशिद खान को भी वॉटसन ने नहीं बक्शा और उनके ओवर में 16 रन निकाल लिए. (फोटो: PTI)

8/9

करियर के 8000 रन

8000 runs in IPL

15वें ओवर में भुवनेश्वर कुमार की वापसी भी वाटसन को नहीं रोक सकी और उन्होंने इस ओवर में चार गेंदों में दो चौके लगाकर 10 रन निकाले और टीम का स्कोर 135 कर दिया. इसके साथ ही उनके आईपीएल करियर में 8000 रन पूरे हो गए. अब चेन्नई को जीत के लिए 30 गेंदों पर 40 रन हो गया था. लेकिन वॉटसन यहां नहीं रुके क्योंकि वे जानते थे कि हैदराबाद के बॉलर्स आसानी से इतने रन रोक सकते हैं. (फोटो: IANS)

9/9

जीत की दहलीज पर पहुंचाया वाटसन ने

Watson bring Chennai near to win

16वें ओवर में वॉटसन ने एक बार फिर राशिद खान को अपना शिकार बनाया और एक छक्का और एक चौका लगाकर 15 रन बटोर लिए. 17 ओवर तक  चेन्ऩई को जीत के लिए 18 गेंदों पर केवल 16 रनों की दरकार थी. वॉटसन ने अपनी टीम को जीत के करीब पहुंचा दिया था. वे मैच फिनिश करना चाहते थे, लेकिन वे 18वें ओवर में भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर जॉनी बेयरस्टॉ को कैच दे बैठे. उन्होंने 96 रन केवल 53 गेंदों की मदद से छह छक्कों और 9 चौकों की मदद से बनाए. आखिरी ओवर में जीत के लिए जरूरी 9 रन रायडू और केदार जाधव ने बना लिया, जबकि रायडू आखिरी ओवर में आउट हो गए थे. (फोटो: PTI)