close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांवड़ यात्रा: भोले के भक्तों का विहंगम नजारा, हर की पौड़ी में तिल भर भी नहीं बची जगह

हरिद्वार में कांवड़ यात्रा जोर-शोर से चल रही है. पंचक खत्म होने के बाद डाक कावड़ का जोर पूरे हरिद्वार क्षेत्र में दिखाई दे रहा है. बाबा भोलेनाथ के दर्शन करने और जल भरने के लि कावड़िए हरिद्वार में उमड़ गए हैं. 

आंकड़ों के मुताबिक, सावन के महीने में अब तक ढाई करोड़ से ज्यादा भक्त गंगाजल भरकर अपने-अपने शहरों की ओर कूच कर चुके हैं. आम कावड़ियों के बाद हरिद्वार में डाक कावड़ियों की भीड़ देखी जा रही है. डाक कावड़ यात्रा के दौरान हरिद्वार से जो तस्वीरें सामने आई है वो वाकई चकित कर देने वाली है. 

1/5

10 लाख वाहनों के आने का अनुमान

Estimation of arrival of 10 million vehicles

प्रशासनिक अधिकारियों का अनुमान है कि इस बार डाक कावर में 10 लाख से ज्यादा वाहन हरिद्वार आएंगे. ऋषिकेश, दिल्ली और हरिद्वार जाने वाले रास्तों पर सिर्फ कावड़ियों की ही भीड़ दिखाई दे रही है. 

2/5

अपने कस्बों की ओर निकले कावड़िए

Go to your towns

हरिद्वार प्रशासन की मानें तो अभी तक करीब 6 लाख वाहन हरिद्वार में प्रवेश कर चुके हैं. डाक कावड़ में कांवड़िए पूरे जत्थे के साथ गाड़ियों में भरकर हरिद्वार पहुंचते हैं और यहां से हर की पौड़ी का पवित्र गंगाजल लेकर अपने गांव, कस्बों और मंदिरों के लिए निकलते हैं. 

3/5

शिवरात्रि के दिन अर्पित होता है जल

Water is offered on Shivratri

शिवरात्रि के पवित्र दिन भगवान भोलेनाथ का इस गंगाजल से अभिषेक करने की मान्यता है. इस बीच पूरे मार्ग में कांवडियों के आने का सिलसिला और तेजी पकड़ चुका है. 

 

4/5

इन राज्यों में कावड़ यात्रा का चलन

The practice of Kawad travel in these states

कांवड़ यात्रा के बेहतर संचालन के लिए उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और हरियाणा के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की यात्रा शुरू होने से पहले कई बार बैठकें हुई. इन बैठकों में डाक कावड़ में भारी म्यूजिक सिस्टम ना लगे होने को लेकर रणनीति बनी. लेकिन इस बार भी हर साल की तरह कावड़ियों के जत्थे गाड़ियों में भारी साउंड सिस्टम के साथ हरिद्वार तक पहुंचे हैं. 

5/5

नीलकंठ मंदिर में पहुंच रही है कांवड़ियों की भीड़

Nakkanth is reaching the temple

उत्तराखंड के महानिदेशक (कानून व्यवस्था) अशोक कुमार ने कहा कि इस समय कावड़ियों की भारी भीड़ हरिद्वार और ऋषिकेश के पास नीलकंठ मंदिर में पहुंच रही है. पुलिस ने तमाम जगह ऐसी बैरिकेडिंग की है ताकि कावड़िए ऋषिकेश शहर देहरादून और मसूरी में ना जा पाए. कांवड़ यात्रा के दौरान दिल्ली हरिद्वार हाईवे पूरी तरीके से बाधित रहता है इस कारण दिल्ली जाने वाले यात्रियों को अच्छी खासी परेशानी उठानी पड़ती है. इस समय दिल्ली जाने वाले लोग देहरादून से पोंटा साहिब, करनाल, यमुना कॉलोनी होते हुए दिल्ली पहुंच रहे हैं. अब अगले 3 दिन कावड़ यात्रा अपने चरम पर रहेगी.