विश्वकर्मा पूजा 2019: जानिए क्यों मनाई जाती है विश्वकर्मा जयंती, क्या है इसका महत्व

मान्यता है कि समस्त देवी-देवताओं और भगवानों के महलों और अस्त्र-शस्त्र का निर्माण भगवान विश्वकर्मा ने किया था और यही कारण है कि भगवान विश्वकर्मा को शिल्पी भी कहा जाता है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Sep 18, 2019, 10:38 AM IST

हमारे देश में हर साल 17 सितंबर को विश्वकर्मा जयंती मनाई जाती है. मान्यता है कि इस दिन निर्माण के देवता भगवान विश्कर्मा का जन्म हुआ था. यही कारण है कि आज के दिन संपूर्ण भारत में विश्वकर्मा जयंती मनाई जाती है. भगवान विश्वकर्मा की पूजा एक वास्तुकार के रूप में होती है, तभी इस दिन औजार, मशीन और दुकानों की पूजा भी की जाती है. वैसे तो वर्तमान समय में भवन, बड़ी बिल्डिंग का निर्माण का कार्य इंजीनियर करते हैं, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि सतयुग में स्वर्गलोक, त्रेतायुग में लंका, द्वापर में द्वारका और कलयुग में जगन्नाथ मंदिर का निर्माण किसने किया ? या फिर देवताओं के भवन, महल और उनके अस्त्र-शस्त्र किसने बनाए. मान्यता है कि समस्त देवी-देवताओं और भगवानों के महलों और अस्त्र-शस्त्र का निर्माण भगवान विश्वकर्मा ने किया था और यही कारण है कि भगवान विश्वकर्मा को शिल्पी भी कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि भगवान विश्वकर्मा पूरे ब्रह्माण के पहले इंजीनियर थे.

1/7

अस्त्र-शस्त्र और कारखानों की पूजा

Know why we celebrate Vishwakarma Jayanti

भगवान विश्वकर्मा के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में आज लोग अपने-अपने कार्यालय, फैक्ट्रियां और मशीनों की पूजा करते हैं. इसके साथ ही अस्त्र-शस्त्र और रोजगार या आपके पेशेवर जीवन में काम आने वाली मशीनों की भी पूजा कर सकते हैं.

2/7

ऋग्वेद में भी भगवान विश्वकर्मा का उल्लेख

Know why we celebrate Vishwakarma Jayanti

बता दें ऋग्वेद में भी भगवान विश्वकर्मा का उल्लेख मिलता है. ऋग्वेद में भगवान विश्वकर्मा का उल्लेख 11 ऋचाएं लिखकर किया गया है. ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान विश्वकर्मा के पूजन के शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और आध्यात्मिक महत्व के बारे में.  (फोटो साभारः twitter/@anilpusadkar)

3/7

भगवान विश्वकर्मा पूजा

Know why we celebrate Vishwakarma Jayanti

कहते हैं भगवान विश्कर्मा ही ऐसे देवता हैं जिन्होंने हर काल में सृजन के देवता रहे हैं. सम्पूर्ण सृष्टी में जो भी चीजें सृजनात्मक हैं, जिनसे जीवन संचालित होता है वह सब भगवान विश्कर्मा की देन है.  (फोटो साभारः twitter/@gautamhere)

4/7

सृजन के देवता भगवान विश्वकर्मा

Know why we celebrate Vishwakarma Jayanti

ऐसे में भगवान विश्कर्मा की पूजा कर उन्हें उनके सृजन के लिए धन्यवाद दिया जाता है. कहते हैं सृष्टि में जिन कर्मों से जीवन संचालित होता है उन सभी के मूल में भगवान विश्कर्मा हैं. (फोटो साभारः twitter/@Amitchaudhary)

5/7

विश्वकर्मा जयंती

Know why we celebrate Vishwakarma Jayanti

भगवान विश्कर्मा की पूजा से व्यक्ति में नई ऊर्जा का संचार होता है और आने वाली सभी समस्याएं और रुकावटें दूर होती हैं. (फोटो साभारः twitter/@gunjan47)

6/7

ब्रह्मा के सातवें धर्म पुत्र हैं भगवान विश्वकर्मा

Know why we celebrate Vishwakarma Jayanti

बता दें भगवान विश्वकर्मा को शिव का अवतार भी माना जाता है. शास्त्रों के मुताबिक भगवान विश्वकर्मा सृष्टि के रचयिता ब्रम्हा के सातवें धर्म पुत्र हैं इसीलिए इनकी पूजा ब्रम्हपुत्र के रूप में भी की जाती है.  (फोटो साभारः twitter/@Ankurmalviya6)

7/7

भगवान विश्कर्मा का जन्मदिवस

Know why we celebrate Vishwakarma Jayanti

धार्मिक मान्यताओं के अुनसार 17 सितंबर को ही भगवान विश्वकर्मा ने जन्म लिया था, इसीलिए 17 सितंबर को विश्वकर्मा जयंती के रूप में मनाया जाता है.  (फोटो साभारः twitter/@ncuicoop)