कॉमनवेल्थ में मेडल का 'चौका' लगाने वाली इस खिलाड़ी ने खेल के लिए ठुकराई मॉडलिंग

नई दिल्ली : कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय फैंस को इस बार सबसे ज्यादा टेबल टेनिस के खिलाड़ियों ने आश्चर्यचकित किया है. इसी गेम्स में देश को पदकों की उम्मीद बहुत कम थी, लेकिन इस बार इस गेम्स में भारत को चार चार पदक मिले. जिसमें पहली बार मिला गोल्ड भी शामिल है.

Apr 16, 2018, 12:13 PM IST

नई दिल्ली : कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय फैंस को इस बार सबसे ज्यादा टेबल टेनिस के खिलाड़ियों ने आश्चर्यचकित किया है. इसी गेम्स में देश को पदकों की उम्मीद बहुत कम थी, लेकिन इस बार इस गेम्स में भारत को चार चार पदक मिले. जिसमें पहली बार मिला गोल्ड भी शामिल है.

1/7

manika

सबसे ज्यादा खुशी दी भारत की नंबर वन खिलाड़ी और अब घर घर में टेबल टेनिस की पहचान बनीं मनिका बत्रा ने. उन्होंने खुद के लिए गोल्ड जीता ही अपने देश को इस इवेंट में चार चार पदक दिलाए.

2/7

manika batra

22 साल की मनिका ने टेबल टेनिस के सिंगल्स में गोल्ड जीता. महिलाओं की टीम इवेंट में गोल्ड, महिला डबल्स मुकाबले में सिल्वर और मिक्स्ड डबल्स में ब्रॉन्ज मेडल जीता. यानी उनकी झोली में दो गोल्ड, एक सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल आया.

3/7

manika batra

दिल्ली के नारायणा विहार की रहने वाली मनिका का जन्म 15 जून 1995 को हुआ. चार वर्ष की उम्र में ही उन्होंने टेबल टेनिस खेलना शुरू कर दिया.

4/7

manika batra

कहा जाता है कि उन्हें शुरुआती दौर में मॉडलिंग के कई अवसर मिले, लेकिन उन्होंने मॉडलिंग को नहीं बल्कि खेल को चुना. इतना ही नहीं उन्होंने 16 साल की उम्र में स्वीडन में पीटर कार्लसन अकादमी में प्रशिक्षण की स्कॉलरशिप को भी ठुकरा दिया.

5/7

manika batra

2011 में मनिका बत्रा ने चिली ओपन में अंडर-21 श्रेणी का सिल्वर मेडल अपने नाम किया. उन्होंने 2014 राष्ट्रमण्डल खेलों तथा 2014 एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया जहाँ क्रमशः वह क्वार्टरफाइनल तथा तीसरे दौर तक पहुँच सकी.

6/7

manika batra

लेकिन 2018 के कॉमनवेल्थ में उन्होंने अपने खेल से सभी को चकित कर दिया. पहली बार उन्होंने यहां पर भारत को गोल्ड मेडल दिलाया.

7/7

manika batra nail paint

ऑस्ट्रेलिया के गोल्डकोस्ट में जब वह गोल्ड के लिए खेल रही थीं, तब उन्होंने तिरंगे के रंगों वाला नेलपेंट लगा रखा था. इसके लिए सोशल मीडिया पर उनकी जमकर तारीफ हुई. इससे पहले रियो ओलंपिक और अन्य मुकाबलों में भी वो ऐसा कर चुकी हैं.