जहां मुमताज ने शाहजहां की बाहों में ली थी अंतिम सांस, पर्यटकों के लिए खुलेगा वह किला

जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

Jan 28, 2018, 09:29 AM IST

नई दिल्ली: अपने NRI पाठकों के लिए ZEE News Hindi ने एक नई शुरुआत की है. जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

1/6

Interesting News for NRI readers

बुरहानपुर: बुरहानपुर की नायाब इमारतों में से एक शाही किला 25 साल बाद पर्यटकों के लिए फिर से खोला जाएगा. खबर में बताया गया है कि इस बुलंद इमारत को छठी-सातवीं शताब्दी में आदिल शाह फारुकी बादशाह ने बनवाया था. इसके साथ ही खबर में इस बात का भी दावा किया गया है कि मुमताज बेगम ने इसी महल में अपनी 14वीं संतान को जन्म दिया था. 6 जून 1631 की सुबह शाहजहां की गोद में मुमताज ने यहीं अंतिम सांस ली थी. खबर के मुताबिक इस महल की छत चांदनी के नाम से प्रसिद्ध है जबकि दीवारें नौगजी के नाम से जानी जाती हैं. इस किले में भी आगरा और दिल्ली की तरह दीवान-ए-आम और दीवान-ए-खास बनवाया था.

2/6

Interesting News for NRI readers

रायपुर: 895 साल पुराने पुरी के जगन्नाथ मंदिर में पहली बार बड़ा बदलाव किया जा रहा है. मंदिर के गर्भगृह से लगे जगमोहन मंदिर में चल रहा काम फरवरी तक पूरा हो जाएगा उसके बाद इसे श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जाएगा. दैनिक भास्कर में छपी एक खबर के मुताबिक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने अपने सर्वे के बाद पाया था कि जगमोहन मंदिर के अंदर पिलर्स के ऊपर टिका पत्थर का एक टुकड़ा गिर गया है, इसे लेकर चेतावनी दी गई कि अगर समय रहते मरम्मत नहीं की गई तो मंदिर गिर सकता है. इसे हाई रिस्क माना गया. अब करीब 160 टन स्टील से बने बेस से मंदिर को अंदर से सहारा दिया जा रहा है. इससे मंदिर का भार सैकड़ों साल पुराने पिलर्स से हटकर स्टील पर आ जाएगा.

3/6

Interesting News for NRI readers

जोधपुर: दैनिक भास्कर के रविवार के अंक में एक छपी खबर में बताया गया है कि जोधपुर के शेरगढ़ थाने में एक मंदिर सिर्फ इसलिए अधूरा पड़ा है क्योंकि थानाध्यक्षों को अपने तबादले का डर सताता रहता है. खबर के मुताबिक बात 1982 की है. तब जोधपुर जिले के शेरगढ़ थाने में कपूराराम मेघवाल थानाधिकारी थे. उनकी तीन बेटियां थीं, बेटे की चाह में ज्योतिषी की सलाह पर उन्होंने थाने में लोकदेवता बाबा रामदेव के मंदिर का निर्माण शुरू करवाया. लेकिन, कुछ दिन बाद ही उनका ट्रांसफर जोधपुर हो गया. तब से आज 35 साल हो गए अधूरा निर्माण जस का तस पड़ा है. इन सालों में 31 थानाधिकारी आए-गए, लेकिन किसी ने भी मंदिर पूरा नहीं बनवाया. क्योंकि पुलिस वालों में मान्यता है कि मंदिर का मुख्य द्वार गलत दिशा में है. इस कारण जो भी थानाधिकारी निर्माण शुरू करवाएगा, उसका तबादला हो जाएगा.

4/6

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: हिन्दुस्तान के रविवार के अंक में छपी एक खबर के मुताबिक ऑक्सफोर्ड डिक्शनरीज ने अंग्रेजी की तरह पहली बार वर्ष का हिंदी शब्द घोषित किया है. खबर के मुताबिक शनिवार को जयपुर साहित्योत्सव के दौरान 'आधार' को वर्ष 2017 का हिंदी शब्द घोषित किया गया है. खबर में दावा किया गया है कि ऑक्सफोर्ड चयन समिति ने अंतिम रूप से चुने गए नोटबंदी, स्वच्छ, योग, विकास तथा बाहुबली आदि शब्दों में से आधार को इस साल का शब्द चुना. आपको याद दिला दें कि आधार भारत में सबसे जरूरी दस्तावेजों में से एक है.

5/6

Interesting News for NRI readers

लंबी: दैनिक जागरण के चंडीगढ़ संस्करण में गैंगस्टर विक्की गौंडर के एनकाउंटर को प्रमुखता से प्रकाशित किया है. अखबार में गौंडर से जुड़ी कई खबरें छापी गई हैं. खबर के मुताबिक हरजिंदर सिंह भुल्लर उर्फ जिंदर उर्फ विक्की गौंडर (27) के एनकाउंटर के बाद से उसका गांव सरावा बोदला को पुलिस छावनी में बदल दिया गया है. गांव की ओर जाने वाले सभी रास्तों पर पुलिस बिना चेकिंग किसी वाहन को जाने नहीं दे रही है. पुलिस ने गौंडर के घर को भी पूरी तरह से घेर रखा है. गौंडर की मां का रो-रोकर बुरा हाल था. गौंडर की मां ने रोते-रोते बस इतना ही कहा, "पुत मरिया मेरा दुख तां हुंदै मरे दा, पर सानू पता सी आह कम्म तां होणा ही सी. जदों ओहदे कम्म इ ऐदां दे सी. (बेटा मेरा है मेरा. मरने वाले का दुख तो होता ही है, लेकिन हमें पता था कि यह तो होना ही था. उसके काम ही इस तरह के थे.)"

6/6

Interesting News for NRI readers

उदयपुर: राजस्थान पुलिस की महिला कांस्टेबल से दुष्कर्म करने के दोषी महाराणा प्रताप कृषि एवं अभियांत्रिकी विश्व विद्यालय के पूर्व सहायक प्रोफेसर महेंद्र सिंह सेवदा को महिला उत्पीड़न मामलों के एडीजे डॉ. दुष्यंत दत्त ने गुरुवार को 10 वर्ष कड़ी कैद की सजा सुनाई है. दैनिक भास्कर में इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है. खबर के मुताबिक महेंद्र सिंह फिलहाल कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग रानी पुल, गंगटोक में प्रोफेसर हैं. जब मामला दर्ज हुआ था तब वे सीटीएई कॉलेज के फार्म मशीनरी एंड पावर इंजीनियरिंग विभाग में सहायक प्रोफेसर थे. मामले के अनुसार जयपुर में कार्यरत एक महिला कांस्टेबल ने 18 जनवरी 2007 को प्रो. महेंद्र सिंह सेवदा के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत तत्कालीन एसपी को गोपनीय पत्र लिखकर की थी.