close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

करियर से लेकर सुहाग तक सावन के महीने में ये है हरे रंग का महत्व

सावन के महीने में जितना शिव की पूजा और शिवलिंग का जलाभिषेक करने का महत्व माना जाता है. उतना ही महत्व हरे रंग का भी है. 

Jul 23, 2018, 15:54 PM IST

सावन के महीने में जितना शिव की पूजा और शिवलिंग का जलाभिषेक करने का महत्व माना जाता है. उतना ही महत्व हरे रंग का भी है. 

1/5

सावन का महीना आने में अब कुछ ही वक्त बचा है. सावन के महीने में जितना शिव की पूजा और शिवलिंग का जलाभिषेक करने का महत्व माना जाता है. उतना ही महत्व हरे रंग का भी है. सावन के महीने में महिलाएं हरे रंग की चूड़िया पहनती हैं और घर को हरे रंग से सजाती हैं.

 

2/5

इस पूरे महीने लोग हरे कपड़े ज्यादा पहनना पसंद करते हैं. कुछ लोगों का मानना है कि हरे रंग को पहनने से भगवान शिव खुश होते हैं, इसलिए इस रंग को सावन की महीने में पहनना जरूरी है. धार्मिक मान्यता है कि इस महीने में हरे रंग के उपयोग से भाग्य प्रभावित होता है. 

3/5

धार्मिक मान्यता के मुताबिक, सावन के आते ही जगह-जगह हरियाली आती है. हरियाली न सिर्फ आंखों को खुश करती हैं बल्कि मन को भी प्रभावित करती हैं. ऐसे में खुद को प्रकृति से जोड़ने के लिए महिलाएं हरे रंग का इस्तेमाल करती हैं 

4/5

शास्त्रों में भी प्रकृति को ईश्वर से जोड़कर देखा गया है. कहा जाता है कि जो शख्स प्रकृति की पूजा करता है, उससे देवता कभी भी नाराज नहीं होते हैं. इस पूरे महीने हरा पहनने वालों पर प्रकृति की विशेष की कृपा होती है. महिलाएं हरें रंग की चूड़ियों को प्रकृति और सुहाग दोनों से जोड़कर देखती हैं. शास्त्रानुसार सावन के महीने में हरे रंग की चूड़िया पहनने से शिव सुहाग का आशीर्वाद देते हैं.

5/5

ज्योतिष के मुताबिक, हरा रंग बुद्ध ग्रह का प्रतीक होता है और बुध को करियर और व्यापार से जुड़ा हुआ माना जाता है. कहा जाता है कि बुध को प्रसन्न करने के लिए हरे रंग का धारण अति-आवश्यक है.