close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मिस इंडिया सुमन राव ने ताज के लिए तोड़ी रूढ़ियों की दीवार! देखिए लेटेस्ट तस्वीरें...

सुमन राव ने हाल ही में मिस इंडिया के ताज पर कब्जा कर चुकी हैं, लेकिन इस ताज को हासिल करने का सफर इतना आसान नहीं था...

ऋतु त्रिपाठी | Jun 19, 2019, 15:52 PM IST

नई दिल्ली: मिस इंडिया 2019 सुमन राव का कहना है कि उनकी जीत उनके समुदाय के लिए बहुत बड़ी बात है और सभी के लिए आशा की नयी किरण लेकर आयी है. राजस्थान में उदयपुर के पास एक गांव में जन्मी राव जब महज एक साल की थीं, तभी उनका परिवार मुंबई रहने आ गया था. राव का कहना है कि शनिवार को एफबीबी कलर्स फेमिना मिस इंडिया वर्ल्ड का खिताब जीतना उनके लिये बेहद भावुक क्षण था. क्योंकि इस ताज को पाने के लिए सुमन राव ने रूढ़ियों को तोड़ा है. सुमन की माने तो अपने समुदाय से वह पहली लड़की हैं जो इस क्षेत्र में इतने आगे पहूंची हैं. सुमन के इस पूरे इंटरव्यू के साथ देखिए उनकी कुछ चुनिंदा तस्वीरें... 

1/7

बेहद रुढ़िवादी पृष्ठभूमि

Suman Rao

उन्होंने कहा, ‘‘मैं बेहद रुढ़िवादी पृष्ठभूमि से आती हूं. मेरे समुदाय के लिए मॉडलिंग बहुत बड़ी बात है. मैं अपने समुदाय की पहली मॉडल हूं. मेरे परिवार में कभी किसी ने कोई ‘पेजेंट’ नहीं जीता है, मुझे पता भी नहीं था कि यह क्या होता है. मैंने एक साल पहले ही तैयारी शुरू की.’’ 

2/7

पहली लड़की

Suman Rao

राजस्थान के राव समुदाय से मॉडलिंग की दुनिया में आने वाली पहली लड़की होना, उनके परिवार के लिए बहुत बड़ी बात थी.

3/7

टॉप थ्री में ऐसे आईं

Suman Rao

राव ने कहा, ‘‘जब मैं टॉप तीन में शामिल हुई, तभी बदलाव शुरू हुआ. अब पूरे समुदाय को मुझपर गर्व है. जो लोग बदलाव का इंतजार कर रहे थे, वे लोग खुश हैं और कह रहे हैं कि तुमने बहुत अच्छा काम किया. अब हम जो चाहें कर सकते हैं, क्योंकि किसी ने पहला कदम बढ़ा दिया है.’’ 

4/7

बहुत सीखा है

Suman Rao

राव (20) ने पीटीआई को बताया कि मिस इंडिया का सफर स्कूल की तरह था, जहां काफी कुछ सीखने को मिला.

5/7

नम हुई आंखें

Suman Rao

मिस इंडिया ने कहा, ‘‘मेरी आंखों में आंसू थे लेकिन मैं नहीं रोयी. वास्तव में मुझे रोने का वक्त ही नहीं मिला क्योंकि हमें बहुत सारी तस्वीरें खिंचवानी थी. फिर मैं अपने माता-पिता से मिलने चली गई. मैं इतनी खुश थी कि रोना ही भूल गई.’’ 

6/7

सामाजिक काम

Suman Rao

बता दें कि सुमन राव सामजिक जीवन में भी बहुत सक्रिय है और उन्होंने चाइल्ड हेल्प फाउंडेशन नामक संस्था के लिए अब तक 80 हजार रुपए के लगभग की राशि लोगों से चैरिटी के लिए जमा करवाई है.

7/7

प्लेयर भी हैं सुमन

Suman Rao

यह भी रोचक बात है कि मिस इंडिया बनने से पहले वह बास्केट बॉल की कई मैच भी खेल चुकी हैं.