Zee Rozgar Samachar

ऑनलाइन मिलेगा 'कड़कनाथ' मुर्गा, जीआई टैग के लिए मध्य प्रदेश का दावा मजबूत

मध्य प्रदेश के झाबुआ सहित कुछ अन्य जिलों में मुर्गा की एक खास नस्ल पाई जाती है, जिसे कड़कनाथ के नाम से पहचाना जाता है. इस प्रजाति की खासियत है कि इसके मांस में फैट कम होता है और प्रोटीन ज्यादा. अब यह मुर्गा आपको घर बैठे मिल सकेगा, क्योंकि इसके लिए सहकारिता विभाग ने 'MP KadakNath ऐप' लांच कर दिया है.

Mar 30, 2018, 14:46 PM IST

मध्य प्रदेश के झाबुआ सहित कुछ अन्य जिलों में मुर्गा की एक खास नस्ल पाई जाती है, जिसे कड़कनाथ के नाम से पहचाना जाता है. इस प्रजाति की खासियत है कि इसके मांस में फैट कम होता है और प्रोटीन ज्यादा. अब यह मुर्गा आपको घर बैठे मिल सकेगा, क्योंकि इसके लिए सहकारिता विभाग ने 'MP KadakNath ऐप' लांच कर दिया है.

1/7

KAdaknath have less Fat

KAdaknath have less Fat

कड़कनाथ के मांस में 25 से 27 प्रतिशत प्रोटीन होता है, जबकि अन्य मुर्गों में केवल 16 से 17 प्रतिशत ही प्रोटीन पाया जाता है. इसके अलावा, कड़कनाथ में लगभग एक प्रतिशत चर्बी होती है, जबकि अन्य मुर्गों में 5 से 6 प्रतिशत चर्बी रहती है. कड़कनाथ 500 रुपए से लेकर 1500 रुपए किलो तक बिकता है.

2/7

KadakNath Have Plenty of Iron And Protein in Flesh

KadakNath Have Plenty of Iron And Protein in Flesh

विशेषज्ञों के अनुसार, कड़कनाथ के मांस में आयरन एवं प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है. इसके अलावा, यह अन्य प्रजातियों के मुर्गों से बहुत अधिक दाम में बेचा जाता है. कड़कनाथ के एक किलोग्राम के मांस में कॉलेस्ट्राल की मात्रा करीब 184 एमजी होती है, जबकि अन्य मुर्गों में करीब 214 एमजी प्रति किलोग्राम होती है.

3/7

Madhya Pradesh Get GI Tag

Madhya Pradesh Get GI Tag

कड़कनाथ मुर्गे की प्रजाति मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बीच विवाद का विषय बनी हुई है. वहीं मध्यप्रदेश के पशुपालन मंत्री के मुताबिक मध्यप्रदेश को कड़कनाथ मुर्गे का जीआईटैग मिलने जा रहा है. जल्द ही कड़कनाथ मुर्गा मध्यप्रदेश का पेटेंट ब्रांड होगा. मध्यप्रदेश का दावा है कि कड़कनाथ मुर्गे की उत्पत्ति प्रदेश के झाबुआ जिले में हुई है, जबकि छत्तीसगढ़ का कहना है कि कड़कनाथ को प्रदेश के दंतेवाडा जिले में अनोखे तरीके से पाला जाता है और यहां उसका संरक्षण और प्राकृतिक प्रजनन होता है.

4/7

Big Dispute Between MP and Chhattisgarh

Big Dispute Between MP and Chhattisgarh

काले मांस वाले कड़कनाथ मुर्गे का स्वाद नॉनवेज के शौकीनों की पहली पसंद है. कम कॉलेस्ट्राल की मात्रा वाले कड़कनाथ को लेकर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्य आमने सामने हैं. दोनों ही राज्य कड़कनाथ मुर्गे पर अपना दावा जता रहे है. लाजवाब स्वाद के लिए जाने जाने वाले कड़कनाथ मुर्गे की प्रजाति के लिए मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ ने जीआई टैग (भौगोलिक संकेतक) के लिए भी चेन्नई स्थित भौगोलिक संकेतक पंजीयन कार्यालय में आवेदन दिए हैं.

5/7

KadakNath Breed is Super Good

KadakNath Breed is Super Good

कड़कनाथ प्रजाति का मुर्गा अन्य प्रजातियों के मुर्गो से बेहतर होता है. इसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक और फैट की मात्रा न के बराबर पाई जाती है. यह विटामिन-बी-1, बी-2, बी-6, बी-12, सी, ई, नियासिन, कैल्शियम, फास्फोरस और हीमोग्लोबिन से भरपूर होता है. यह अन्य मुर्गो की तुलना में लाभकारी है. इसका रक्त, हड्डियां और सम्पूर्ण शरीर काला होता है. यह दुनिया में केवल मध्यप्रदेश के झाबुआ और अलीराजपुर में पाया जाता है.

6/7

MP KadakNath App Give you All Information

MP KadakNath App Give you All Information

एप में उपलब्ध मेन्यू में सीधे क्लिक करने पर समिति का ई-मेल, फोन और उत्पादन की जानकारी प्राप्त की जा सकती है. मांग और पूछताछ का आप्शन भी दिया गया है. सबमिट बटन पर क्लिक करने से सीधे संस्था को ई-मेल करने की सुविधा है. एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है.

7/7

With This App MP KadakNath App You will get KadakNath Online

With This App MP KadakNath App You will get KadakNath Online

सहकारिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विश्वास सारंग ने बताया कि कड़कनाथ ऐप के माध्यम से कोई भी व्यक्ति इन समितियों के पास उपलब्ध कड़कनाथ मुर्गा खरीदने के लिए ऑनलाइन डिमांड कर सकता है. भविष्य में ऑनलाइन ऑर्डर के साथ होम डिलीवरी की भी सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी.