Pics: स्कूल टीचर ने बनाई अनोखी मोटरसाइकिल, बिना पेट्रोल दौड़ती है सरपट

इससे पहले भी शुभमय ने बैटरी से चलने वाली साइकिल का भी निर्माण किया है. मूलतः पर्यावरण में फैल रहे प्रदुषण को ध्यान में रखकर उन्होंने एक सराहनीय कमा किया है.

केटी एल्‍फी | Jan 23, 2019, 12:38 PM IST

शुभमय बिस्वास पेशे से स्कूल शिक्षक हैं और बचपन से ही विज्ञान की तरफ उनका आकर्षण बना हुआ था. स्कूल से ही विज्ञान से जुड़े अलग अलग सामग्रियों के साथ शुभमय कुछ न कुछ अनुसंधान करते ही रहते थे और आज उन सब उपकरणों से उन्हें सफलता प्राप्त हुई जब उन्होंने सोलर द्वारा चलने वाली मोटरबाइक का निर्माण कर किया.

1/5

पहले बैटरी से चलने वाली साइकिल बना चुके हैं शुभमय

Solar Motorcycle, West Bengal

इससे पहले भी शुभमय ने बैटरी से चलने वाली साइकिल का भी निर्माण किया है. मूलतः पर्यावरण में फैल रहे प्रदुषण को ध्यान में रखकर उन्होंने एक सराहनीय कमा किया है. इन दिनों बंगाल हो या दिल्ली इन दोनों शहरो में प्रदुषण की मात्रा पहले से काफी ज्यादा बढ़ जाने से लोगों को रहने में दिक्कतें आ रही है.

2/5

प्रदूषण कम करने के लिए किया सोलर बाइक का निर्माण

Solar Motorcycle, West Bengal

शुभमय के हिसाब से इस मोटरसाइकिल द्वारा काफी हद तक प्रदुषण को नियंत्रण में लाया जाएगा क्योंकि इस बाइक से प्रदुषण नाम का ही निकलेगा. इनको उम्मीद है कि विज्ञान की दुनिया में ये मोटर बाइक एक क्रांति लाएगा. इस मोटर साइकिल को बनाने में आठ महीने लग गए.

3/5

सस्ती लागत में बनाई मोटरसाइकिल

Solar Motorcycle, West Bengal

ईंधन की लागत बहुत सस्ती होगी, और कीमत भी काफी सस्ती होगी और इसी सोच के साथ आठ महीने की मेहनत और लगन से इस मोटर साइकिल का इजात किया गया है. इस मोटर साइकिल का नाम सन पावर मोटरबाइक रखा है.

 

4/5

50 से 60 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति

Solar Motorcycle, West Bengal

इसकी गति 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा होगी लेकिन 60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी चला पाएंगे. 

5/5

शुभमय का मानना है कि यह रास्ता कारगर साबित होगा

Solar Motorcycle, West Bengal

एक बार फुल चार्ज करने पर ही फर्राटे से पूरा दिन चलेगी. शुभमय को यकीन है कि ये काफी कारगर साबित होगा. शुभमय के इस अविष्कार ने काफी वाह वाही लूट ली है ऐसा उनके नजदीकि टी ओ ऑफिसर सौमित्र बिस्वास का कहना है.