close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PM मोदी ने की लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात, गले से लगाए मुरली मनोहर जोशी | देखें PHOTOS

पीएम मोदी पांच साल का पूर्ण कार्यकाल पूरा करने के बाद दोबारा सत्ता में वापसी करने वाले भारत के तीसरे प्रधानमंत्री होंगे. इससे पहले जवाहरलाल नेहरू और मनमोहन सिंह पूर्ण कार्यकाल के बाद लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री बने थे.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | May 24, 2019, 11:29 AM IST

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 में लगातार दूसरी बार 'प्रचंड मोदी लहर' पर सवार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) रिकॉर्ड सीटों के साथ फिर से केंद्र की सत्ता पर काबिज होगी. प्रचंड जीत के बाद शुक्रवार (24 मई) की सुबह देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह लालकृष्ण आडवाणी से मिलने के लिए उनके आवास पर पहुंचे. गौरतलब है कि पीएम मोदी पांच साल का पूर्ण कार्यकाल पूरा करने के बाद दोबारा सत्ता में वापसी करने वाले भारत के तीसरे प्रधानमंत्री होंगे. इससे पहले जवाहरलाल नेहरू और मनमोहन सिंह पूर्ण कार्यकाल के बाद लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री बने थे.

1/5

मुरली मनोहर जोशी से भी मिलने पहुंचे

PM Modi

लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात के बाद पीएम मोदी और अमित शाह मुरली मनोहर जोशी से भी मुलाकात किए, जहां मुरली मनोहर जोशी ने पीएम मोदी को गले लगाकर स्वागत किया.  (फोटो साभार: @narendramodi)

2/5

ट्विटर पर शेयर की तस्वीरें

PM Modi

लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी से मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने मुलाकात की तस्वीरें ट्विटर पर शेयर की है. (फोटो साभार: @narendramodi)

3/5

भाजपा अपने दम पर रुझान/नतीजों में 303 सीटों पर आगे

PM Modi

अभी तक के रुझान/नतीजों के अनुसार, इन लोकसभा चुनावों में एनडीए 354, यूपीए 89 तो अन्‍य 99 सीटों पर आगे हैं. खास बात यह है कि अकेले भाजपा अपने दम पर रुझान/नतीजों में 303 सीटों पर आगे है. (फोटो साभार: @narendramodi)

4/5

अब तक 292 सीटों पर जीत हुई कंफर्म

PM Modi

चुनाव आयोग द्वारा जारी सुबह साढ़े आठ बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, भाजपा ने अकेले 292 सीटों पर जीत हासिल कर ली है और साथ ही वह 11 सीटों पर आगे चल रही है, जहां उसका जीतना तय है. (फोटो साभार: @narendramodi)

5/5

कांग्रेस को मिली महज 52 सीटें

PM Modi

वहीं, इन चुनावों में कांग्रेस को बुरी तरह हार का मुंह देखना पड़ा है. कांग्रेस को इन चुनावों में महज 52 सीटें मिली हैं.