close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ITR भरते समय कभी न करें ये 5 गलती, वरना पड़ जाएगा भारी

आयकर विभाग भी इन गलतियों से बचने के लिए समय-समय पर जागरूक करता रहता है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Apr 10, 2019, 15:01 PM IST

नया वित्त वर्ष 1 अप्रैल से शुरू हो गया है. नौकरीपेशा और बिजनेस करने वाले सभी लोगों को फाइनेंशियल ईयर 2018-19 का इनकम टैक्‍स रिटर्न (ITR) समय से फाइल करना है. इसके लिए आयकर विभाग की तरफ से फॉर्म पहले ही जारी किये जा चुके हैं. आईटीआर फाइल करते समय आपको कुछ बातों का विशेष तौर पर ध्यान रखना होता है, यदि आप आईटीआर भरते समय गलती कर देते हैं तो इससे आपको भविष्य में परेशानी हो सकती है. आयकर विभाग भी इन गलतियों से बचने के लिए समय-समय पर जागरूक करता रहता है. आगे पढ़िए ऐसी ही कुछ गलतियां, जो कई बार आईटीआर भरते हुए हुए आमतौर पर हो जाती है.

1/5

इनकम का पूरा सोर्स स्पष्ट करें

income tax return 2018-19

कुछ लोग आईटीआर फाइल करते समय अपनी इनकम के कुछ सोर्स क्लीयर नहीं करते. उनका तर्क होता है कि आईटीआर भरने में सभी चीजें क्लीयर करना जरूरी नहीं है. लेकिन असलियत में ऐसा है नहीं. आईटीआर भरते समय आपको सेविंग अकाउंट, फिक्स्ड डिपॉजिट या अन्य किसी निवेश से होने वाली आय के बारे में सही-सही जानकारी देनी चाहिए. यदि आप कुछ भी छिपाते हैं तो भविष्य में ये आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है. जानकारी छिपाने पर आयकर विभाग इसे टैक्‍स चोरी मानता है.

2/5

पर्सनल डिटेल सही दें

income tax return 2018-19

आईटीआर फाइल करने के दौरान आपको अपनी पर्सनल डिटेल सही से भरना चाहिए. आप फॉर्म भरने के बाद एक बार क्रास चेक कर लें कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, पता, ई-मेल, बैंक खातों की जानकारी, जन्मतिथि और पैन आदि सही दिया गया है या नहीं. यदि आपकी कोई भी जानकारी गलत हुई तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से आपको नोटिस जारी किया जा सकता है.

3/5

सही फॉर्म का चुनाव करें

income tax return 2018-19

इनकम टैक्स फाइल करने के लिए अलग-अलग फॉर्म होते हैं. ये फॉर्म आपकी आय और डिटेल के अनुसार होते हैं. मसलन नौकरीपेशा लोग फॉर्म-1 फाइल करते हैं. वहीं जिनकी सालाना आय 50 लाख या इससे ज्यादा होती है उन्हें आईटीआर-2 भरना होता है. इसके अलावा आईटीआर-3 ऐसे लोगों और हिंदू अविभाजित परिवार की तरफ से भरा जाता है जिनकी सालाना आय में बिजनेस, हाउस प्रॉपटी और अन्य स्रोत से होने वाली इनकम भी शामिल है.

4/5

सैलरी या इनकम की सही जानकारी दें

income tax return 2018-19

आईटीआर फाइल करते समय अपनी सैलरी या इनकम के बारे में सही जानकारी दें. आमतौर पर कुछ लोग ITR फाइल करने में सेविंग अकाउंट में मिलने वाले ब्याज के बारे में जानकारी नहीं देते. ऐसा करने वाले लोगों विभाग की तरफ से नोटिस जारी कर दिया जाता है. इसलिए हमेशा ध्यान रखें कि आईटीआर में कुछ रुपये कम दर्शाने से आपको भविष्य में परेशानी हो सकती है.

5/5

समय से फाइल करें आईटीआर

income tax return 2018-19

कुछ लोग आईटीआर फाइल करने के लिए एक-एक दिन करके पूरा समय निकाल देते हैं. यदि आप भी उनमें से एक हैं तो ऐसा न करें और समय से आईटीआर फाइल करें. आईटीआर फाइलिंग में देरी करने से आपको जुर्माना देना पड़ सकता है, जिससे आप पर अतिरिक्त बोझ पड़ता है.