close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़: सरकारी अस्पताल से गर्भवती महिला को हुई 'ना', तो ऑटो में दिया बच्चे को जन्म

छत्तीसगढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां प्रसव पीड़ा से कराहती महिला को यह कह कर स्पताल से लौटा दिया गया कि डॉक्टर नहीं हैं. 

Apr 02, 2018, 14:03 PM IST

कोरिया: छत्तीसगढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां प्रसव पीड़ा से कराहती महिला को यह कह कर स्पताल से लौटा दिया गया कि डॉक्टर नहीं हैं. 

1/4

women gives birth in auto in chhattisgarh

women gives birth in auto in chhattisgarh

कोरिया: छत्तीसगढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां प्रसव पीड़ा से कराहती महिला को यह कह कर स्पताल से लौटा दिया गया कि डॉक्टर नहीं हैं. अस्पताल स्टाफ ने गर्भवती महिला के परिजनों से कहा कि पेट में बच्चा उल्टा है. इसे कहीं और या फिर जिला अस्पताल ले जाओ. इसके बाद जिला अस्पताल जाते समय महिला ने ऑटो में ही बच्चे को जन्म दिया. महिला और नवजात की हालत गंभीर बताई जा रही है. 

 

2/4

Hospital staff said there in no doctor available

Hospital staff said there in no doctor available

सरकारी अस्पतालों को लेकर सरकार चाहे कितने ही दावे क्यों न कर ले लेकिन, यहां के कर्मचारी ही इन दावों पर पलीता लगाने से पीछे नहीं रहते. ऐसा ही ये मामला छत्तीसगढ़ के कोरिया जिला मनेंद्रगढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से सामने आया है. दरअसल, ग्राम पिपरिया में रहने वाली एक एक गर्भवती महिला रविवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया. परिजनों ने बताया कि दर्द से छटपटाती महिला को अस्पताल स्टाफ ने भर्ती करने से मना कर दिया. उन्होंने कहा कि महिला के पेट में बच्चा उल्टा है और अस्पताल में डॉक्टर उपलब्ध नहीं हैं. इसलिए आप प्रसुता को किसी और अस्पताल या फिर जिला अस्पताल ले जाओ.

 

3/4

hospital didn't provide ambulance to take her to another hospital

hospital didn't provide ambulance to take her to another hospital

परिजनों ने बताया कि महिला को दूसरे अस्पताल ले जाने के लिए वाहन की मांग करने पर उन्हें डांट के भगा दिया गया. पास में पैसे नहीं थे इसलिए गर्भवती को जिला अस्पताल ले जाने के लिए एक ऑटो की व्यवस्था की गई. उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल उदलकछार के पास है. वहां पहुंचने से पहले ही महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया. इस दौरान दो महिलाएं प्रसुता के साथ रहीं. 

 

4/4

Mother an new born are serious

Mother an new born are serious

परिजनों के मुताबिक प्रसव के बाद प्रसुता और नवजात की हालत बिगड़ने लगी. दोनों को जिला अस्पताल न लेजाकर फिर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाने का फैसला लिया गया. नवजात की गंभीर स्थिति को देखते हुए उस्पताल ने उसे ऑक्सीजन दिया और फिर जिला अस्पताल रेफर कर दिया.