256 करोड़ में होगी प्रिंस हैरी और मेगन मर्केल की शाही शादी, 2640 मेहमानों को भेजा न्यौता

जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

May 06, 2018, 10:42 AM IST

नई दिल्ली: अपने NRI पाठकों के लिए ZEE News Hindi ने एक नई शुरुआत की है. जी न्यूज की इस खास पेशकश में आप अपने शहरों की कुछ चुनिंदा और खास खबरें हिन्दी में बस एक क्लिक में पढ़ सकते हैं.

1/5

Interesting News for NRI readers

लंदन: दैनिक भास्कर के रविवार के अंक में प्रमुखता के साथ छपी एक खबर में दावा किया गया है कि ब्रिटेन के छोटे राजकुमार हैरी 19 मई को हॉलीवुड एक्ट्रेस मेगन मर्केल से शादी करने जा रहे हैं. इसे साल की सबसे बड़ी शादी बताया जा रहा है. खबर के मुताबिक शादी के लिए 2,640 मेहमानों को निमंत्रण दिया गया है, लेकिन इनमें से 1,200 मेहमानों को चिट्‌ठी लिखकर कहा गया है कि आप अपना खाना खुद लेकर आएं, क्योंकि वहां खाना या ड्रिंक खरीदने की सुविधा नहीं होगी. खबर में बताया गया है कि चौंकाने वाली बात यह है कि इस शादी पर करीब 256 करोड़ रुपए खर्च होंगे. खबर में ब्रिटेन की एक वेबसाइट इनसाइडर में छपी खबर के हवाले से बताया गया है कि ये वे लोग हैं जिन्होंने अपने क्षेत्र, समुदाय और समाज के लिए प्रेरणादायक काम किया है. खबर के मुताबिक क्वीन एलिजाबेथ के प्रतिनिधि लॉर्ड लेफ्टिनेंट ने इन लोगों को न्‍यौता भेजा है. वहीं दूसरी ओर इस तरह की चिट्‌ठी मिलने बाद से लोगों में काफी गुस्सा है.

2/5

Interesting News for NRI readers

जोधपुर: दैनिक भास्कर के रविवार के अंक में छपी एक खबर बताती है कि अगर आपके घर में या आसपास कोई ऐसा शख्स है, जो ज्यादा हंसता-बोलता है या हर समय बड़ी-बड़ी बातें करता हो या अपनी परिस्थिति से कई ज्यादा खर्चीला हो, तो वो मानसिक रोग से पीड़ित हो सकता है. खबर में दावा किया गया है कि ये मानसिक बीमारी बाइपोलर डिसऑर्डर के लक्षण हैं. खबर में बताया गया है कि देश में पहली बार स्वास्थ्य विभाग ने करीब 35 हजार लोगों को सम्मिलित कर राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया है. इसमें 0.3 प्रतिशत लोग इस बाइलोपर डिसऑर्डर से पीड़ित पाए गए हैं. खबर के मुताबिक सर्वेक्षण में चौंकाने वाली ये बात सामने आई कि वर्तमान में देश में करीब 0.3 प्रतिशत यानी 1000 में से 3 लोग इससे पीड़ित हैं. इनमें से 70% लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है. खबर में बताया गया है कि काउंसलिंग व दवाइयों के अलावा 6-7 घंटे नींद, नशे से बचाव, संतुलित आहार व तनाव से दूर रहना ही इसका इलाज है. जो समय पर होना आवश्यक है.

3/5

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: दैनिक जागरण के रविवार के अंक में प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि शीघ्र शुरू होने वाले राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड अभियान से बड़ा बदलाव होने वाला है. खबर में बताया गया है कि इससे शहरों की भांति गांवों के लोग भी कंप्यूटर और स्मार्टफोन के जरिए सरकारी स्कीमों का लाभ उठाकर अपनी पढ़ाई-लिखाई, नौकरी-कारोबार और खेती-बाड़ी का विकास कर अपना भविष्य संवार सकेंगे. खबर के मुताबिक दूरसंचार आयोग ने पिछले दिनों कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं. इनमें एक निर्णय ब्रॉडबैंड के विस्तार का है. इसके लिए भारतनेट के तहत देश की ढाई लाख ग्राम पंचायतों और सवा छह लाख गांवों को ऑप्टिक फाइबर केबल से जोड़ने के साथ सवा लाख डाकघरों, एक लाख स्कूलों, पचास हजार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, 25 हजार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और दस हजार पुलिस थानों में कुल सात लाख पब्लिक वाई-फाई हॉटस्पॉट स्थापित किए जाएंगे. खबर में बताया गया है कि हर गांव में कम से कम एक तथा हर पंचायत में दो से पांच तक हॉट स्पॉट स्थापित करने का प्रस्ताव है.

4/5

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: हिन्दुस्तान अखबार में रविवार को पहले पन्ने पर रेलवे के दिल्ली मंडल के विभिन्न रूटों पर अनारक्षित टिकट से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक अच्छी खबर प्रकाशित की गई है. खबर में बताया गया है कि उन्हें अब टिकट के लिए काउंटर पर लाइन नहीं लगानी पड़ेगी. यात्री अपने मोबाइल से एप के जरिए टिकट खरीद सकेंगे. खबर में दावा किया गया है कि एक महीने में यह सुविधा शुरू कर दी जाएगी. खबर में बताया गया है कि दिल्ली मंडल में फिलहाल पायलट प्रोजेक्ट के तहत कुछ रूट (दिल्ली -पलवल, दिल्ली-गाजियाबाद और दिल्ली-रेवाड़ी) पर यह सुविधा चल रही है. जल्द ही दिल्ली से बठिंडा, दिल्ली से अंबाला और दिल्ली से सहारनपुर रूट पर भी यह सुविधा शुरू हो जाएगी. खबर में यह भी बताया गया है कि कोई भी यात्री मोबाइल एप के जरिए अनारक्षित टिकट तभी बुक कर सकता है जब कि वह स्टेशन से पांच किलोमीटर की सीमा के अंदर हो.

5/5

Interesting News for NRI readers

नई दिल्ली: नवभारत टाइम्स के रविवार के अंक में छपी एक खबर बताती है कि दिल्ली के जीबी रोड के कोठों से आजाद कराई गईं सेक्स वर्कर्स को नौकरी दिलाने के लिए दिल्ली पुलिस ने कोशिशें शुरू की हैं. खबर के मुताबिक हाल ही में 20 लड़कियों को जीबी रोड के कोठों से रिहा कराया गया था. 18 से 22 साल की इन लड़कियों को तमाम सब्जबाग दिखाकर विभिन्न राज्यों से दिल्ली के कोठों में धकेला गया था. रिहाई के बाद लड़कियों ने घर जाने से इनकार किया क्योंकि पैरंट्स मुसीबत में रहेंगे और समाज जीने नहीं देगा. खबर में बताया गया है कि इन लड़कियों ने नौकरी मांगी तो पुलिस के प्रयास से इंडस्ट्री की बड़ी संस्था ने इन्हें जॉब दिलाने का भरोसा दिया है. पुलिस अब इनको सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग और वोकेशनल कोर्स कराने जा रही है. खबर में बताया गया है कि इस दौरान सभी का प्रोफाइल गुप्त रहेगा ताकि कोई गलत नजर से न देखे.