पृथ्वी शॉ ने 10 साल की उम्र में किया था पहला कॉन्ट्रैक्ट, जानिए उनसे जुड़ी 7 अहम बातें

मुंबई के पृथ्वी शॉ गुरुवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत करेंगे. 

पहली बार 2013 में सुर्खियों में आए

1/7
पहली बार 2013 में सुर्खियों में आए

पृथ्वी शॉ पहली बार 2013 में सुर्खियों में आए. उन्होंने तब महज 14 साल की उम्र में रिजवी स्कूल की ओर से खेलते हुए अंडर-16 स्कूल टूर्नामेंट में 546 रन बनाए. यह तब स्कूल क्रिकेट में सबसे बड़े स्कोर का वर्ल्ड रिकॉर्ड था. वैसे, पूर्व स्पिनर नीलेश कुलकर्णी 2010 में ही पृथ्वी से स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी के लिए 3 लाख रुपए सालाना का कॉन्ट्रैक्ट कर चुके थे. 

17 साल की उम्र में पहला फर्स्ट क्लास मैच

2/7
17 साल की उम्र में पहला फर्स्ट क्लास मैच

मुंबई के पृथ्वी शॉ ने एक जनवरी 2017 को 17 साल की उम्र में पहला फर्स्ट क्लास मैच खेला. उन्होंने रणजी और दलीप ट्रॉफी के डेब्यू मैच में शतक जमाकर दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड की बराबरी की. 

तमिलनाडु के खिलाफ पहली फर्स्ट क्लास सेंचुरी

3/7
तमिलनाडु के खिलाफ पहली फर्स्ट क्लास सेंचुरी

पृथ्वी शॉ ने तमिलनाडु के खिलाफ अपने पहले रणजी ट्रॉफी मुकाबले में 120 रन की पारी खेली थी. उन्होंने इसी साल अपने पहले दलीप ट्रॉफी में मैच में भी शतक बनाया. उन्होंने 17 साल की उम्र में इंडिया रेड की तरफ से खेलते हुए इंडिया ब्लू के खिलाफ शतक जड़ा था.

अंडर-19 विश्व कप का खिताब जिताया

4/7
अंडर-19 विश्व कप का खिताब जिताया

पृथ्वी की कप्तानी में भारत ने साल 2018 में अंडर-19 विश्व कप का खिताब जीता. उनके नाम पहले 9 प्रथम श्रेणी मैच में 5 शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है. 

आईपीएल में दिल्ली के लिए खेले

5/7
आईपीएल में दिल्ली के लिए खेले

आईपीएल 2018 में पृथ्वी को दिल्ली डेयरडेविल्स ने 1.2 करोड़ रुपए में खरीदा था. दिल्ली ने उन्हें बेस प्राइस (20 लाख) से 6 गुना ज्यादा रकम देकर अपनी टीम में शामिल किया था. 

इंडिया ‘ए’ के लिए 4 शतक जमाए

6/7
इंडिया ‘ए’ के लिए 4 शतक जमाए

पृथ्वी ने इंडिया 'ए' की तरफ से खेलते हुए चार शतक अपने नाम किए हैं. उन्होंने वेस्टइंडीज 'ए' के खिलाफ 102, लीस्टरशायर के खिलाफ 132, दक्षिण अफ्रीका 'ए' के खिलाफ 136 और वेस्टइंडीज 'ए' के खिलाफ 188 रन बनाए थे. 

प्रैक्टिस के लिए रोज 2 घंटे का सफर

7/7
प्रैक्टिस के लिए रोज 2 घंटे का सफर

पृथ्वी शॉ की मां का निधन जल्दी हो गया था. उनके पिता पंकज शॉ ने उन्हें पाला. पृथ्वी प्रैक्टिस करने के लिए रोजाना 2 घंटे का सफर तय करके मुंबई में विरार से चर्चगेट तक जाते थे. 

photo-gallery