close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

साधु-संतों के साथ लोगों से वोट मांगने पहुंचे दिग्विजय सिंह, तो लगे हर-हर मोदी के नारे

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में साधु-संतों की टोली के साथ सड़कों पर उतरे कांग्रेस के उम्मीदवार व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि भगवा पर किसी का एकाधिकार नहीं है.

विवेक पटैया | May 08, 2019, 15:03 PM IST

राजधानी में बुधवार को साधु-संतों ने पूजा-अर्चना कर पुराने भोपाल में रोड शो शुरू किया. साधु संतों की इस टोली का नेतृत्व कंप्यूटर बाबा कर रहे हैं. इस रोड शो में दिग्विजय सिंह भी साथ में हैं. यह रोड शो पीरगेट सहित भोपाल की संकरी गलियों से होकर गुजरा. कम्यूटर बाबा के नेतृत्व में कांग्रेस का भगवा रोड शो भोपाल के भवानी चौक से निकला और लखेरापुरा, सुभाष चौक, जुमेराती, हनुमान गंज, घोड़ा नक्कास होते हुए नादरा बस स्टैंड पर समाप्त हुआ.

1/4

दिग्विजय के समर्थन में की जमकर नारेबाजी

Fasting slogan in support of Digvijay

इस दौरान भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह भी मौजूद रहे. दिग्विजय सिंह के समर्थन में नारे लगाते रहे बाबा साधु संत. धर्म की जय हो अधर्म का नाश हो के नारे लगाते रहे. दिग्विजय सिंह को नर्मदा भक्त बताते हुए रोड शो में नर्मदे हर के नारे लगे.

2/4

कम्प्यूटर बाबा ने साधा बीजेपी पर निशाना

Computer Baba Targets On BJP

जी मीडिया से खास बातचीत में कम्यूटर बाबा ने कहा बीजेपी धोखेबाज पार्टी है इसलिए हम दिग्विजय के लिए जनता से समर्थन मांग रहे है. इस मौके पर संवाददाताओं ने दिग्विजय सिंह से पूछा कि क्या बात है कि कांग्रेस के झंडों के साथ भगवा झंडा भी नजर आया है. इस पर सिंह ने पलटवार करते हुए पूछा, "भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार है क्या." 

 

3/4

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

Viral video on social media

साधु-संतों की टोलियां जब भोपाल की सड़कों पर गुजरी तब कई लोगों ने घर-घर मोदी व हर-हर मोदी के नारे लगाए. सड़क किनारें खड़े लोगों ने नारे लगाए तो रोड शो कर रहे साधु-संतों के बीच से भी कई लोग मोदी के नारे लगाने लगे. इस तरह का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ. 

 

4/4

लोगों ने की मोदी के समर्थन में नारेबाजी

People shout slogans in support of Modi

रोड शो के बाद साधु-संतो की टोली बसों पर सवार होकर गांव की ओर रवाना हो गई. यह साधु-संत कंप्यूटर बाबा के आमंत्रण पर भोपाल आए हैं.