सलमान खान के वो बेहतरीन 10 डायलॉग जिनसे सलमान कहलाए दबंग खान

बॉलीवुड के दबंग खान को यूं ही भाईजान नहीं कहा जाता. सलमान खान की असल जिंदगी भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है.

Apr 05, 2018, 14:54 PM IST

बॉलीवुड के दबंग खान को यूं ही भाईजान नहीं कहा जाता. सलमान खान की असल जिंदगी भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है. सलमान जहां भी जाते हैं अपने फैन्स को एंटरटेन करने का कोई मौका हांथ से जाने नहीं देते. और यही वजह कि सलमान के फैन्स में सलमान का जबरदस्त क्रेज है. उनके फैन्स की दीवानगी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके फैन्स उनकी कोई भी मूवी छोड़ते नहीं हैं. हम आपको बता रहे हैं सलमान खान की फिल्मों के कुछ ऐसे डायलॉग जिनके चलते उन्हें दबंग खान कहा जाता है.

1/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

वॉन्टेड - 'एक बार मैने जो कमिटमेंट कर दी, तो फिर मैं अपने आप की भी नहीं सुनता' सलमान खान की ही फिल्म वॉन्टेड का ये डायलॉग उनके फैंस के बीच काफी पॉपुलर है. यहां तक कि बच्चे भी उनके इस डायलॉग का इस्तेमाल जहां-तहां करते ही रहते हैं.

2/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

दबंग -  'हम तुममे इतने छेद करेंगे कि कन्फ्यूज हो जाओगे कि सांस कहां से लें और पादें कहां से'

3/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

दबंग 2  -  'स्वागत नहीं करोगे हमारा' सलमान का ये डायलॉग हर किसी कि जबान पर छाया रहता है. वैसे भी सलमान की खासियत है वे जो भी डायलॉग बोलते हैं उसमें अपनी छाप जरूर छोड़ जाते हैं.

4/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

सुल्तान -  'मैंने पहलवानी जरूर छोड़ी है लेकिन लड़ना नहीं भूला' सलमान के हर फैन उन्हें शर्टलेस देखना बेहद पसंद करते हैं. ऐसे में सलमान की जब भी कोई नई फिल्म आती है उनके हर फैन उन्हें इस अवतार में देखने को बेताब रहते हैं. और फिर पहलवानी करते सलमान को कौन नहीं देखना चाहेगा. लेकिन सुल्तान में उनकी पहलवानी से ज्यादा लोग उनके डायलॉग को  'मैंने पहलवानी जरूर छोड़ी है लेकिन लड़ना नहीं भूला' को फॉलो करते रहते हैं.

5/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

रेडी -  जिंदगी में तीन चीजें कभी अंडरइस्टिमेट नहीं करना - आई, मी एंड माइसेल्फ

6/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

किक -  मेरे बारे में इतना मत सोचना. दिल में आता हूं समझ में नहीं

7/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

बॉडीगार्ड - मुझपर एक एहसान करना, कि मुझपर कोई एहसान मत करना

8/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

मैने प्यार किया - 'दोस्ती की है निभानी तो पड़ेगी'

9/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

मैने प्यार किया - 'दोस्ती का एक उसूल है मैडम - नो सॉरी नो थैंक्स'

10/10

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

Salman Khan's Best 10 Dialogue From which Salman became as Dabang Khan]

टाइगर जिंदा है - 'शिकार तो सब करते हैं लेकिन टाइगर से बेहतर शिकार कोई नहीं करता'