close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रखर नेता, कुशल रणनीतिकार के तौर पर हमेशा रहेंगे याद, देखिए अरुण जेटली की अनदेखी तस्वीरें

पीएम ोमोदी ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है. आज हम आपको अरुण जेटली की वो तस्वीरें दिखते हैं, जिन्हें शायद ही आपने पहले कभी देखा होगा.

शिखा जोशी | Aug 24, 2019, 16:09 PM IST

नई दिल्ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री व भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार (24 अगस्त) को यहां एम्स में निधन हो गया. 66 साल में उन्होंने अंतिम सांस ली. वह 9 अगस्‍त से दिल्‍ली स्थित एम्‍स में भर्ती थे. रविवार दोपहर 12.07 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली. पीएम ोमोदी ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है. आज हम आपको अरुण जेटली की वो तस्वीरें दिखते हैं, जिन्हें शायद ही आपने पहले कभी देखा होगा. 

1/12

दिल्ली में हुआ था जन्म

Was born in delhi

अरुण जेटली का जन्म 28 दिसंबर 1952 को दिल्ली में हुआ था. उनके पिता का नाम महाराज किशन जेटली था, जो एक वकील थे. 

 

2/12

पिता की तरह की वकालत

Fatherly advocacy

पिता की कदमों पर चले अरुण जेटली ने भी दिल्ली विश्वविद्यालय से वकालत की. उन्होंने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री ली और फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी से ही लॉ की डिग्री हासिल की.

3/12

1974 में स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष बने

Became President of Student Union in 1974

अरुण जेटली दिल्ली यूनिवर्सिटी कैंपस में पढ़ाई के दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से जुड़े और 1974 में स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष बने. राज नारायण और जयप्रकाश नारायण द्वारा चलाये गए भ्रष्टाचार विरोधी जनांदोलन में भी वो प्रमुख नेताओं में से थे.

4/12

जेल से रिहा होने के बाद जनसंघ में हुए शामिल

Joins Jana Sangh after release from jail

जय प्रकाश नारायण ने उन्हें राष्ट्रीय छात्र और युवा संगठन समिति का संयोजक नियुक्त किया. इमरजेंसी (1975-1977) के दौरान जेटली को मीसा के तहत 19 महीने जेल में भी काटने पड़े. जेल से रिहा होने के बाद वो जनसंघ में शामिल हो गए थे.

5/12

युवा ब्रिगेड को किया परिपक्व

Mature young brigade

1980 से 90 के दशक तक बीजेपी भारत में मुख्य धारा की राजनीतिक पार्टी बनने के लिए संघर्ष कर रही थी. अटल और आडवाणी के नेतृत्व में, बीजेपी कड़ी मेहनत कर रही थी तब अरुण जेटली ने बीजेपी के युवा ब्रिगेड को परिपक्व राजनेताओं में बदलने का काम दिया गया था.

 

6/12

1982 में हुई थी शादी

Married in 1982

अरुण जेटली की पत्नी का नाम संगीता जेटली है. साल 1982 में उनकी शादी हुई थी. उनके दो बच्चे हैं. एक बेटी और एक बेटी. बेटी का नाम सोनाली जेटली है, वहीं, बेटे का नाम रोहन जेटली है.

7/12

1999 में बने BJP के प्रवक्ता

 become BJP spokesman in 1999

1991 से ही अरुण जेटली बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य रहे. 1999 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले उन्हें बीजेपी का प्रवक्ता बना दिया गया. 

 

8/12

कई महत्वपूर्व पद संभालें

Hold many important positions

1999 में, अटल लेड एनडीए के सत्ता में आने के बाद उन्हें राज्य मंत्री बनाया गया और उन्होंने कानून और न्याय, सूचना और प्रसारण और राज्य विनिवेश राज्य मंत्री जैसे महत्वपूर्ण विभागों को संभाला.

9/12

काम से साबित करते रहे अपनी काबिलियत

Prove your ability with work

 वह अटल बिहार वाजपेयी के सबसे भरोसेमंद सहयोगियों में से एक रहे, जिन्होंने उन्हें एक साल के बाद ही कैबिनेट रैंक में पदोन्नत किया. अरुण जेटली ने अपनी काबिलियत को बखूबी साबित किया. वह प्रमोद महाजन और अटल बिहारी वाजपेयी की सेवानिवृत्ति के बाद बीजेपी के मुख्य रणनीतिकार बन गए. मोदी सरकार-1 में उन्हें वित्त मंत्रालय संभाला. 

10/12

कांग्रेस सदस्यों का हासिल किया सम्मान

have received the honor by Congress members

2006 में राज्यसभा में विपक्ष के नेता बने और अपनी स्पष्टता, बेहतरीन याद्दाश्त और त्वरित विचारों के जरिए उन्होंने कई कांग्रेस सदस्यों का भी सम्मान हासिल किया. 

11/12

क्रिकेट का था बेहद शौक

Was very fond of cricket

उन्हें क्रिकेट पसंद था. उन्होंने 2014 में इस्तीफा देने से पहले BCCI के उपाध्यक्ष के रूप में भी काम किया है. उन्होंने 2014 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. 

12/12

हमेशा किया जाएगा याद

Always remember

अरुण जेटली भारतीय राजनीति में कई बड़ी जिम्मेदारियां निभाईं. वह एक प्रखर नेता और कुशल रणनीतिकार के रूप में हमेशा याद किए जाएंगे.