close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़: सरकारी स्कूल में बच्चों को यूं पढ़ाया जा रहा बचत का पाठ, आप भी करेंगे तारीफ

जिले के सरकारी प्राइमरी स्कूल में शिक्षिका के प्रयास से चौथी की कक्षा में स्कूल बैंक खोला गया है, जिसका नाम दिया गया है छुट्टा बैंक. सरकारी स्कूल में पढ़ाई के साथ ही बचत का भी पाठ पढ़ाया जा रहा है.

Jul 15, 2019, 16:09 PM IST

अकलतरा ब्लाक के तागा गांव के प्राइमरी स्कूल में स्कूल में बच्चों का बैंक चलता है. सरकारी स्कूल में बच्चे, पढ़ाई के साथ ही बचत का ज्ञान भी सीखते हैं. स्कूल की शिक्षिका मधु कारकेल ने कक्षा चौथी के 23 छात्र-छात्राओं की सहभागिता से छुट्टा बैंक बनाया है.

1/7

पढ़ाया जा रहा बचत का पाठ

Student being taught about savings in primary school of chattisgarh

जांजगीर: छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिलें मे शासकीय प्राथमिक स्कूल तागा की शिक्षिका की अनूठी पहल सामने आई है. शिक्षिका ने अपने प्रयास से स्कूली छात्रों के बीच ऐसी जागरूकता फैलाई है जिसके तहत छात्रों में बहुत कम उम्र मे बचत की आदत बन गई है और इस आदत की वजह से ये छात्र अब स्कूली किताबों और अन्य अध्ययन सामाग्रियों का बोझ अपने अभिभावकों पर नहीं डालते बल्कि खुद के जमा किए गए पैसों से खरीदते हैं. 

 

2/7

चौथी कक्षा में स्कूल बैंक

Student being taught about savings in primery school of chattisgarh

जिले के सरकारी प्राइमरी स्कूल में शिक्षिका के प्रयास से चौथी की कक्षा में स्कूल बैंक खोला गया है, जिसका नाम दिया गया है छुट्टा बैंक. सरकारी स्कूल में पढ़ाई के साथ ही बचत का भी पाठ पढ़ाया जा रहा है, जहां बच्चे भी खूब सहभागिता निभा रहे हैं. अकलतरा ब्लाक के तागा गांव के प्राइमरी स्कूल में स्कूल में बच्चों का बैंक चलता है. सरकारी स्कूल में बच्चे, पढ़ाई के साथ ही बचत का ज्ञान भी सीखते हैं. 

3/7

बच्चे देते हैं हिसाब

Student being taught about savings in primery school of chattisgarh

स्कूल की शिक्षिका मधु कारकेल ने कक्षा चौथी के 23 छात्र-छात्राओं की सहभागिता से छुट्टा बैंक बनाया है, जहां बच्चे खुद के पैसे जमा करते हैं और जरूरत पड़ने पर बच्चे, पैसे निकाल लेते हैं. स्कूल में बनाए गए छुट्टा बैंक में जमा किए गए बच्चों के पैसे को शिक्षिका मधु कारकेल रखती हैं. खास बात यह है कि जब बच्चे जमा पैसे निकालते हैं तो शिक्षिका को बताना पड़ता है, उस पैसे का क्या करेंगे. वैसे बच्चों को स्कूल की पढ़ाई की सामग्री खरीदने के लिए ही रकम दी जाती है.

4/7

शिक्षकों के पास रहता है हिसाब

Student being taught about savings in primery school of chattisgarh

पिछले साल से सरकारी स्कूल में शुरू हुए इस छुट्टा बैंक में कक्षा चौथी के बच्चों को थोड़े-थोड़े पैसे के साथ 1 हजार से ज्यादा रकम जमा कर लिया था. शिक्षिका के पास पूरा हिसाब रहता है. इस साल स्कूल खुलने के बाद बच्चों ने पिछले साल के अपने बचत पैसे से ही स्कूल की सामग्री खरीदी. बच्चों को घर से मदद नहीं लेनी पड़ी. बच्चों ने पिछले साल अपनी पॉकेट मनी से पैसे बचाए थे और स्कूल के छुट्टा बैंक में जमा रखे थे. इस साल फिर से स्कूल में बच्चों ने पैसे जमा करना शुरू कर दिया है. 

5/7

बचत का संदेश

Student being taught about savings in primary school of chattisgarh

बच्चों को स्कूल के छुट्टा बैंक के माध्यम से बचत का संदेश देने जोड़ने की कोशिश की गई है. बच्चों की पूरी सहभागिता से यह पहल रंग लाई है. बच्चों को किताबों के पाठ के साथ ही, बचत का भी पाठ पढ़ाया जा रहा है. बच्चों को शिक्षिका द्वारा बैंकिंग की प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी दी गई. बच्चे भी मानते हैं कि स्कूल में शुरू किया गया बैंक से बचत की आदत बनी है और बचत का महत्व भी समझ आया है. 

6/7

अपने पैसों से खरीदा सामान

Student being taught about savings in primary school of chattisgarh

बच्चों का कहना है कि छुट्टा बैंक में पैसे जमा करने के बाद, पढ़ाई की सामग्री खरीदनी होती है तो वो शिक्षिका से पैसे ले लेते हैं. जिसका पूरा हिसाब शिक्षिका मधु कारकेल रखती हैं. बेहद कम उम्र में बचत का ज्ञान, स्कूल में मिलने से छात्र-छात्रा भी उत्साहित नजर आते हैं.  शिक्षिका समेत प्रधानपाठक अब कक्षा चौथी में चल रहे छुट्टा बैंक को इस साल से सभी कक्षाओं को साथ मिलाकर चलाने की तैयारी शुरू की है.

7/7

पढ़ाई के साथ बचत का ज्ञान

Student being taught about savings in primary school of chattisgarh

सरकारी स्कूल में शुरू हुई इस अलग कोशिश को खासी सराहना मिल रही है. बच्चों में पढ़ाई के साथ बचत का ज्ञान देने के प्रयास से निश्चित ही लोगों को सीख मिलेगी और नई पीढ़ी में अधिक खर्च की जो परिपाटी बढ़ रही है, उस पर इस सरकारी स्कूल के बच्चों का छुट्टा बैंक की कारगर कोशिश जरूर असर डालेगी.